DU स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खबर! फर्स्ट और सेकेंड ईयर के अंडरग्रेजुएट एग्जाम रद्द

DU स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खबर! फर्स्ट और सेकेंड ईयर के अंडरग्रेजुएट एग्जाम रद्द
कोरोना संकट के कारण दिल्ली यूनिवर्सिटी में पेन-पेपर से एग्जाम करना संभव नहीं दिख रहा है. (फाइल फोटो)

दिल्ली यूनिवर्सिटी की जारी अधिसूचना के अनुसार, फिलहाल कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण पेन-पेपर सेमेस्टर एग्जाम कराना संभव नहीं है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना संकट (Covid-19 Crisis) के कारण देश के प्रतिष्ठित दिल्ली यूनिवर्सिटी (Delhi University) में पेन-पेपर से एग्जाम करना संभव नहीं दिख रहा है. इस बार प्रमोशन और रिजल्ट के लिए ग्रेडिंग के वैकल्पिक मोड का इस्तेमाल किया जाएगा. यूनिवर्सिटी प्रशासन ने एक नोटिस जारी कर यह साफ कर दिया है. डीयू में अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में पढ़ाई करने वाले पहले और दूसरे साल के छात्रों का सेमेस्टर एग्जाम नहीं हो सकेगा. इस तरह का निर्णय कोरोना महामारी के कारण लिया गया है. इस संबंध में यूनिवर्सिटी के आधिकारिक वेबसाइट पर एक नोटिस जारी किया गया है. इस नोटिस के अनुसार, फिलहाल कोरोना संक्रमण के खतरे के कारण पेन-पेपर से सेमेस्टर एग्जाम कराना संभव नहीं है.

ग्रेडिंग के वैकल्पिक मोड का होगा इस्तेमाल
आधिकारिक अधिसूचना के अनुसार, इस मामले पर कोविड-19 के लिए गठित टास्क फोर्स और परीक्षा पर बने कार्य समूह में गहनता से विचार-विमर्श हुआ. जिसके बाद इस बार के लिए निर्णय लिया गया कि 2019-2020 के सत्र के लिए प्रमोशन और रिजल्ट के लिए ग्रेडिंग के वैकल्पिक मोड का इस्तेमाल होगा. जिससे यूनिवर्सिटी के छात्रों को करियर में किसी भी तरह का नुकसान न हो सके.

एसओएल और नॉन कॉलेजियट छात्राएं इसी तरह होंगी प्रमोटेड



हिन्दुस्तान टाइम्स की एक खबर के अनुसार, यूनिवर्सिटी के छात्रों के अलावा डीयू के स्कूल ऑफ ओपेन लर्निंग और नॉन कॉलेजिएट वुमेंस एजुकेशन बोर्ड की छात्राएं को भी इसी तरीके से ग्रेड मिलेगी और प्रमोटेड होंगी. हालांकि, अंतिम साल और पूर्व छात्रों को फिर से एग्जाम में भाग लेना होगा. उनके लिए ऑनलाइन ओपेन बुक एग्जाम जुलाई में आयोजित होने जा रहा है.



आंतरिक मूल्यांकन और सेमेस्टर एग्जाम होंगे आधार
नोटिस के अनुसार, इंटरमीडिएट सेमेस्टर, टर्म या वर्ष के छात्रों के लिए ग्रेडिंग को आंतरिक मूल्यांकन के अंकों और पिछले सेमेस्टर परीक्षा में अर्जित अंकों में विभाजित किया जाएगा. दोनों को मिलाकर कुल 50 प्रतिशत अंक हैं.

इन छात्रों का असाइगमेंट के आधार पर होगा मूल्यांकन
इस नोटिस में आगे लिखा है कि इंटरमीडिएट सेमेस्टर / टर्म / वर्ष के छात्रों के लिए जिनका पिछली बार कोई प्रदर्शन नहीं था. इसका मतलब पिछले सेमेस्टर / टर्म / वर्ष में कोई मार्क्स नहीं था उनकी ग्रेडिंग 100 प्रतिशत असाइनमेंट के मूल्यांकन के आधार पर होगी. विशेष जानकारी के लिए छात्रों को आधिकारिक अधिसूचना पढ़ने की सलाह दी जा रही है.

 

ये भी पढ़ें: लॉ यून‍िवर्स‍िटी के ये छात्र बने म‍िसाल, मजदूरों के ल‍िये क‍िया ये खास काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading