Inspiring Stories: ये पांच डॉक्टर बने IAS ऑफिसर

कहानी उन डॉक्टर्स की जिन्होंने सिविल सर्विस जॉइन कर, अलग तरीके से लोगों की सेवा करने के लिए मेडिकल करियर को छोड़ दिया.

News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 2:52 PM IST
Inspiring Stories: ये पांच डॉक्टर बने IAS ऑफिसर
मेडिकल करियर छोड़ IAS बनने वालों की कहानी
News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 2:52 PM IST
बेशक! डॉक्टर बनना भी मुश्किल पेशों में से एक में शुमार है. ये बेहद सम्मानजनक पेशा है और देश के बहुत से युवा डॉक्टर्स बनना चाहते हैं. लेकिन कुछ डॉक्टर्स ऐसे भी हैं जिन्होंने सिविल सर्विस जॉइन करने और अलग तरीके से लोगों की सेवा करने के लिए मेडिकल करियर को छोड़ दिया. जानिए ऐसे ही पांच डॉक्टर्स के बारे में.

स्नेहा अग्रवाल- स्नेहा ने साल 2011 में यूपीएसीस सिविल सर्विस एग्जाम में टॉप किया. वे डॉक्टर से IAS ऑफिसर बनीं. 2011 में AIR-1 हासिल करने से पहले उन्होंने 2009 में AIIMS से MBBS किया था. स्नेहा ने CSE-2010 में AIR-305 रैंक हासिल की. CSE-2011 की तैयारी के दौरान वे भारतीय राजस्व सेवा के लिए प्रशिक्षण ले रही थी. स्नेहा लुधिया, पंजाब में एडिशनल डिप्टी कमिश्नर (डेवलपमेंट) हैं.



डॉक्टर सैयद सबाहत अज़ीम- अज़ीम भी उन हस्तियों में शुमार हैं जो डॉक्टर से IAS बने. साल 2000 बैच के अधिकारी ने 2010 में स्वास्थ्य सेवा उद्यमी बनने के लिए IAS के पद को भी छोड़ दिया. अजीम फिलहाल कलकत्ता बेस्ड ग्लोकल हेल्थ केयर सिस्टम के संस्थापक और CEO हैं. इनका उद्देश्य कम लागत वाले अस्पतालों की स्थापना कर, गांव की आबादी के लिए गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराना है.

K Vijaykarthikeyan- विजयकार्तिकेन (विजय) भी तमिलनाडू से हैं. इन्होंने साल 2009 में medicine में ग्रेजुएशन की. फिर 2010 में UPSE CSE क्लियर कर IAS पद पर जॉइन किया. फिलहाल ने तमिलनाडू में कोयंबटूर सिटी नगर निगम में कमिश्नर हैं. वे शहर के सबसे युवा कमिश्नर हैं. बता दें कि IAS के साल 2011 के बैच का ये ऑफिसर लेखक भी है.

 


Loading...

(Thamburaj)- तमिलनाडू के अरुण थम्बबराज ने IAS बनने के लिए lucrative मेडिकल करियर छोड़ा था. अरुण 2010 में सिविल सर्विस एग्जाम क्लियर कर IPS बने. लेकिन उनका सपना IAS बनने का था. फिर उन्होंने लगातार तैयारी की और 2012 में दूसरे अटेंप्ट में CSE में AIR-6 हासिल कर IAS बने. फिलहाल वे तमिलनाडु रोड सेक्टर प्रोजेक्ट में प्रोजेक्ट डायरेक्टर हैं.

रोमन सैनी- रोमन ने 2013 में AIIMS दिल्ली से MBBS किया. इसी साल उन्होंने यूपीएसी का सिविल सर्विस एग्जाम क्लियर कर AIR-18 रैंक हासिल की. रोमन ने युवावस्था में ही IAS पद जॉइन किया. हालांकि उन्होंने बाद में इस्तीफा देकर 2016 में Unacademy की सह-स्थापना की.

ये भी पढ़ें-
Railway Recruitment: रेलवे में स्पोर्ट्स कोटा के लिए वैकेंसी
मैथ्स में कमज़ोर स्टूडेंट्स अब ऐसे होंगे 10th में पास
बिहार का ये कॉलेज बिना पढ़ाई बांट रहा है शास्त्री की डिग्री
First published: August 11, 2019, 2:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...