Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    UP board result 2020: आज से जांची जाएंगी यूपी बोर्ड परीक्षा की कांपियां, सीसीटीवी कैमरे में होगी रिकार्डिंग

    कोरोना वायरस के चलते कॉपियों के मूल्यांकन का काम रोक दिया गया था.
    कोरोना वायरस के चलते कॉपियों के मूल्यांकन का काम रोक दिया गया था.

    प्रदेशभर में बनाए गए 275 केंद्रों पर करीब 1.47 लाख परीक्षक तीन करोड़ से ज्यादा कॉपियों को जांचेंगे. राजधानी लखनऊ में चार केन्द्र बनाए गए हैं.

    • News18Hindi
    • Last Updated: March 16, 2020, 11:46 AM IST
    • Share this:
    UP Board Result 2020: उत्तर प्रदेश में 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा की कांपियां आज से मतलब 16 मार्च से जांची जाएंगी. पूरे प्रदेशभर में बनाए गए 275 केंद्रों पर करीब 1.47 लाख परीक्षक तीन करोड़ से ज्यादा कॉपियों को जांचेंगे. राजधानी लखनऊ में चार केन्द्र बनाए गए हैं. यहां करीब 3500 शिक्षक कॉपी जांचेंगे.

    जुबली में जांची जाएंगी सर्वाधिक कॉपियां
    राजकीय जुबली इंटर कॉलेज में करीब एक लाख 60 हजार 24 कॉपीयां जांची जाएंगी. यहां 691 शिक्षकों को लगाया गया है. राजकीय इंटर कॉलेज हुसैनाबाद में 65 डीएचई, 566 शिक्षकों की देखरेख में एक लाख 41 हजार 136 कॉपियों जांची जाएंगी. राजकीय इंटर कॉलेज निशातगंज में एक लाख 17 हजार 525 कॉपियों को 764 शिक्षक जांचेंगे. अमीनाबाद इंटर कॉलेज में कुल दो लाख 47 हजार 129 कॉपियां जांची जाएंगी.

    बता दें कि मूल्यांकन के समय जिन अभ्यर्थियों की काॅपियों में 90 प्रतिशत या अधिक अंक मिलेंगे, उन अभ्यर्थियों की काॅपी डिप्टी हेड एग्जामिनर के सामने प्रस्तुत कि जाएंगी, जिसके बाद उनकी सहमति लेकर मूल्यांकन की पुष्टि कि जाएंगी.
    यूपी बोर्ड द्वारा मूल्यांकन केंद्र प्रभारी को भेजे गए निर्देशों जारी किया गया है, जिसके मुताबिक काॅपी जांच रहे हर एक परीक्षक को अंडरटेकिंग देनी होगी. इस बार यूपी बोर्ड की दसवीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 55 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों ने दी हैं. इन विद्यार्थियों की कॉपियों में अगर सही उत्तर कटा हुआ मिलेगा तो भी मूल्यांकन के दौरान उनको पूरे नंबर मिलेंगे.



    बोर्ड की गाइडलाइन के मुताबिक, अगर किसी विद्यार्थी के प्रश्न का हल कटा हुआ है, लेकिन वह शुद्ध और निर्धारित सीमा के भीतर है तो उसे नंबर मिलेंगे, क्योंकि कई बार विद्यार्थियों के हल को परीक्षा केंद्र पर किसी के द्वारा काट दिया जाता है.

    चार लाख छात्र-छात्राओं ने छोड़ी परीक्षा
    यूपी बोर्ड की परीक्षा को इस बार लगभग चार लाख से अधिक अभ्यर्थियों ने छोड़ दिया है. बोर्ड ने 10वीं, 12वीं की कॉपियों को CCTV कैमरे की निगरानी में चेक करने कि व्यवस्था की है. वहीं बोर्ड ने कॉपियों को चेक करने वाले परीक्षकों के मोबाइल फोन ले जाने पर रोक लगा दी है. बोर्ड ने परीक्षकों को चेतावनी दी है कि जो भी ओएमआर एवार्ड शीट लीक करेगा, उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

    एक दिन में 50 कॉपी ही चेक कर सकेंगे एग्जामिनर
    बोर्ड ने एग्जामिनर की मनमानी रोकने के लिए एक दिन में कापी चेक करने की सीमा तय कर दी है. इस सीमा के तहत 10वीं कक्षा की 50 आंसर शीट को चेक करने और 12वीं कक्षा कि 45 कॉपियों कि आंसर शीट को चेक करने की अनुमति है.

    ये भी पढ़ें- JEE Main April 2020: ऑनलाइन फॉर्म करेक्‍शन की आज आख‍िरी तारीख, जल्‍द जारी होगा एडम‍िट कार्ड
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज