UPTET 2019 का रिजल्ट महीनेभर में आ जाएगा, जानिए कौन होगा पास और कौन फेल

UPTET 2019 का रिजल्ट महीनेभर में आ जाएगा, जानिए कौन होगा पास और कौन फेल
उत्‍तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग ने आज आध‍िकार‍िक वेबसाइट पर TET की आंसर की जारी करेगा.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के विभिन्न शहरों में लगभग 2 हजार केंद्रों पर 8 जनवरी को शिक्षक पात्रता परीक्षा (Teacher Elegibility Test) का आयोजन किया गया था. सामान्य और आरक्षित जातियों के लाखों अभ्यर्थियों ने दी है टीईटी (UPTET 2019) की परीक्षा.

  • Share this:
लखनऊ. शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET 2019) का रिजल्ट एक महीने के भीतर जारी कर दिया जाएगा. बेसिक शिक्षा विभाग (Basic Education) के मुताबिक 7 फरवरी या उससे पहले ही परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया जाएगा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के 1986 केंद्रों पर बुधवार को दो पालियों में परीक्षा कराई गई थी. इसमें बड़ी संख्या में अभ्यर्थी अनुपस्थित भी रहे थे. इसके बावजूद लाखों अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी, जिनकी कॉपी जांच में काफी टाइम लग सकता. लेकिन बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों ने बताया कि हर हाल में 7 फरवरी या उससे पहले टीईटी का रिजल्ट (UPTET result) जारी कर दिया जाएगा.

कौन होगा पास और कौन फेल
UPTET यूपी के बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में शिक्षक भर्ती में शामिल होने के लिए पात्रता परीक्षा है. इसे क्वालीफाई करने वाले अभ्यर्थी ही शिक्षक भर्ती परीक्षा में शामिल हो सकते हैं. इसलिए परीक्षा में पास होने के बाद अभ्यर्थियों को बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित कटऑप लाना होगा, इसके बाद ही उन्हें परीक्षा में पास माना जाएगा. आइए जानते हैं कि इस परीक्षा में कौन होगा पास और कौन होगा फेल?

- टीईटी एक पात्रता परीक्षा है, लिहाजा इसमें कोई मेरिट तय नहीं होती है, जैसा कि अन्य परिक्षाओं में होता है. इसमें जनरल और रिजर्व कैटेगरी के अभ्यर्थियों के लिए एक कटऑफ तय होता है, जिसे हासिल करने वाले इस परीक्षा को पास कर लेते हैं.
- सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए 60 फीसदी अंक लाना जरूरी है. यानी 150 अंक में से पास होने के लिए 90 नंबर उन्हें हासिल करने होंगे. दूसरी तरफ रिजर्व कैटेगरी के अभ्यर्थियों के लिए 55 फीसदी कट ऑफ तय किया गया है. यानी ऐसे अभ्यर्थियों को 82 नंबर हासिल करने पर ही पास माना जाएगा.



- टीईटी की दोनों ही पालियों में हुई परीक्षा में कुल 150 सवाल पूछे गए थे. सभी सवाल एक-एक नंबर के थे और निगेटिव मार्किंग नहीं थी. ऐसे में अभ्यर्थियों को ऊपर दिए गए कटऑफ के मुताबिक ही नंबर हासिल करने होंगे.

- पहली पाली में हुई परीक्षा प्राथमिक स्तर (कक्षा 1 से लेकर 5 तक) के स्कूलों में होने वाली शिक्षक भर्ती के लिए थी, जबकि दूसरी पाली में हुई परीक्षा जूनियर हाईस्कूल (कक्षा 6 से 8) में होने वाली शिक्षक भर्ती के लिए थी. प्रदेश के कुछ जिलों को छोड़कर बाकी प्रदेश में परीक्षा सकुशल संपन्न हो गई थी. अब रिजल्ट का इंतजार है.

ये भी पढ़ें -

यूपी में 'छपाक' पर राजनीतिः अखिलेश यादव बोले- सपा के लोग जरूर देखें फिल्म, लखनऊ में पूरा थियेटर किया बुक
अलीगढ़ में 'Chhapaak' का विरोध, दी चेतावनी- अगर फिल्म देखनी है तो बीमा करवा लें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज