अपना शहर चुनें

States

'महावीर अवॉर्ड' से नवाजे जाएंगे सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार

गुवाहाटी हाईकोर्ट ने सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार को आईआईटी गुवाहाटी के चार छात्रों द्वारा दायर जनहित याचिका के संबंध में 26 नवंबर को कोर्ट के समाने पेश होने का निर्देश.
गुवाहाटी हाईकोर्ट ने सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार को आईआईटी गुवाहाटी के चार छात्रों द्वारा दायर जनहित याचिका के संबंध में 26 नवंबर को कोर्ट के समाने पेश होने का निर्देश.

'सुपर 30' कोचिंग संस्थान हर साल गरीब परिवारों के 30 प्रतिभावान बच्चों का चयन कर बिना शुल्क के आईआईटी की तैयारी करवाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2019, 5:24 PM IST
  • Share this:
आईआईटी की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने वाले चर्चित संस्थान 'सुपर 30' के संस्थापक आनंद कुमार को शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए प्रतिष्ठित महावीर अवार्ड-2019 दिया जाएगा. ये अवॉर्ड भगवान महावीर फाउंडेशन द्वारा दिया जाता है. आनंद फिलहाल उनकी बायोपिक आने के बाद से चर्चा में बने हुए हैं. सुपर 30 में ऋतिक रोशन ने आनंद का रोल निभाया, फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट रही. महावीर अवॉर्ड दिए जाने पर आनंद ने न्यूज एजेंसी से कहा, यह मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है. इस तरह के पुरस्कारों से नवाजे जाने से समाज के वंचित वर्ग के छात्रों के लिए काम करना जारी रखने की मेरी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है. मैं पुरस्कार के लिए चयन समिति का आभारी हूं.

'सुपर 30' कोचिंग संस्थान  हर साल गरीब परिवारों के 30 प्रतिभावान बच्चों का चयन कर बिना शुल्क के आईआईटी की तैयारी करवाता है. आनंद कुमार की ये संस्था बच्चों की शिक्षा के साथ रहने और खाने का खर्च भी उठाती है. 'सुपर 30' की शुरुआत सन 2003 में हुई थी. 2003 में 30 बच्चों में से 18 बच्चों ने IIT की परीक्षा पास की थी. 2008 में पहली बार सभी 30 स्टूडेंट्स ने IIT की परीक्षा पास की. इस साल 18 बच्चों ने IIT JEE परीक्षा पास की है. आनंद ने सुपर-30 की नींव बिहार के पूर्व डीजीपी अभ्यानंद के साथ रखी थी.

आनंद बिहार से हैं और उनकी तरफ से गरीब बच्चों को पढ़ा इंजीनियर बनने के काबिल बनाने वाले 'सुपर-30' को देश में सभी जानते हैं. 'सुपर 30' से जून 2019 में रिजल्ट में 18 स्टूडेंट्स ने JEE Advanced एग्जाम क्लियर किया.



आनंद ने साल 2002 में कोचिंग कराने की शुरुआत की थी, लेकिन 'सुपर 30' की शुरुआत 2003 में हुई. आनंद कुमार ने 16 साल के कोचिंग करियर में उन सैकड़ों बच्चों को पढ़ाकर आईआईटी भेजा है, जो 2 वक्त की रोटी के लिए भी मोहताज थे. साल 2018 में आनंद कुमार के सुपर-30 बैच से 26 बच्चों का चयन हुआ था.
ये भी पढ़ें-
CTET 2019: फॉर्म करेक्‍शन की प्रक्रिया शुरू, Direct Link पर ठीक करें गल‍त‍ियां
CBSE 12th क्लास मैथ्स के पेपर में होंगे ये बदलाव, चेक करें नया एग्जाम पैटर्न
JEE Main में बेहतर स्कोर के लिए कैसे मददगार हैं NCERT की किताबें? 

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज