होम /न्यूज /करियर /

Success Story: मां-बेटे की साथ में लगी सरकारी नौकरी, हर तरफ चर्चा में है इनकी सक्सेस स्टोरी

Success Story: मां-बेटे की साथ में लगी सरकारी नौकरी, हर तरफ चर्चा में है इनकी सक्सेस स्टोरी

Success Story: मां-बेटे ने एक ही कोचिंग से तैयारी की थी

Success Story: मां-बेटे ने एक ही कोचिंग से तैयारी की थी

Success Story, Kerala PSC News, Sarkari Naukri: आमतौर पर हर किसी को सरकारी नौकरी का काफी चाव होता है. इसके लिए लोग कई सालों तक मेहनत भी करते हैं. हाल ही में केरल लोक सेवा आयोग परीक्षा का परिणाम (Kerala PSC Result) घोषित किया गया है. इसमें मां-बेटे (Bindu and Vivek Success Story) की एक जोड़ी ने सफलता का परचम लहराया है, जो हर तरफ चर्चा में है. इनकी सक्सेस स्टोरी इस बात की मिसाल है कि सफलता पर उम्र की कोई बंदिश नहीं होती है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली (Success Story, Kerala PSC News, Sarkari Naukri). मन में कुछ करने का जज्बा हो तो उम्र भी मायने नहीं रखती है. केरल लोक सेवा आयोग परीक्षा परिणाम (Kerala PSC Result) के बाद से मां-बेटे की एक जोड़ी सुर्खियों में है. दरअसल, सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) की चाहत रखने वाली इस जोड़ी ने साथ में केरल लोक सेवा आयोग परीक्षा में सफलता हासिल की है.

केरल के मल्लपुरम में रहने वाली 42 साल की बिंदु और उनके 24 साल के बेटे विवेक ने केरल लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित हुई परीक्षा (Kerala PSC News) में सफलता का परचम लहराया है. मां-बेटे की इस खास जोड़ी को सरकारी नौकरी करने का मौका साथ में हासिल हुआ है. इनकी सक्सेस स्टोरी हर किसी को मोटिवेट करने के लिए काफी है (Bindu and Vivek Success Story).

साथ में की सरकारी नौकरी की तैयारी
बिंदु और विवेक ने इस सरकारी नौकरी की तैयारी साथ में शुरू की थी. बिंदु ने ‘लास्ट ग्रेड सर्वेंट’ (LDS) परीक्षा पास की है. इसमें उनकी 92वीं रैंक आई है. वहीं, उनके बेटे विवेक ने अवर श्रेणी लिपिक (LDC) की परीक्षा पास की है, जिसमें उनकी 38वीं रैंक आई है. उन दोनों ने एक ही कोचिंग से पढ़ाई की है. वे पढ़ाई बेशक साथ में कर रहे थे लेकिन उन्हें अंदाजा नहीं था कि परीक्षा भी साथ में पास कर लेंगे.

10वीं से कर रहे थे मेहनत
विवेक जब 10वीं कक्षा में थे, बिंदु ने तब से ही सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) के लिए उनकी तैयारी शुरू करवा दी थी. इस दौरान बिंदु भी बेटे के साथ किताबें पढ़ने लगी थीं. बिंदु पिछले 10 सालों से आंगनबाड़ी शिक्षिका हैं. उनका कहना है कि इस परीक्षा में सफल होने के लिए उन्हें उनके पति, शिक्षकों, दोस्तों व बेटे से समर्थन हासिल हुआ था.

ये भी पढ़ें:
डॉक्टरी छोड़ बनीं IPS अधिकारी, जानें बेहद चर्चित डॉ. नवजोत सिमी की कहानी
किसान की बेटी हैं IAS तपस्या परिहार, बिना कोचिंग के ऐसे पास की परीक्षा

Tags: Kerala News, Success Story, सरकारी नौकरी

अगली ख़बर