Success Story: गांव के सरकारी स्कूल से पढ़ी, पहली बार में एग्जाम क्लीयर कर बनी जज

सौम्या ने 12वीं गांव के ही सरकारी स्कूल से पास करने के बाद, एलएलबी के लिए बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया.

News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 5:32 PM IST
Success Story: गांव के सरकारी स्कूल से पढ़ी, पहली बार में एग्जाम क्लीयर कर बनी जज
सौम्या द्व‍िवेदी उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले से हैं
News18Hindi
Updated: July 26, 2019, 5:32 PM IST
Success Story:  मेहनत से सब मुमकिन है. ये सिर्फ एक वाक्य नहीं है. इस छोटी सी बात में संसार का विश्वास छिपा है. यही विश्वास उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के धनौटी गांव के दिनेश द्विवेदी को अपनी बेटी सौम्या द्व‍िवेदी पर था. सौम्या, पिता के विश्वास पर खरी उतरी और उनके ख्वाब को पूरा कर दिखाया.

सौम्या ने धनौटी के ही स्कूल कस्तूरबा गवर्नमेंट गर्ल्स इंटर कॉलेज से बारहवीं तक की पढ़ाई की. सौम्या के सिर से मां आराधना द्विवेदी का साया दस साल पहले ही उठ चुका था. बड़ी बहन की शादी हो चुकी है. सौम्या की परवरिश पिता ने की. उनका सपना था, बेटी ज्यूडिशियल फील्ड में जाए. लेकिन सौम्या खुद अपने पिता की तरह शिक्षक बनना चाहती थीं. पर उन्होंने अपनी इच्छा से बड़ा पिता के सपनों को माना और उसी दिशा में कदम बढ़ाए.

बीएचयू से किया एलएलबी
सौम्या ने 12वीं गांव के ही सरकारी स्कूल से पास करने के बाद, एलएलबी के लिए बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) में दाखिला लिया. अब वह बीएचयू से ही एलएलएम कर रही हैं. पढ़ाई के साथ ही उन्होंने तैयारी कर यूपी पीसीएस जे एग्जाम दिया. जिसमें उन्होंने 151वीं रैंक हासिल की. इस एग्जाम में लड़कियां और लड़कों का अनुपात करीब बराबर रहा. सौम्या ने बराबर अनुपात पर कहा कि इसी तरह पूरे सिस्टम में सुधार आना चाहिए.

पापा का सपना किया पूरा
सौम्या ने कहा कि पापा ने मेरे लिए जो सपना देखा, आज मैं उसे पूरा कर जज बनी. तैयारी के दौरान उन्होंने कभी भी अपनी पढ़ाई में ब्रेक नहीं आने दिया. वह रोज़ाना एक ही समय पर पढ़तीं. साथ ही सोशल मीडिया से दूरी भी बनाई.

पापा की ख्वाहिश पूरी करने के बाद भी सौम्या की कोशिश है कि वह एकेडमिक्स में जाएं. वह आईपीआर या आर्बीटेशन लॉ में करियर बनाना चाहती हैं. बतौर जज उन्हें लगता है देश की न्यायिक प्रक्रिया में कोई बुराई नहीं है. कानून का सही इंप्लीमेंटेशन जरूरी है. जज के तौर पर उनकी कोशिश रहेगी कि वह हमेशा कानून का सही इंप्लीमेंटेशन करें.
Loading...

ये भी पढ़ें- WBJEE JENPAUH Result 2019: wbjeeb.nic.in पर परिणाम जारी, चेक करें ड‍िटेल


IAS Interview में दहेज पर पूछा ये सवाल, दिया ऐसा ट्रिकी जवाब


IPS success story: 35 सरकारी नौकरियों के एग्जाम में हुआ था फेल, अब 104वीं रैंक के साथ क्लियर किया UPSC एग्जाम
First published: July 26, 2019, 5:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...