• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • Success Story: पेट्रोल पंप वर्कर पिता ने घर, मां ने गहने बेचकर पढ़ाया, बेटा पहले अटेंप्ट में बना IAS

Success Story: पेट्रोल पंप वर्कर पिता ने घर, मां ने गहने बेचकर पढ़ाया, बेटा पहले अटेंप्ट में बना IAS

प्रदीप सिंह ने 2018 में ऑल इंडिया 93वीं रैंक हासिल की.

प्रदीप सिंह ने 2018 में ऑल इंडिया 93वीं रैंक हासिल की.

IAS Success Story: प्रदीप के पिता ने बेटे को तैयारी करने के लिए दिल्ली भेजने के लिए मकान बेच दिया था. तब से परिवार किराए के मकान में रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    IAS Success Story: इंदौर के प्रदीप सिंह ने साल 2018 में UPSC के सिविल सर्विस एग्जाम में ऑल इंडिया 93वीं रैंक हासिल की. प्रदीप ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है. प्रदीप का कहना है कि उनके माता-पिता ने उनकी सफलता के लिए बहुत संघर्ष किया है. अब उनके संघर्ष को खत्म करने का समय है. मध्य प्रदेश के रहने वाले प्रदीप मूल रूप से बिहार के निवासी हैं और दिल्ली में रहकर पढ़ाई की. प्रदीप के पिता भी मूल रूप से बिहार से ही हैं.

    बचपन का सपना हुआ पूरा
    प्रदीप ने बचपन से ही सोच रखा था कि बड़े होकर उन्हें कलेक्टर बनना है. वे कलेक्टर बनकर महिला सशक्तिकरण, महिला सुरक्षा और देश के लिए काम करना चाहते हैं. प्रदीप ने कहा UPSC की परीक्षा पास करने के लिए सिर्फ मन में दृढ़ निश्चय हो, उसके बाद सब मुमकिन है.

    ऑल इंडिया 93वीं रैंक
    UPSC में 93वीं रैंक पाने वाले प्रदीप ने दिल्ली में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी की. गरीबी में उनके माता-पिता ने बच्चों को पढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी. प्रदीप के माता-पिता ने अपनी जरूरतों को किनारे कर अपने बच्चों को पढ़ाया. प्रदीप के पिता 1992 में मध्य प्रदेश आए और यहां उन्होंने पेट्रोल पंप पर नौकरी की.

    बेटे के लिए पिता ने बेच दिया मकान
    प्रदीप के पिता ने बेटे को तैयारी करने के लिए दिल्ली भेजने के लिए मकान बेच दिया. तब से परिवार किराए के मकान में रहा. मां ने पढ़ाई जारी रखने के लिए अपने गहने बेचे और गिरवी रखे. दिल्ली जाते वक्त प्रदीप ने मां को भरोसा दिलाया था कि उसका चयन जरूर होगा और हुआ भी. इंदौर डीएवीवी से पढ़ाई करने के बाद प्रदीप दिल्ली गया. वहीं पर अपनी पढ़ाई जारी रखी. (न्यूज़18 से बातचीत के आधार पर)

    अन्य आईएएस सक्सेस स्टोरी पढ़ने के लिए नीचे लिखे Success Story पर क्लिक करें.

    ये भी पढ़ें-
    Success Story: कहानी ऑटो ड्राइवर के बेटे की जो 21 साल की उम्र में बना IAS
    MPSOS ने जारी की दिसंबर 2019 के लिए 10th, 12th की डेटशीट, देखें
    SBI ने स्‍पेशलिस्‍ट कैडर ऑफिसर की 477 वैकेंसी के लिए बढ़ाई आखिरी तारीख

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज