UP Board 10th Result : रिजल्ट में हुआ 39 नंबर का फेर, RTI के दम पर टॉपर्स लिस्ट में बनाई जगह, पढ़िए अनूठी कहानी

UP Board 10th Result : रिजल्ट में हुआ 39 नंबर का फेर, RTI के दम पर टॉपर्स लिस्ट में बनाई जगह, पढ़िए अनूठी कहानी
मामला उन्नाव की यूपी बोर्ड की 10वीं क्लास की छात्रा का है.

UP Board 10th Result : विज्ञान (Science) की लिखित परीक्षा में 70 में से दिए गए 23 अंक, आरटीआई (RTI) से मिली जानकारी में 70 में से 62 अंक मिलने का पता लगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 22, 2020, 10:26 PM IST
  • Share this:
उन्नाव. परीक्षाओं में कई बार आपको किसी खास सब्जेक्ट में बेहद अच्छे नंबरों की उम्मीद होती है. मगर रिजल्ट आने के बाद अगर नंबर कम आते हैं तो मन मानने को तैयार नहीं होता. ऐसा लगता है कि पेपर की दोबारा चेकिंग होनी चाहिए क्योंकि जवाब तो बखूबी दिए थे. आमतौर पर ऐसा कम ही देखने में आता है कि रीचेकिंग में नंबरों पर कोई खास फर्क पड़े. मगर यूपी बोर्ड रिजल्ट (UP Board Result) में उन्नाव की एक छात्रा को जब ऐसी ही स्थिति का सामना करना पड़ा, तो न सिर्फ उसके रिजल्ट में 39 नंबर का फेर निकला, बल्कि फिर उसने टॉपर्स लिस्ट में भी जगह बना ली. आइए जानते हैं यूपी बोर्ड से जुड़ी इस अनूठी कहानी के बारे में.

मार्कशीट पर नहीं हुआ विश्वास
दरअसल, यूपी बोर्ड की साल 2018 (UP Board 2018) की दसवीं की परीक्षा का परिणाम जब सामने आया तो उन्नाव (Unnao) की तहसील बीघापुर के गांव अलावलपुर निवासी एके सिंह की बेटी आंचल को 600 में से 522 अंक हासिल हुए. मगर त्रिवेणी काशी इंटर कॉलेज की छात्रा आंचल को जब मार्कशीट प्राप्त हुई तो उसे अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हुआ. मार्कशीट में आंचल को विज्ञान की लिखित परीक्षा में 23 व प्रयोगात्मक परीक्षा में 30 अंक दिए गए थे.


स्क्रूटनी के लिए भरा फॉर्म, आरटीआई से मिली सफलता


विज्ञान की लिखित परीक्षा में उम्मीद से बेहद कम नंबर देखकर आंचल के पिता ने उत्तर पुस्तिका की स्क्रूटनी के लिए 7 मई 2018 को फॉर्म भर दिया. माध्यमिक शिक्षा सचिव बोर्ड कार्यालय से जांच कराने की मांग की गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई. पिता ने हार नहीं मानी और 30 मई को यूपी बोर्ड से आंचल की उत्तर पुस्तिकाएं दिखाने का आवेदन करने हेतु आरटीआई फाइल कर दी. मेहनत रंग लाई और 13 अगस्त को बोर्ड कार्यालय ने आंचल और उसके पिता को उत्तर पुस्तिका दिखाई.

ये भी पढ़ें
NIRF Ranking:ओवरआल रैंकिंग में IIT मद्रास नंबर1,देश के शीर्ष 3 कॉलेज दिल्ली के
स्कूल खुलने पर ऑड ईवन के साथ दो शिफ्टों में शुरू होगी पढ़ाई! जानें डिटेल

उत्तर पुस्तिका देखते ही चौंका गए आंचल और उसके पिता
आंचल और उसके पिता ने जैसे ही उत्तर पुस्तिका देखी, दोनों चौंक गए. दरअसल, आंचल को विज्ञान की लिखित परीक्षा में 70 में से 62 अंक मिले थे, जबकि मार्कशीट में उसके अंक 23 बताए गए थे. मतलब अंकों में 39 नंबर का फेर था. आंचल ने बोर्ड कार्यालय से दूसरी मार्कशीट जारी करने की मांग की, लेकिन उसे टाला जाता रहा. फिर 29 अगस्त को आंचल के पिता ने वकील की मदद से हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में बोर्ड कार्यालय के खिलाफ याचिका दायर कर दी. कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद बोर्ड कार्यालय की ओर से संशोधित मार्कशीट स्कूल भेजी गई और नई मार्कशीट के हिसाब से आंचल ने 600 में से 561 अंक हासिल कर प्रदेश की टॉप टेन लिस्ट में सातवें नंबर पर जगह बनाई.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज