UP Board Result: जानिए किसान की टॉपर बेटी अंजली के कामयाबी का सफर

UP Board Result: जानिए किसान की टॉपर बेटी अंजली के कामयाबी का सफर
टॉपर अंजली वर्मा

अंजली फिलहाल इंजीनियरिंग की तैयारी कर रही है. उसका कहना है कि मां-बाप से दूर रहकर इलाहाबाद रहना बेहद मुश्किल काम है. अक्सर वह अकेले में देर तक रोती है पर मां बाप के संघर्षों को याद कर खुद को तसल्ली देते हुए साइंटिस्ट बनने में जुटी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2019, 12:33 PM IST
  • Share this:
उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड 27 अप्रैल यानी शनिवार को साढ़े 12 बजे दसवीं और बारहवीं के नतीजे घोष‍ित करेगा. इसी कड़ी में 2018 यूपी बोर्ड की 10वीं की टॉपर इलाहाबाद की अंजली वर्मा की जिंदगी का सफर काफी संघर्षों के बीच गुजरा. मूल रूप से अंबेडकरनगर जिले की रहने वाली अंजली के पिता आसाराम किसान हैं. खेती के लिए उनके पास सिर्फ उतनी जमीन है जिसमें दो वक्त की रोटी भी बमुश्किल से हो पाती है.

कामयाबी का मुकाम हासिल करने वाली अंजली यहां सलोरी इलाके में परिवार के सात दूसरे बच्चों के साथ दो कमरे के किराए के छोटे से मकान में रहती थी. एक ही कमरे में परिवार के आठों बच्चे अकेले ही पढ़ाई करते हैं. परिवार की माली हालत ठीक नहीं होने से अंजली के पास कोचिंग करने के लिए पैसे नहीं थे.अंजली ने बताया कि उसे यूपी टॉप करने का भरोसा तो नहीं था, लेकिन रिजल्ट बहुत बेहतर आने की पूरी उम्मीद थी. अंजली की खुशी आज इसलिए भी दोगुनी हो गई क्योंकि सुबह ही उनकी मां चक्रवती देवी भी गांव उसके पास इलाहाबाद आ गई हैं.

अंजली फिलहाल इंजीनियरिंग की तैयारी कर रही है. उसका कहना है कि मां-बाप से दूर रहकर इलाहाबाद रहना बेहद मुश्किल काम है. अक्सर वह अकेले में देर तक रोती है पर मां बाप के संघर्षों को याद कर खुद को तसल्ली देते हुए साइंटिस्ट बनने में जुटी है. आपको बता दें कि हाईस्कूल में इलाहाबाद की अंजली वर्मा को 600 में से 578 अंक हासिल कर 96.33 प्रतिशत के साथ यूपी में टॉप किया था.



गौरतलब है कि उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड ने Class 10 का एग्जाम 7 फरवरी से 28 फरवरी के बीच आयोजित कराया था, जबकि Class 12 का एग्जाम 7 फरवरी से 2 मार्च, 2019 के बीच कंडक्ट कराया गया था. साथ ही रिपोर्ट्स में ये भी कहा गया है कि इस साल का रिजल्ट पिछले साल से भी बेहतर होगा और इसके लिए बेहतर रिजल्ट के लिए बोर्ड द्वारा कई कदम भी उठाए गए हैं.



ये भी पढ़ें:

UP Board Result 2019: रिजल्ट से पहले क्या है छात्रों को Experts की राय

UP Board Result 2019: पिछले साल के टॉपर्स ने साझा किए Success मंत्र

UP Board Result 2019: देश के सबसे बड़े हिन्‍दीभाषी प्रदेश में 11 लाख से ज्यादा छात्र हुए थे हिन्‍दी में फेल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading