लाइव टीवी

UGC ने विश्वविद्यालयों को दिए निर्देश, परीक्षा केंद्रों में जैमर लगाते वक्त सरकारी नीति का सख्ती से पालन करें

News18Hindi
Updated: November 3, 2019, 1:00 PM IST
UGC ने विश्वविद्यालयों को दिए निर्देश, परीक्षा केंद्रों में जैमर लगाते वक्त सरकारी नीति का सख्ती से पालन करें
परीक्षा केंद्रों में जैमर लगाते वक्त सरकारी नीति का सख्ती से पालन करें: UGC

UGC ने विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों को निर्देश दिया है कि वे परीक्षा केंद्रों में अनुचित साधनों के इस्तेमाल को रोकने के लिये जैमर लगाते वक्त सरकारी नीति का सख्ती से अनुपालन करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2019, 1:00 PM IST
  • Share this:
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, यूजीसी (University Grants Commission) ने विश्वविद्यालय (University) और उच्च शिक्षण संस्थानों (Higher educational institutions ) को निर्देश दिया है कि वे परीक्षा केंद्रों में  अनुचित साधनों के इस्तेमाल को रोकने के लिये जैमर लगाते वक्त सरकारी नीति का सख्ती से अनुपालन करें.

सरकार ने 2016 में परीक्षाएं आयोजित करने वाले वैधानिक निकायों को इस बात की इजाजत दी थी कि वे रेडियो आवृत्ति आधारित उपकरणों के जरिये अनुचित साधनों का इस्तेमाल रोकने के लिये कम शक्ति वाले जैमर परीक्षा केंद्रों में लगा सकते हैं. आयोग ने कुलपतियों और कॉलेज के प्रधानाचार्यों को लिखे पत्र में कहा, “आप अपने विश्वविद्यालय और कॉलेज में जैमर पर सरकारी नीति के प्रावधानों का अनुपालन अनिवार्य रूप से सुनिश्चित करें.”

यूजीसी के पत्र में कहा गया, “जैमरों को लगाने से पहले सरकार की जैमर नीति के मुताबिक सचिव (सुरक्षा) से इसकी इजाजत लेना जरूरी है.सरकारी कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल) और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) को परीक्षा केंद्रों के लिये कम शक्ति वाले जैमर किराये पर लगाने के लिये अधिकृत किया गया है. परीक्षा आयोजित करने वाले निकायों की मांग के आधार पर जैमर उपलब्ध कराए जाएंगे.नीति के मुताबिक अनधिकृत निर्माताओं द्वारा खुली निवदाएं मंगाने की इजाजत नहीं है और इसे नियमों का उल्लंघन माना जाएगा.

ये भी पढ़ें: 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2019, 1:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...