लाइव टीवी

Success Story: पर्सनैलिटी राउंड में हुआ फेल, नहीं हारी हिम्मत, तीसरी बार में बना IAS

News18Hindi
Updated: October 26, 2019, 6:37 AM IST
Success Story: पर्सनैलिटी राउंड में हुआ फेल, नहीं हारी हिम्मत, तीसरी बार में बना IAS
दिलीप राजस्थान के जोधपुर के एक छोटे से गांव से हैं.

इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद दिलीप प्रताप सिंह ने नौकरी की. लेकिन मन में कहीं न कहीं UPSC सिविल सेवा परीक्षा क्रैक करने का ख्वाब जीवित था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2019, 6:37 AM IST
  • Share this:
Success Story:  हर साल, देश भर में लाखों उम्मीदवार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा देते हैं. उनमें से बहुत कम ऐसे होते हैं जो परीक्षा क्रैक कर IAS अधिकारी बन पाते हैं. इस परीक्षा को क्रैक करने के लिए उत्साह और समर्पण की ज़रूरत होती है. आज आप रूबरू होंगे दिलीप प्रताप सिंह की कहानी से, जिन्होंने 2018 में अपने तीसरे प्रयास में यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को क्रैक कर 72वीं रैंक हासिल की. ये कहानी अपने आप में दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत का उदाहरण है.

दिलीप राजस्थान के जोधपुर के एक छोटे से गांव से हैं. वे हमेशा अपनी पढ़ाई के प्रति लापरवाह रहते थे. बचपन में उन्होंने ज्यादातर समय खेलने या घूमने में बिताया. जिस कारण पढ़ाई का बहुत नुकसान हुआ. लेकिन फिर भी, उन्होंने UPSC सिविल सेवा परीक्षा क्रैक करने का सपना देखा.

इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद उन्होंने नौकरी की. लेकिन मन में कहीं न कहीं UPSC सिविल सेवा परीक्षा क्रैक करने का ख्वाब जीवित था. वे इस खयाल से निकल ही नहीं पाते थे. छुटकारा पाने में लिए परिवार से शेयर किया. परिवार ने इसका पूरा समर्थन किया और सपने को पूरा करने के लिए उन्हें आगे बढ़ने की सलाह दी.

परिवरा का साथ मिलते ही वे बैग पैक करके दिल्ली आए. दिल्ली आने के बाद, उन्होंने महसूस किया ऐसे लाखों लोग हैं, जिनके पास बस यही सपना है. तब उन्हें अहसास हुआ सपने को हकीकत में बदलना बहुत मुश्किल होगा. उन्होंने अपनी तैयारी शुरू की. पहले प्रयास में प्रारंभिक परीक्षा पास करने में असमर्थ रहे. जिससे दिल थोड़ा टूटा. लेकिन हिम्मत बनाए रखी.

अगले साल उन्होंने फिर से परीक्षा दी. दूसरी बार में उन्होंने प्रीलिम्स और मुख्य परीक्षा पास की, लेकिन साक्षात्कार में क्रैक नहीं कर पाए. इस बार उन्होंने हार मान ली थी लेकिन उनकी मां ने उन्हें तीसरे प्रयास के लिए तैयारी करने की सलाह दी. मां के आत्मविश्वास से उन्होंने फिर प्रेरित महसूस किया और दिलीप ने इसे क्लीयर करने के लिए आखिरी कोशिश की.

उन्होंने तैयारी की रणनीति बदली और अब तक की किसी भी गलती को नहीं दोहराने पर ध्यान दिया. पूरे मन और आत्मा के समर्पण और ईमानदारी से परीक्षा दी और इसे क्रैक कर AIR 72वीं रैंक हासिल की.

ये भी पढ़ें : IAS Success Story: जानिए उस लड़की की कहानी, जिसने जॉब के साथ क्रैक किया UPSC
Loading...

UPSC IAS Prelims 2020 की तैयारी के लिए पढ़ें ये किताबें
Rail Wheel Factory में 192 वैकेंसी, 10वीं पास 15 नवंबर तक करें आवेदन
8 दिसंबर 2019 को है CTET एग्जाम, तैयारी के लिए पढ़ें ये बेस्ट किताबें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 6:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...