दर्जी के बेटे को मिला IIT में एडमिशन, फीस का खर्च उठाएगा दिल्ली का ये परिवार

News18Hindi
Updated: September 9, 2019, 11:20 AM IST
दर्जी के बेटे को मिला IIT में एडमिशन, फीस का खर्च उठाएगा दिल्ली का ये परिवार
दर्जी के बेटे को मिला IIT में एडमिशन, फीस का खर्च उठाएगा दिल्ली का ये परिवार

आईआईटी-दिल्‍ली (IIT-Delhi) में दाखिला पाने वाले विजय के सामने हर सेमेस्‍टर के लिये 90,000 रुपये का इंतजाम करना आसान नहीं था. विजय के पिता कपड़ों की सिलाई कर घर का खर्च चलाते हैं और मां, घर की देखभाल करती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 9, 2019, 11:20 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: किसी साधारण परिवार के बच्‍चे के लिये JEE IIT Exam जैसी मुश्‍क‍िल परीक्षाओं को पास कर लेना ही सफलता नहीं है. बल्‍क‍ि हर सेमेस्‍टर की फीस का इंतजाम करना भी चुनौतीपूर्ण होता है. इसलिए कई बार आर्थ‍िक तंगी के आगे लोग घुटने टेक देते हैं और आईआईटी जैसी बड़ी अवसर को गले नहीं लगा पाते. दिल्‍ली के रहने वाले एक दर्जी के बेटे विजय की कहानी भी कुछ ऐसी ही है.

दिल्‍ली सरकार की जय भीम मुख्‍यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत चल रहे कोचिंग सेंटर से JEE IIT एग्‍जाम की तैयारी कर आईआईटी-दिल्‍ली (IIT-Delhi) में दाखिला पाने वाले विजय के सामने हर सेमेस्‍टर के लिये 90,000 रुपये का इंतजाम करना आसान नहीं था. विजय के पिता कपड़ों की सिलाई कर घर का खर्च चलाते हैं और मां, घर की देखभाल करती हैं.

16 वर्ष‍िय विजय की कहानी सुनने के बाद, उसकी मदद के लिये दिल्‍ली का एक परिवार आगे आया है. दिल्‍ली के रहने वाले वरुण गांधी और उनका परिवार, विजय के कॉलेज की फीस का सारा खर्च उठाना चाहते हैं. यानी वरुण जब तक आईआईटी-दिल्‍ली (IIT-Delhi) में पढ़ाई करेंगे, उनकी फीस की जिम्‍मेदारी वरुण और उनके परिवार की होगी.

रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि विजय की स्‍थ‍ति को सुनने के बाद वरुण और उनके परिवार ने यह तय किया है कि वह विजय के IIT दिल्‍ली की फीस का खर्च उठाएंगे. इस प्रेस कांफ्रेंस में विजय और उनका परिवार भी मौजूद था. विजय ने कहा कि जो छात्र मेरी तरह ही महंगे कोचिंग का खर्च नहीं उठा सकते, उनके लिये दिल्‍ली सरकार की स्‍कीम बेहद मददगार है.

श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स (Shri Ram College of Commerce) से पढ़ाई करने वाले वरुण ने कहा कि मैं उन सभी की मदद करना चाहता हूं, जिनके पास संसाधनों की कमी है. हमें अपने भाई बहनों की मदद करनी चाहिए, ताकि वो चमक सकें. उन्‍होंने कहा कि हमारे परिवार के लिये शिक्षा हमेशा से ही बेहद महत्‍वपूर्ण रहा है. मेरी मां, छोटा भाई और मैं, हमेशा टॉपर और गोल्‍ड मेडलिस्‍ट रहे हैं. यह सिर्फ शिक्षा से ही संभव हो सका है. शिक्षा कोई विशेषाधिकार नहीं है, बल्‍क‍ि यह आपका अधिकार है.

पिछले हफ्ते, योजना, जिसके तहत आरक्षित श्रेणियों के छात्र नि:शुल्क कोचिंग केंद्रों में कक्षाओं में भाग ले सकते हैं, उसे आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के सभी बच्चों के लिए भी बढ़ा दिया गया था. बता दें कि मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी आईआईटी-खड़गपुर (IIT-Kharagpur) से पढ़ाई की है और अब उनके बेटे को आईआईटी दिल्‍ली (IIT-Delhi) में दाखिला प्राप्‍त हुआ है.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 11:20 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...