यूनिवर्सिटी और कॉलेज अपने प्रोफेसर्स को स्टडी लीव पर भेजे: UGC कमेटी

अध्यापकों को करियर के बीच में अध्ययन अवकाश की पेशकश करने के लिए राज्य विश्वविद्यालयों और संबद्ध कॉलेजों को यूजीसी को प्रोत्साहित करना चाहिए

News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 7:15 PM IST
यूनिवर्सिटी और कॉलेज अपने प्रोफेसर्स को स्टडी लीव पर भेजे: UGC कमेटी
इस तरह के अवसर सार्वजनिक , निजी संस्थान भी दें.
News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 7:15 PM IST
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा गठित एक समिति ने यह सिफारिश की है कि विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को शोध एवं लेखन के लिए अध्यापकों को उनके करियर के बीच में अध्ययन अवकाश पर भेजना चाहिए. 'भारतीय विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में शोध को प्रोत्साहित करने और उसकी गुणवत्ता बेहतर करने' पर गठित चार सदस्यीय समिति ने यूजीसी को हाल ही में अपनी रिपोर्ट सौंपी है. यह समिति इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस,बेंगलुरू के पूर्व निदेशक पी बालाराम की अध्यक्षता में गठित की गई थी.

समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अध्यापकों को करियर के बीच में अध्ययन अवकाश की पेशकश करने के लिए राज्य विश्वविद्यालयों और संबद्ध कॉलेजों को यूजीसी को प्रोत्साहित करना चाहिए.

रिपोर्ट में कहा गया है कि अध्यापकों को प्रतिस्पर्धा स्तर पर उनके करियर के बीच में राष्ट्रीय स्तर पर अध्ययन अवकाश के लिए भेजने की प्रक्रिया 50-100 संकाय सदस्यों को भेज कर शुरू की जा सकती है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इस तरह के अवसरों को सार्वजनिक के साथ-साथ निजी संस्थानों में भी करना चाहिए.

ये भी पढ़ें-

CBSE 10th, 12th Exams 2020: बोर्ड ने जारी की एग्जाम की तारीख- रिपोर्ट
स्टाफ सेलेक्शन कमीशन ने CGL के लिए आयोग ने बदले ये नियम, पढ़ें ताज़ा बदलाव
लखनऊ, बदायूं और गोरखपुर में बनेगी पीएसी की महिला बटालियन, 3786 पद मंजूर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नौकरियां/करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2019, 7:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...