• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • Success Story: कहानी ऑटो ड्राइवर के बेटे की जो 21 साल की उम्र में बना IAS

Success Story: कहानी ऑटो ड्राइवर के बेटे की जो 21 साल की उम्र में बना IAS

अंसार अहमद शेख ने पहले अटेंप्ट में साल 2015 में ऑल इंडिया 361वीं रैंक हासिल की.

अंसार अहमद शेख ने पहले अटेंप्ट में साल 2015 में ऑल इंडिया 361वीं रैंक हासिल की.

एक गरीब मुस्लिम परिवार से आने वाले अंसार की उपलब्धि सराहना के लायक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    IAS Success Story: वर्तमान समय में जहां युवाओं की बड़ी तादाद अपने लक्ष्य तय नहीं कर पा रही, वहीं छात्रों का एक समूह ऐसा भी है जो अपनी इच्छाशक्ति के साथ करियर में सुनहरी ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए सभी रूढ़ियों को तोड़ रहे हैं. सभी सुविधाओं के साथ लक्ष्य को पा लेना आसान है, लेकिन परेशानियों में दिन काटने, सुविधाओं के बगैर हर कामयाब होने वाले की कहानी अपनी आप में एक मिसाल बनती है. इस कहानी में मिलिए अंसार अहमद शेख से. अंसार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को क्रैक करने वाले सबसे कम उम्र के उम्मीदवार हैं.

    अंसार अहमद शेख ने पहले अटेंप्ट में साल 2015 में ऑल इंडिया 361वीं रैंक हासिल की. अंसार के पिता ऑटो चलाते थे. महाराष्ट्र के जालना गांव के निवासी अंसार के भाई पेशे से मैकेनिक हैं. परिवार की कमजोर आर्थिक स्थितियों के बावजूद, अंसार ने शुरू से ही पढ़ाई में उत्कृष्ट प्रदर्शन किया. उन्होंने पुणे के प्रतिष्ठित कॉलेज से पॉलीटिकल साइंस में B.A किया.

    दृढ़ इच्छाशक्ति से प्रेरित होकर, उन्होंने UPSC परीक्षा की तैयारी करते हुए लगातार तीन सालों तक दिन में 12 घंटे काम किया. उन्होंने भारत की सबसे प्रतिष्ठित प्रतिस्पर्धी यूपीएससी परीक्षा क्रैक करने के लिए धार्मिक भेदभाव सहित सभी बाधाओं को खारिज कर मिसाल कायम की.

    एक गरीब रूढ़िवादी मुस्लिम परिवार से आने वाले अंसार की उपलब्धि सराहना के लायक है. अंसार की कामयाबी उन गरीब उम्मीदवारों के लिए प्रेरणा स्रोत बनी जो कट-ऑफ प्रतियोगिता की दुनिया में अपनी पहचान बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं.

    अंसार के मुताबिक, पिछड़े, अविकसित क्षेत्र और अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक ने उनके लिए अंतर्दृष्टि का काम किया, जिससे वे समाज में मौजूद अंतरों का अध्ययन गहराई से कर पाए. इसके अलावा, सामाजिक अस्थिरता के साथ उनकी पहली ही कोशिश ने उन्हें एक प्रशासक के रूप में समस्याओं के ज्वलंत समाधान दिए.

    ये भी पढे़ं-
    IIT का नया प्लान, कमजोर छात्रों को B.Sc. की डिग्री देकर 3 साल में करेंगे बाहर
    चपरासी की नौकरी करने वाला 23 साल से पढ़ा रहा संस्‍कृत, म‍िलेगा अवॉर्ड
    UGC के साथ AICTE की जगह भी लेगा HECI, अगले महीने पेश होगा विधेयक

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज