Home /News /career /

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के सुपर-30 में अब ऑनलाइन भी तैयार होंगे IAS-IPS

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के सुपर-30 में अब ऑनलाइन भी तैयार होंगे IAS-IPS

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी की आरसीए की बिल्डिंग.

जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी की आरसीए की बिल्डिंग.

RCA के डिप्टी डॉयरेक्टर प्रो. मोहम्मद तारिक का कहना है कि लॉकडाउन (Lockdown) खत्म होते ही ऑनलाइन क्लास शुरू करने के काम में तेजी आ आने की उम्मीद है.

    नई दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (Jamia Millia Islamia University) की रेजिडेंशियल कोचिंग अकादमी (RCA) को सुपर-30 भी कहा जाता है. अब खबर आ रही है कि यह सुपर-30 ऑनलाइन भी देश के लिए आईएएस और आईपीएस तैयार करेगी. आरसीए जल्द ही ऑनलाइन क्लास (Online Class) शुरू करने जा रही है. अगर देश में कोरोना ने दस्तक न दी होती और लॉकडाउन न लगा होता तो आरसीए की ऑनलाइन क्लास शुरू हो चुकी होती. आरसीए के डिप्टी डॉयरेक्टर प्रो. मोहम्मद तारिक का कहना है कि लॉकडाउन (Lockdown) खत्म होते ही ऑनलाइन क्लास शुरू करने के काम में तेजी आ आने की उम्मीद है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के स्तर पर भी अब कोई रुकावट नहीं रही है.

    सेंटर फॉर कोचिंग एंड करियर प्लानिंग एकेडमी के डिप्टी डॉयरेक्टर प्रो. मोहम्मद तारिक ने बताया कि मौजूदा वक्त में आरसीए की सीट लिमिट 208 है. लेकिन 208 सीट को भरना जरूरी नहीं है. उन्‍होंने बताया कि अगर कोई परीक्षार्थी पैरामीटर पर खरा नहीं उतरता है तो सीट खाली भी छोड़ दी जाती है. दूसरी तरफ, मजबूरी यह भी है कि अगर 208 से ज़्यादा काबिल बच्चे मिलते हैं तो सभी को मौका नहीं मिल पाता.

    जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी की आरसीए की बिल्डिंग.


    4 सेंटर से ऑनलाइन क्लास शुरू करने की है योजना
    जानकारों की मानें तो ऑनलाइन क्लास को पहले 4 सेंटर से शुरू किए जाने की उम्मीद है. बाद में बच्चों की संख्या को देखते हुए इसे बढ़ाया जा सकता है. सबसे पहले उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र और एक दक्षिण भारत के किसी प्रदेश से ऑनलाइन क्लास शुरू करने की उम्मीद है. एकेडमी की तरह से ही ऑनलाइन क्लास लेने के लिए भी छात्रों का चयन प्रवेश एग्ज़ाम यानी एंट्रेंस एग्ज़ाम के जरिए होगा.

    यह है जामिया की आरसीए का रिकॉर्ड
    डिप्टी डायरेक्टर प्रो. मोहम्मद तारिक ने बताया कि एक वक्त ऐसा भी था कि जब इस कोचिंग के लिए 800 तक एप्लीकेशन फॉर्म आते थे. उसके बाद यह नंबर 1600 तक पहुंच गया. 2018 में रिकॉर्ड 7245 फॉर्म आए थे, जबकि 2019 में कोचिंग में एंट्रेंस के लिए होने वाली एग्जाम में बैठने के लिए 13129 एप्लीकेशन फॉर्म मिले. यह अब तक का एक रिकॉर्ड है.

    वर्ष 2018 में यहां के 27 तो 2019 में 45 छात्र सिविल सर्विस के लिए चयनित हुए थे. अभी तक 200 से ज़्यादा बच्चे सिविल सर्विस में और 250 से ज़्यादा बच्चे केन्द्रीय और प्रांतीय सेवाओं में जा चुके हैं. हमारे यहां 24 घंटे खुली रहने वाली लाइब्रेरी भी है.

    मुफ्त वाई-फाई मुहैया कराया जाता है. हॉस्टल सुविधा भी दी जाती है. ग्रुप डिस्कशन, बहुत सारी परीक्षाएं और मॉक इंटरव्यू के जरिए छात्रों को पूरी तरह से तैयार करते हैं. कोचिंग में 500 घंटे की क्लास देकर सविल सर्विसेज के लिए होनहार तैयार किए जाते हैं.

    ये भी पढ़ें-

    Lockdown: यह मंत्री बोले, सरकार चलाने के लिए शराब पर बढ़ाया गया है टैक्स

    Lockdown में राजस्थान के फालना गांव से जुड़े हैं देशभर के 500 मासूमों की जिंदगी के तार

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर