UGC ने यूनिवर्सिटीज को दी डेडलाइन, 30 मई तक हर हाल में करना होगा ये काम

UGC ने यूनिवर्सिटीज को दी डेडलाइन, 30 मई तक हर हाल में करना होगा ये काम
यूजीसी ने इस संबंध में 29 अप्रैल को जारी गाइडलाइन्स को ध्यान में रखने के लिए कहा है.

यूजीसी (UGC) ने 29 अप्रैल को जारी गाइडलाइन के अनुसार विश्वविद्यालयों (Universities) को संविधान प्रकोष्ठ बनाकर छात्रों की समस्याओं को दूर करने के लिए कहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. यूजीसी (University Grants Commission) ने विश्ववद्यालयों (University) के संविधान शिकायत प्रकोष्ठ के लिए एक समय सीमा निर्धारित की है. इस समय सीमा के अंदर प्रकोष्ठ को स्टूडेंट्स की समस्याओं जैसे कि परीक्षा की तारीखों और शैक्षणिक कैलेंडर (Academic calendar) से संबंधित समस्याओं को हल करना होगा.

यूजीसी ने इस संबंध में 29 अप्रैल को जारी गाइडलाइन्स को ध्यान में रखने के लिए कहा है. यूजीसी ने कहा कि इसी गाइडलाइन के हिसाब से एक्शन प्लान तैयार किया जाना चाहिए. यूजीसी ने एक नोटिस जारी कर प्रकोष्ठ को 30 मई तक स्टूडेंट्स की समस्याओं का समाधान करने के लिए कहा है.

आधिकारिक नोटिफिकेशन पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.



यूजीसी ने कोरोनोवायरस महामारी की स्थिति में स्टूडेंट्स की शिकायतों को दूर करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया था. यूजीसी ने कॉलेजों को एक हेल्पलाइन डेस्क बनाने के कहा था. यह काम सभी यूनिवर्सिटीज को करना अनिवार्य था. वहीं यूजीसी ने भी हेल्पलाइन नंबर और ई-मेल जारी किया था, जिसमें स्टूडेंट अपनी समस्या के बारे में बता सकते हैं.
आयोग ने विश्वविद्यालयों को 30 मई, 2020 तक एक प्रकोष्ठ बनाने के लिए भी कहा है. साथ ही विश्वविद्यालय और राज्य सरकारों द्वारा गठित टास्क फोर्स को जल्द से जल्द काम करने के लिए सक्रिय होने को कहा है. इससे शिकायतों का समय पर निवारण होगा और कम छात्र शिकायत करेंगे. साथ ही, यूजीसी ने विश्वविद्यालयों को एक व्यापक मंच पर निवारण को सक्रिय करने के लिए सक्रिय होने के लिए कहा ताकि छात्रों और कॉलेज के बीच कोई संवादहीनता न हो.

ये भी पढ़ें- NEET PG 2020: दूसरे राउंड की काउंसलिंग का शेड्यूल जारी, जानें कब से होगा रजिस्‍ट्रेशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading