Success Story: मिलें उन दो जांबाज महिला IAS और IPS ऑफिसर से, जिन्‍हें मिली है कश्‍मीर में पोस्‍ट‍िंग

Success Story: डॉक्‍टर और इंजीनियर की नौकरी छोड़कर IAS और IPS बनीं, अब सरकार ने इन दो जाबाज महिला अधिकारियों की पोस्‍ट‍िंग कश्‍मीर में की है.

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 11:26 AM IST
Success Story: मिलें उन दो जांबाज महिला IAS और IPS ऑफिसर से, जिन्‍हें मिली है कश्‍मीर में पोस्‍ट‍िंग
IAS ऑफिसर सैयद सेहरिश असगर और IPS अधिकारी पीके नित्‍या
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 11:26 AM IST
Success Story: जम्मू और कश्मीर के पुनर्गठन के बाद, अब राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया गया है. एक जम्मू-कश्मीर और दूसरा लद्दाख. हालांकि दोनों केंद्र शासित प्रदेशों में शांति व्‍यवस्‍था बनी हुई है, पर कश्मीर के कुछ हिस्‍सों में अब भी छोटे-छोटे मामले आ रहे हैं. राज्‍य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के दौरान क्षेत्र में कई अधिकारियों की पोस्‍ट‍िंग की गई. इसमें दो महिला अधिकारी डॉ. सैयद सेहरिश असगर और पीके नित्‍या भी शामिल हैं. दरअसल, इस पोस्‍ट‍िंग से कुछ दिनों पहले, दोनों को श्रीनगर के हालात काबू करने और आम लोगों की मदद के लिये भेजा गया था.

यह भी पढ़ें: Success Tips: क्‍या आप भी बनना चाहते हैं IAS अध‍िकारी तो जानें क्‍या है पहली जरूरत

केंद्र शासित राज्‍य बनाने से पहले IAS अधिकारी डॉ. सैयद सेहरिश असगर को सिर्फ चार दिनों के लिये श्रीनगर में डायरेक्‍टर ऑफ इंफॉर्मेशन के रूप में तैनात किया गया था. असगर, कश्‍मीर के लोगों को उनके अपनों से मिलाने में और डॉक्‍टर सुविधा पहुंचाने में मदद कर रही थीं.

एक साल के बेटे की मां अगसर, दरअसल जम्‍मू में ही डॉक्‍टर थीं और डॉक्‍टर की प्रैक्‍ट‍िस छोड़कर उन्‍होंने UPSC परीक्षा दी. साल 2013 में वह आईएएस अधिकारी बन गईं. एबीपी से बात करते हुए उन्‍होंने बताया कि उनके पति भी पुलवामा जिले में ही कमिश्‍नर के पद पर हैं.

यह भी पढ़ें: IAS Interview में दहेज पर पूछा ये सवाल, दिया ऐसा ट्रिकी जवाब

अगसर कहती हैं कि वह हमेशा से IAS अधिकारी बनना चाहती थी और महिलाओं के लिये रोल मॉडल के रूप में खुद को स्‍थापित करना चाहती थीं. अगसर का मानना है कि जो हालात हैं, उसके कारण बहुत सी महिलाएं इस दिशा में सोच ही नहीं पाती. मुझे, जो भी पद या जिम्‍मेदारी मिली, मैंने हमेशा यह कोशिश की कि लड़कियों पर इसका असर हो. उन्‍हें भी यह लगे कि वह भी आगे बढ़ सकती हैं और समाज के लिये कुछ अच्‍छा व सकारात्‍मक कर सकती हैं.

श्रीनगर में पोस्‍ट‍िंग पाने वाली दूसरी महिला अधिकारी हैं IPS पीके नित्‍या. पीके नित्‍या को राम मुशी बाग और हर्वन डागची गांव के बीच 40 किलोमीटर के क्षेत्र पर नजर रखने की जिम्‍मेदारी दी गई थी. इस 40 किलोमीटर में डल झील का क्षेत्र, गर्वनर का घर और तमाम VIPs का आना-जाना होता है. नित्‍या छत्‍तीसगढ़ की रहने वाली हैं और ट्रेंड केमिकल इंजीयर हैं. बीटेक डिग्री लेने वाली पीके नित्‍या एक सीमेंट कंपनी में मैनेजर पद पर भी काम कर चुकी हैं. कश्मीर में असगर और नित्या के अलावा, अन्य सभी महिला नौकरशाह या तो जम्मू क्षेत्र या लद्दाख में तैनात हैं.
Loading...

यह भी पढ़ें:

Success Tips: इस IAS टॉपर ने इन किताबों को पढ़कर क्लियर किया एग्जाम

IAS Success Story: विकलांगता भी रोक न सकी, सौम्या ने पहली बार में हासिल की 9वीं रैंक

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 11:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...