UPSC: तीन बार परीक्षा में फेल हुए इस शख्‍स ने नहीं मानी हार, यहां हुआ सेलेक्‍शन

News18Hindi
Updated: May 22, 2019, 12:50 PM IST
UPSC: तीन बार परीक्षा में फेल हुए इस शख्‍स ने नहीं मानी हार, यहां हुआ सेलेक्‍शन
अकंद सित्रा (image: facebook)

UPSC: जून में संघ लोक सेवा आयोग, स‍िविल सेवा परीक्षा आयोज‍ित करने जा रहा है. परीक्षा में शामिल होने जा रहे परीक्षार्थी को

  • Share this:
UPSC: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) 2 जून 2019 को सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा देशभर में आयोजित करने जा रहा है. इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए देश के लाखों युवा अपनी ज़िंदगी के कई साल तैयारी करने में बिताते हैं. इस बार भी एग्जाम देने जा रहे ऐसे लाखों होंगे. लेकिन सभी को एग्जाम देने से पहले एक बात ज़रूर याद रखनी चाहिए कि ''एक एग्जाम सिर्फ योग्य बनने के लिए क्लियर करना होता है, वह आपको आंकने की मेरिट नहीं. ख्वाबों को मापने का पैमाना तो कतई नहीं.'' पढ़िए एक ऐसे ही युवा की कहानी, जिसने इसी बात पर चलकर अपने आप को बगैर CSE क्लियर किए, कामयाबी हासिल की.

यह भी पढ़ें: सिविल सेवा परीक्षा देने जा रहे उम्‍मीदवारों के लिए UPSC ने जारी किया जरूरी निर्देश, पढ़ें Updates

अकंद सित्रा (Akand Sitra) इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास (IITM) के छात्र (alumnus) रहे हैं. उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा में मामूली अंक के अंतर सफलता न मिलने के बावजूद करियर सरकारी सेवा में बनाया. अकंद ने साल 2013, 14, और 2015 में सिविल सर्विस एग्जाम दिया, लेकिन कुछ ही नंबरों के अंतर से वे विफल रहे और उनका सेलेक्शन नहीं हुआ. पर 2016 में उन्होंने गृह मंत्रालय में नौकरी पाई.

अकंद के सफर की शुरुआत

IITM से BTech in Biotechnology में ग्रेजुएशन करने के बाद अकंद ने 2013 में बैंग्लोर की एक नामी सॉफ्टवेयर कंपनी में नौकरी पाई. उनके लिए ये नौकरी वह उपलब्धि नहीं थी, जो उनका लक्ष्य था. वह पॉलीसी-मेकिंग में काम कर लोगों की मदद करना चाहते थे. इसी साल अकंद ने पहली बार कुछ महीने की तैयारी के बाद Prelims एग्जाम क्लियर कर लिया था. इसके बाद उन्होंने नौकरी छोड़कर तैयारी की और Main एग्जाम भी क्लियर कर लिया.

नौकरी छोड़, तैयारी की
इसी दौरान वे Quora पर भी लिखने लगे और आज सवाल-जवाब वेबसाइट QUORA पर वे सीएसई उम्मीदवारों का मार्गदर्शन कर रहे हैं. लेकिन अप्रैल 2014 में CSE इंटरव्यू के रिजल्ट में अकंद 10-15 नंबरों से पास होने से रह गए. आनंद ने नौकरी छोड़कर टेस्ट की तैयारी की थी. टेस्ट क्लियर न होने से वे भीतर से टूटे तो ज़रूर पर हिम्मत नहीं हारे.
Loading...



अकंद ने सिविल सर्विस के अलावा बाकी कॉम्पटेटिव एग्जाम्स की तैयारी शुरू की. इस दौरान उन्होंने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और Intelligence Bureau of India जॉइन करने के लिए एग्जाम दिया.

इंटरव्यू में एक बार फिर फेल
अकंद ने RBI एग्जाम के साथ-साथ UPSC Prelims और Mains क्लियर कर लिया. लेकिन यूपीएससी इंटरव्यू में एक बार फिर फेल हो गए. ज़िंदगी ने उनके लिए कुछ और ही तय किया था. इसी के साथ उन्होंने Intelligence Bureau (IB) का एग्जाम क्लियर कर Assistant Central Intelligence Officer (ACIO) की पोस्ट पाई.



सरकारी सर्विस में जाने का ज़रिया सिर्फ UPSC नहीं
मई 2016 में अकंद ने इंटेलीजेंस ब्यूरो जॉइन किया. पहले पोस्टिंग दिल्ली फिर बिहार के Bairgania में इंडो-नेपाल बॉर्ड के एक छोटे से गांव में 2017 में हुई. सिविल सर्विस एग्जाम पास करने का सक्सेस रेट 0.2% है. 1000 में 2 लोग इस एग्जाम को क्लियर कर पाते हैं. अकंद मानते हैं कि अगर आप देश के लिए सरकारी सर्विस में जाना चाहते हैं तो इसका ज़रिया सिर्फ UPSC कतई नहीं है.

इंटेलीजेंस ब्यूरो के साथ तीन साल नौकरी करने के बाद अकंद ने इस्तिफा दे दिया. इसके बाद उन्होंने Indian School of Business (ISB), Hyderabad MBA करने के लिए अप्रैल 2019 में जॉइन किया. (स्रोत: द बेटर इंडिया)

अकंद की फेसबुक प्रोफाइल के मुताबिक, फिलहाल वे Global Governance Initiative में बतौर
Strategy Associate काम कर रहे हैं. वह core टीम का हिस्सा हैं.

ये भी पढ़ें-
गुजरात बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, यहां करें चेक
गोवा बोर्ड 10वीं का रिजल्ट gbshse.org पर जारी, ऐसे करें चेक
SBI PO admit card 2019 जारी, ऐसे करें डाउनलोड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2019, 3:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...