अपना शहर चुनें

States

UP Board 12th Results 2020: आ गए यूपी बोर्ड 12वीं के रिजल्ट, जानें 10 खास बातें

इंटरमीडिएट (12वीं) में 74.63 फीसदी छात्र पास हुए हैं.
इंटरमीडिएट (12वीं) में 74.63 फीसदी छात्र पास हुए हैं.

UP Board 12th Results 2020: 10वीं और 12वीं के टॉपर एक ही स्कूल से हैं. इस वर्ष 10वीं और 12वीं दोनों का रिजल्ट पिछले साल से अच्छा रहा है. दोनों कक्षाओं में लड़कियों का रिजल्ट लड़कों से बेहतर रहा है. इस बार टॉपर्स को एक लाख रुपये और लैपटॉप का पुरस्कार दिया जाएगा.

  • Share this:
UP Board 12th Results 2020: यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटर रिजल्ट के रिजल्ट जारी हो चुके हैं. हाईस्कूल (10वीं) में 83.31 फीसदी और इंटरमीडिएट (12वीं) में 74.63 फीसदी छात्र पास हुए हैं. यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं में बागपत के छात्र-छात्रा ने टॉप किया है. बागपत की रिया जैन 96.67 प्रतिशत अंकों के साथ टॉपर रहीं. वहीं, 12वीं में अनुराग मलिक ने 97 % अंकों के साथ टॉप किया है. छात्र अपना रिजल्ट upmsp.edu.in, upresults.nic.in और upmspresults.up.nic.in पर देख सकते हैं. आइए जानते हैं यूपी बोर्ड रिजल्ट की 10 खास बातें:-

1## 10वीं और 12वीं के टॉपर एक ही स्कूल के, मिलेगा 1 लाख का इनाम
10वीं और 12वीं के टॉपर एक ही स्कूल से हैं. इस वर्ष 10वीं और 12वीं दोनों का रिजल्ट पिछले साल से अच्छा रहा है. दोनों कक्षाओं में लड़कियों का रिजल्ट लड़कों से बेहतर रहा है. इस बार टॉपर्स को एक लाख रुपये और लैपटॉप का पुरस्कार दिया जाएगा.

2## हाईस्कूल के टॉपर
पहले नंबर पर- बड़ौत-बागपत की रिया जैन ने 96.67 फीसदी मार्क्स के साथ टॉप किया है.


दूसरे नंबर पर- बाराबंकी के रहने वाले अभिमन्यु वर्मा ने 95.83 फीसदी मार्क्स के साथ दूसरे टॉपर हैं.
तीसरे नंबर पर- बाराबंकी के ही योगेश प्रताप सिंह 95.33 मार्क्स के साथ तीसरे टॉपर बने हैं.

3##इंटरमीडिएट के टॉपर
पहले नंबर पर- बागपत के अनुराग मलिक ने परीक्षा में टॉप किया है. उनके 97% मार्क्स आए हैं.
दूसरे नंबर पर- प्रयागराज के प्रांजल सिंह ने 96% अंक हासिल कर सेंकड टॉपर बने हैं.
तीसरे नंबर पर- औरैया के उत्कर्ष शुक्ला 94.80% अंकों के साथ थर्ड टॉपर हैं.

4## 25.86 लाख छात्रों ने दी थी परीक्षा
12वीं बोर्ड की परीक्षा में करीब 25.86 लाख स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया था. इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से लगाए गए लॉकडाउन की वजह से कॉपियों का मूल्यांकन देर से हुआ, जिसकी वजह से रिजल्ट लगभग एक महीने की देरी से जारी हुआ.

5## पहली बार हुईं ये चीजें
इस साल यूपी बोर्ड की परीक्षा में कुछ चीजें पहली बार हुईं. पहली बार पांच जिलों में सिलाई वाली कॉपी से परीक्षा कराई गई. 12वीं की कॉपियों की लाइनें चार अलग-अलग रंगों में थी. इंटर में एक विषय में फेल छात्रों को कम्पार्टमेंट देकर पास होने का मौका दिया गया. इस बार ऑनलाइन से स्क्रूटनी के आवेदन लिए जाएंगे. बोर्ड ने इस बार छात्रों में तनाव दूर करने के लिए टोल फ्री नंबर भी जारी किया था. वहीं, सूचनाओं की जानकारी के लिए वॉट्सऐप ग्रुप बनाए गए थे.

6## पहली बार मिलेगी डि़जिटल मार्कशीट
राजधानी लखनऊ स्थित लोकभवन में UP Board Result 2020 की जानकारी देते हुए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने बताया कि इस बार छात्रों को डिजिटल मार्कशीट दी जाएगी. उन्होंने बताया कि तीन दिन में यानी 1 जुलाई से अभ्यर्थियों को उनकी डिजिटल मार्कशीट मिलने लगेगी.बताय गया कि UP Board के छात्र अपनी Digital Marksheet स्कूलों से ले सकेंगे. स्कूल के प्रिंसिपल की दस्तखत के बाद वह रिजल्ट मान्य हो जाएगा.

7##कंपार्टमेंट एग्जाम दे सकते हैं छात्र
यूपी बोर्ड का एक और नियम छात्रों के लिए बेहद अहम है. इसके अनुसार इंटर में छात्र अब से कंपार्टमेंट एग्जाम दे सकते हैं. यूपी बोर्ड परीक्षा में कम अंक लाने वाले स्टूडेंट्स को अधिकतक 8 नंबर तक ग्रेस दिया जा सकता है. लेकिन ग्रेस नंबर देने के बाद भी छात्र पास होने लायक नंबर नहीं ला पाता है तो उसे फेल स्टूडेंट्स की श्रेणी में रख दिया जाएगा. 1 सब्जेक्ट में फेल वाले छात्र दोबारा एग्जाम दे सकेंगे.

8##जेल में बंद 10 फीसदी ज्यादा कैदी हुए पास
इस बार बोर्ड परीक्षा में जेल में बंद कैदियों का प्रदर्शन पिछले साल की तुलना में बेहतर रहा. सामान्य छात्रों के मुकाबले जेल में बंद 10 फीसदी ज्यादा कैदी पास हुए हैं. हाई-स्कूल इंटर दोनों में उनका रिजल्ट 10% ज्यादा रहा है.

9##100 से अधिक फ्लाइंग दस्तों ने की थी परीक्षा की निगरानी
इस साल यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं परीक्षा में किसी भी गड़बड़ी से बचने के लिए परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरा, वायस रिकॉर्डर, ब्राडबैंड, राउटर जैसी टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया गया था. इसके अलावा 100 से अधिक फ्लाइंग दस्तों ने इन बोर्ड परीक्षाओं पर कड़ी निगरानी रखी थी.

10##कोरोना काल में यूपी बोर्ड ने पूरी कराईं सभी परीक्षाएं
ऐसे मौके पर जब सीबीएसई और आईसीएसई जैसे राष्ट्रीय बोर्ड अपनी परीक्षाएं पूरी नहीं करा पाएं हैं. यूपी बोर्ड ने न सिर्फ परीक्षाएं पूरी कराई हैं, बल्कि 56 लाख छात्रों की 3.5 करोड़ कॉपियां भी चेक करवाने का काम बखूबी पूरा किया है.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज