अलविदा सुषमा स्वराज: आपको पता है कितनी पढ़ी लिखी थीं पूर्व विदेश मंत्री

सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) 6 अगस्त रात करीब 10:50 बजे इस दुनिया से रुख़्सत हो गईं.

News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 4:33 PM IST
अलविदा सुषमा स्वराज: आपको पता है कितनी पढ़ी लिखी थीं पूर्व विदेश मंत्री
सुषमा स्वराज चार साल तक हरियाणा के हिंदी साहित्य सम्मेलन की अध्यक्ष भी रहीं.
News18Hindi
Updated: August 7, 2019, 4:33 PM IST
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) 6 अगस्त रात करीब 10:50 बजे इस दुनिया से रुख़्सत हो गईं. सुष्मा को दिल का दौरा पड़ा, उन्होंने दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली. 7 अगस्त शाम 4 बजे लोधी रोड स्थित श्मशान घाट में उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. जानिए, कितनी पढ़ी लिखी थी हमारी पूर्व विदेश मंत्री.

साल 1953 में 14 फरवरी को हरदेव शर्मा और श्रीमति लक्ष्मी देवी के घर, अंबाला कैंट हरियाणा में बिटिया ने जन्म लिया. जिसका नाम उन्होंने सुषमा रखा. सुषमा ने ग्रेजुएशन तक अंबाला से ही पढ़ाई की. उन्होंने एस.डी. कॉलेज ऑफ अंबाला से B.A किया. B.A में उनके मेन सब्जेक्ट्स संस्कृत और पॉलीटिकल साइंस रहे.

सुषमा ने पंजाब यूनिवर्सिटी से डिपार्टमेंट ऑफ लॉ से LL.B. की. 1970 में उन्हें S.D. कॉलेज, अंबाला कैंटोनमेंट से बेस्ट स्टूडेंट का अवॉर्ड मिला. सुषमा जी पढ़ाई के साथ-साथ एक्सट्रा करीकुलर एक्टिविटीज में भी एक्सलेंट स्टूडेंट रहीं. उन्हें क्लासिकल म्यूज़िक, हिंदी कविता, फाइन आर्ट्स और ड्रामा में दिलचस्पी थी. वे कविता और साहित्य को भी पढ़ने की शौकीन थीं.



S.D. कॉलेज के लगातार तीन सालों के लिए उन्हें N.C.C का सर्वश्रेष्ठ कैडेट घोषित किया गया. हरियाणा के लैंग्वेज डिपार्टमेंट की ओर से कराए गए स्टेट-लेवल कॉम्पटिशन में उन्होंने लगातार तीन सालों तक बेस्ट हिंदी स्पीकर अवॉर्ड भी जीता. वे ए. सी. बाली मेमोरियल डिक्लेरेशन प्रतियोगिता में पंजाब विश्वविद्यालय की बेस्ट हिंदी स्पीकर भी बनीं. वहां उन्हें यूनिवर्सिटी colour से सम्मानित किया गया.

वे चार साल तक हरियाणा राज्य के हिंदी साहित्य सम्मेलन की अध्यक्ष रहीं. उन्होंने उन्होंने अलंकार प्रतियोगिता, डिबेट्स, गायन, नाटक और अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों में कई पुरस्कार जीते.

सुषमा जी निजी जीवन में बेहद सरल और दूसरों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहीं.
Loading...

पढ़ें- Sushma Swaraj Death News Live

ये भी पढ़ें-
सुषमा स्वराज और उनके पति के नाम पर दर्ज हैं ये रिकॉर्ड, लिम्का बुक में मिली जगह
सुषमा ने मुझे कभी नाम से नहीं पुकारा, वो हमेशा भाई कहती थीं: गुलाम नबी आज़ाद
First published: August 7, 2019, 12:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...