Success Story: ड्राइवर के बेटे ने क्रैक किया सिविल जज का एग्‍जाम, अपनाई ये स्‍ट्रैटजी

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 6:26 PM IST
Success Story: ड्राइवर के बेटे ने क्रैक किया सिविल जज का एग्‍जाम, अपनाई ये स्‍ट्रैटजी
चौथे अटेम्‍प में पास किया सिविल जज का एग्‍जाम

Success Story: सिविल जज (civil judge recruitment test) परीक्षा क्रैक करने वाले चेतन बजाड़ ने कहा कि यह परीक्षा क्‍लीयर कर उन्‍होंने अपने पिता के सपनों को पूरा किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 6:26 PM IST
  • Share this:
Success Story: कहते हैं जज्‍़बा हो तो कोई भी काम मुश्‍क‍िल नहीं. इंदौर के 26 साल के एक व्‍यक्‍त‍ि ने यह साबित कर दिखाया है. मध्‍यप्रदेश के रहने वाले चेतन बजाड़ ने सिविल जज क्‍लास-II रिक्रूटमेंट टेस्‍ट(civil judge class-II recruitment test) चौथे प्रयास में क्‍लीयर किया है. परीक्षा का परिणाम आने के बाद चेतन बजाड़ ने खुश होकर कहा कि इस टेस्‍ट को क्‍लीयर करके, उन्‍होंने अपने पिता के सपने को पूरा किया है. बुधवार को मध्‍यप्रदेश हाई कोर्ट के जबलपुर एग्‍जामिनेशन सेंटर ने प्रोवीजनल सेलेक्‍शन लिस्‍ट जारी की है. लिखित परीक्षा और साक्षात्कार में कुल 450 अंकों में से 257.5 स्कोर करके बजाड़ ने सिविल जज वर्ग- II भर्ती परीक्षा में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) श्रेणी में 13वीं रैंक प्राप्त की है.

यह भी पढ़ें: ALERT: IAS/IPS के एग्जाम पैटर्न में बदलाव का प्रस्ताव, खत्म होंगे ये स्टेप्स

चेतन बजाड़ ने कहा कि मेरे पिता गोवर्धनलाल बजाड़ एक ड्राइवर हैं. वह इंदौर के ही जिला कोर्ट में ड्राइवर के तौर पर काम करते हैं. इसी कोर्ट ने चेतन बजाड़ के दादा जी हरिराम बजाड़ भी काम करते थे. वह इस कोर्ट में वॉचमैन की नौकरी करते थे.

एक बेहद सामान्‍य परिवार से आने वाले किसी भी व्‍यक्‍त‍ि के सामने दो विकल्‍प होते हैं. पहला तो यह कि वह जैसे-तैसे कुछ पढ़ाई कर एक ऐसी नौकरी पकड़ ले, जिससे उसके घर का खर्च चल सके. दूसरा विकल्‍प यह है कि चाहे जैसे भी हो वह अपनी पढ़ाई पूरी करे और फिर कुछ बड़ा करने की सोचे.

चेतन बजाड़ तीन भाई हैं और उनके पिता चाहते थे कि तीनों भाइयों में से किसी एक को जज बनते हुए देखें. आखिरकार मैंने उनके सपने को पूरा कर दिया है. चेतन के अनुसार, उनके पिता गोवर्धनलाल बजाड़ ही उनके रोल मॉडल हैं और आगे बढ़ने की प्रेरणा उन्‍हें ही देखकर मिली है.

यह भी पढ़ें: बिहार से ज्‍यादा दिल्‍ली से बनते हैं IAS अधिकारी, ये हैं 2 बड़ी वजहें

चेतन ने लॉ में ही ग्रेजुएशन किया है. उन्‍होंने सिविल जज क्‍लास-II रिक्रूटमेंट परीक्षा चौथी बार में क्‍लीयर की है. चेतन ने कहा कि पहली बार परीक्षा में असफल होने के बाद मैं थोड़ा सा निराश हो गया था. लेकिन, मेरे पिता ने मुझे प्रोत्‍साहित किया. उनके प्रोत्‍साहन का ही नतीजा है कि मैं बार-बार कोशिश करता रहा और आखिरकार चौथी बार में मुझे सफलता मिल ही गई.
Loading...

आगे की योजना
चेतन कहते हैं कि जज की कुर्सी पर बैठने के बाद, लोगों को जल्‍दी न्‍याय देना मेरी प्राथमिकता होगी. इसी बीच बजाड़ की सफलता की कहानी पूरे सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है.

यह भी पढ़ें:

SUCCESS STORY: चित्तौड़ की लेडी सिंघम MBA के बाद बनी इंस्पेक्टर, कायम कर रही है मिसाल
IAS Preparation Tips: UPSC MAINS एग्‍जाम के लिए ये हो रणनीति, तभी करेंगे क्‍वालिफाई
क्‍या आप भी बनना चाहते हैं IAS अध‍िकारी तो जानें क्‍या है पहली जरूरत
IAS Exam की तैयारी शुरू करने से पहले, खुद से पूछे ये जरूरी सवाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 5:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...