इस संस्था की मदद से 27 ईसाई-मुस्लिम लड़के-लड़कियां भी बने IAS-IPS अफसर, बीते साल बने थे 18 अफसर 

इस संस्था की मदद से 27 ईसाई-मुस्लिम लड़के-लड़कियां भी बने IAS-IPS अफसर, बीते साल बने थे 18 अफसर 
ज़कात फाउंडेशन युवाओं को तैयारी कराती है.

खास बात ये है कि यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा की तैयारियों के लिए जक़ात (Zakat foundation) फाउंडेशन की मदद पाना आसान नहीं है. जक़ात की मदद पाने के लिए पहले सिविल सर्विस प्री परीक्षा स्तर की परीक्षा पास करनी होती है. उसके बाद इंटरव्यू भी पास करना होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 2:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के फाइनल नतीजे मंगलवार को जारी कर दिए गए हैं. दूसरी ओर ज़कात (Zakat) फाउंडेशन के भी 64 ईसाई और मुस्लिम लड़के-लड़कियां यूपीएसी के इंटरव्यू में शामिल हए थे. जिसमे से 27 ने यूपीएससी की परीक्षा पास कर आईएएस (IAS) और आईपीएस (IPS) बनने का रास्ता साफ कर लिया है. 27 की लिस्ट में 4 लड़कियां भी शामिल हैं.

18 से 27 पर पहुंचा कामयाब युवाओं का सफर 

ये वो 27 लड़के-लड़कियां हैं जिन्होंने ज़कात की मदद से यूपीएससी की तैयारी की थी. गौरतलब रहे कि जक़ात फाउंडेशन जक़ात (दान) के पैसों से चलता है. हालांकि पिछली बार ज़कात फाउंडेशन की ओर से कामयाब होने वाले युवाओं की संख्या 18 थी. लेकिन इस बार ये संख्या बढ़कर 27 पर आ गई है. 18 से पहले 26 युवा ज़कात की मदद से कामयाब हुए थे.



ये भी पढ़ें :-
Highway-Expressway पर लूट का नया तरीका आया सामने, सरनेम बोलकर ऐसे कर रहे वारदात

CAA-NRC : जामिया यूनिवर्सिटी में हुई तोड़फोड़ के बारे में RTI से हुआ बड़ा खुलासा

बीते साल इसलिए 18 पर अटक गई थी संख्या 

18 की संख्या के पीछे की वजह बताते हुए ज़कात फाउंडेशन के अध्यक्ष डाक्टर सैय्यद जफर महमूद ने बताया, बीते साल यूपीएससी ने कुल सीट में से कुछ सीट की संख्या कम कर दी है. आपको बता दें कि डाक्टर सैय्यद जफर महमूद खुद भी सिविल सर्विस से रिटायर्ड हैं. उन्होंने कई मंत्रालयों में अपनी सेवाएं दी हैं. वहीं सच्चर कमेटी के भी वह सदस्य रहे हैं.

Zakat Foundation of India, ZFI, Civil service, Civil service coaching, UPSC result, Muslim Youth, Syed Zafar Mahmood, IAS, IPS, Civil service result, जकात फाउंडेशन ऑफ इंडिया, सिविल सेवा, सिविल सेवा कोचिंग, UPSC परिणाम, मुस्लिम युवा, सैयद जफर महमूद, आईएएस, आईपीएस, सिविल सेवा परिणाम
ज़कात फाउंडेशन से कामयाब हुए युवाओं की लिस्ट.


खास बात ये है कि यूपीएससी की परीक्षा की तैयारियों के लिए जक़ात फाउंडेशन की मदद पाना आसान नहीं है. जक़ात की मदद पाने के लिए पहले सिविल सर्विस प्री परीक्षा स्तर की परीक्षा पास करनी होती है. उसके बाद इंटरव्यू भी पास करना होता है. इस परीक्षा का आयोजन जक़ात फाउंडेशन ही करता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज