होम /न्यूज /करियर /Success Story: टेंपो चलाया, भिखारियों के साथ सोए, गर्लफ्रेंड की शर्त पर ऐसे IPS बने मनोज कुमार शर्मा

Success Story: टेंपो चलाया, भिखारियों के साथ सोए, गर्लफ्रेंड की शर्त पर ऐसे IPS बने मनोज कुमार शर्मा

IPS Manoj Kumar Sharma Success Story: मनोज कुमार शर्मा 12वीं बोर्ड परीक्षा में फेल हो गए थे

IPS Manoj Kumar Sharma Success Story: मनोज कुमार शर्मा 12वीं बोर्ड परीक्षा में फेल हो गए थे

Success Story, IPS Manoj Kumar Sharma: जो लोग छोटी-छोटी असफलताओं से घबरा जाते हैं, उनके लिए आईपीएस मनोज कुमार शर्मा की ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्ली (Success Story, IPS Manoj Kumar Sharma). आईपीएस मनोज कुमार शर्मा मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के रहने वाले हैं. बचपन से ही वह पढ़ाई-लिखाई में होशियार नहीं थे. उनका पालन-पोषण भी आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार में हुआ है. देश की सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षा, यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) पास करके उन्होंने अपने परिजनों का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया.

लाखों लोग सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) का सपना देखते हैं. लेकिन सभी उसमें सफल नहीं हो पाते हैं. आईपीएस मनोज कुमार शर्मा ज़िंदगी की हर मुश्किल का सामना करते हुए सफलता के ऊंचे पायदान पर पहुंचे हैं. उनकी सक्सेस स्टोरी किसी को भी प्रेरित करने के लिए काफी है. उनकी लाइफ स्टोरी किसी फिल्मी कहानी से कम भी नहीं है (IPS Manoj Kumar Sharma Biography).

12वीं में फेल हो गए थे मनोज
आईपीएस मनोज कुमार शर्मा एवरेज स्टूडेंट रहे हैं. वह 12वीं में हिंदी के अलावा अन्य सभी विषयों में फेल हो गए थे. 9वीं और 10वीं में भी उन्हें थर्ड डिवीजन हासिल हुई थी. बचपन से मिली इन असफलताओं के बावजूद मनोज ने कभी हार नहीं मानी. लेखक अनुराग पाठक ने अपनी किताब ‘ट्वेल्थ फेल’ (Twelfth Fail) में मनोज कुमार पाठक की जीवनी लिखी है (IPS Manoj Kumar Sharma Book).

गर्लफ्रेंड से किया वादा
12वीं में पढ़ाई के दौरान मनोज को प्यार हो गया था. 12वीं फेल होने की वजह से उन्हें प्यार का इजहार करने में शर्म आ रही थी. आखिर में उन्होंने यह कहते हुए प्रपोज किया कि तुम हां कह दो तो मैं पूरी दुनिया पलट दूंगा (IPS Manoj Kumar Sharma Wife). UPSC की तैयारी के दौरान उन्हें उनकी पत्नी श्रद्धा ने खूब सहयोग किया, जो पहले उनकी प्रेमिका थीं (IRS Shraddha Joshi Sharma).

भिखारियों के साथ तक सोए
IPS मनोज कुमार शर्मा कितने अभावों में पले-बढ़े हैं, इसका अंदाज़ा ऐसे लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए टेंपो तक चलाया है. कई बार वह रात में भिखारियों के बीच सड़क पर सोए हैं. दिल्ली में लाइब्रेरी में नौकरी के दौरान उन्होंने गोर्की और अब्राहम लिंकन से लेकर मुक्तबोध जैसे कई नामी लोगों के बारे में पढ़ा. इन किताबों के जरिए उन्होंने जिंदगी के असल पहलुओं को समझा.

चौथे प्रयास में हुए सफल
मनोज कुमार शर्मा यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam) के 3 अटेंप्ट में असफल हो गए थे. फिर चौथे प्रयास में 121वीं रैंक हासिल कर वह आईपीएस ऑफिसर (IPS Officer) बन गए थे. फिलहाल मनोज शर्मा मुंबई पुलिस में एडिशनल कमिश्नर के पद पर तैनात हैं. उनकी ज़िंदगी के संघर्ष किसी को भी असफलताओं से सीखते हुए आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें:
एयरोस्पेस इंजीनियर थे IFS परवीन कासवान, कॉलेज में अंग्रेजी गानों से हुए परेशान
6वीं क्लास में हो गई थीं फेल, जानिए कैसे IAS बनीं रुक्मिणी रियार

Tags: IPS Officer, Success Story, Upsc exam, सरकारी नौकरी

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें