UBSE Board 10th, 12th Result 2020: उत्तराखंड बोर्ड 10वीं-12वीं परीक्षा की ये हैं 10 खास बातें

UBSE Board 10th, 12th Result 2020: उत्तराखंड बोर्ड 10वीं-12वीं परीक्षा की ये हैं 10 खास बातें
उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट 29 जुलाई को जारी होने वाला है.

UBSE Board 10th, 12th Result 2020: छात्र अपना रिजल्ट उत्तराखंड बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट - ubse.uk.gov.in - और न्यूज 18 हिंदी की वेबसाइट पर भी जाकर चेक कर सकते हैं.

  • Share this:
देहरादून. उत्तराखंड बोर्ड ने बुधवार 29 जुलाई को दसवीं और 12वीं का रिजल्ट जारी करेगा. इसके साथ ही लाखों छात्रों का इंतज़ार खत्म हो जाएगा. छात्र अपना रिजल्ट उत्तराखंड बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट - ubse.uk.gov.in - और न्यूज 18 हिंदी की वेबसाइट पर भी जाकर चेक कर सकते हैं.

परिणाम की घोषणा रामनगर स्थित उत्तराखंड बोर्ड मुख्यालय से राज्य के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय और बोर्ड अध्यक्ष आरके कुंवर की मौजूदगी में की जाएगी.

उत्तराखंड बोर्ड रिजल्ट से जुड़ी जानकारी सबसे पहले पाने के लिए यहां रजिस्टर करें-




सुबह 11 बजे दसवीं और बारहवीं के रिजल्ट की घोषणा की जाएगी. उत्तराखंड बोर्ड की दसवीं की परीक्षा में इस साल डेढ़ लाख से ज्यादा छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया वहीं सवा लाख के करीब स्टूडेंट्स ने 12वीं की परीक्षा दी.
स्टूडेंट्स उत्तराखंड बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट ubse.uk.gov.in पर अपना परिणाम चेक कर सकते हैं. इसके अलावा न्यूज 18 की वेबसाइट और पर भी रिजल्ट चेक किया जा सकता है.
हर साल रिजल्ट जून में घोषित कर दिया जाता था जो कोरोना वायरस महामारी के कारण इस बार रिजल्ट जारी करने में देरी हुई. जो स्टूडेंट्स अलग—अलग कंटेनमेंट जोन में होने के चलते एग्जाम नहीं दे पाए उन्हें सीबीएसई की तरह ही औसत अंकों के आधार पर नंबर दिए गए हैं.
पिछले साल दसवीं में 76.43 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे, वहीं 12वीं का कुल पास प्रतिशत 80.13 रहा था. इस साल उत्तराखंड बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा मार्च में होनी प्रस्तावित थी, लेकिन कोरोना वायरस के चलते एग्जाम स्थगित कर दिए गए.
इस साल बोर्ड एग्जाम में 2,71,690 स्टूडेंट्स शामिल हुए थे इनमें 12वीं में 1,31, 301 और हाईस्कूल में 1,50,389 बच्चों ने एग्जाम दिया था.
इस बार का बोर्ड रिजल्ट सीबीएसई बोर्ड के तर्ज पर ही तैयार किया गया है जिसमें 3 सब्जेक्ट में नंबर देख कर ही रिजल्ट तैयार किया गया है हालांकि अगर किसी बच्चे को रिजल्ट में आपत्ति होगी तो वह दोबारा से परीक्षा भी दे सकता है.
कक्षा 10वीं, 12वीं के लिए बोर्ड परीक्षा मार्च में निर्धारित की गई थी, लेकिन महामारी और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण परीक्षा बाधित हो गई थी. शेष प्रश्नपत्रों की परीक्षा 15 जुलाई से 20 जुलाई तक आयोजित की गई थी. कुछ छात्र परीक्षा में शामिल नहीं हो सके, क्योंकि वे उन क्षेत्रों में रहते हैं, जिन्हें तब कोरोना के ल‍िये च‍िन्‍ह‍ित क्षेत्रों में रखा गया था.
परीक्षाफल से जो छात्र संतुष्ट नहीं होगा उनके लिए परीक्षा का आयोजन किया जाएगा. हालांकि, परीक्षा के बाद में जो अंक आएंगे वही मान्य होंगे क्योंकि चाहे वे पहले से पाए गए अंकों से कम हों या ज्यादा.
चार या उससे अधिक विषयों की परीक्षा दे चुके छात्रों को सर्वाधिक अंक प्राप्त तीन विषयों (बेस्ट थ्री) और तीन विषयों की परीक्षा दे चुके छात्रों को सर्वाधिक अंक प्राप्त दो विषयों (बेस्ट टू) के औसत अंक छूट गये विषयों की परीक्षाओं में दे दिये जायेंगे और उनका परीक्षाफल घोषित कर दिया जाएगा.
छात्र मैसेज के जरिए भी अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading