• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • UP Board Exam Latest Update: कक्षा 12वीं के लिये हो सकती है कंपार्टमेंटल परीक्षा, पढ़ें क्‍या है प्रस्‍ताव

UP Board Exam Latest Update: कक्षा 12वीं के लिये हो सकती है कंपार्टमेंटल परीक्षा, पढ़ें क्‍या है प्रस्‍ताव

यूपी बोर्ड के 12वीं के छात्रों के ल‍िये खुशखबरी. हो सकती है कंपार्टमेंटल परीक्षा

यूपी बोर्ड के 12वीं के छात्रों के ल‍िये खुशखबरी. हो सकती है कंपार्टमेंटल परीक्षा

UP Board Class 12 exams 2020: साल 2019 में 6.69 लाख छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी थी. जबकि साल 2018 के शैक्षणिक सत्र में बोर्ड एग्‍जाम के लिये रजिस्‍ट्रेशन करने वाले 12वीं के 11 लाख छात्रों ने एग्‍जाम छोड़ दिया.

  • Share this:
    UP Board intermediate class 12 exam 2020: उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा परिषद(UPMSP) या यूपी बोर्ड (UP Board) ने कक्षा 12वीं के लिये कंपार्टमेंटल परीक्षा (class 12 board compartmental exams 2020) आयोजित करने का प्रस्‍ताव दिया है. सूत्रों की मानें तो इस प्रस्‍ताव पर फिलहाल विचार चल रहा है और अगर इसे मान लिया जाता है तो इसे इसी सत्र (साल 2020) में होने वाली परीक्षा से लागू कर दिया जाएगा. इसके तहत, उन छात्रों को परीक्षा देने का दूसरा मौका मिलेगा, जो एक या एक से ज्‍यादा विषयों में फेल हो जाते हैं.

    हालांकि 10वीं कक्षा के छात्रों के लिये बोर्ड (UP Board) पहले से ही कंपार्टमेंटल परीक्षा आयोजित करता रहा है और इसे आगे भी जारी रखा जाएगा. यूपी बोर्ड के इस प्रस्‍ताव का असर उन 25.86 लाख छात्रों पर होगा, जो यूपी बोर्ड 12वीं परीक्षा 2020 (UP Board class 12 exam 2020) में शामिल होने जा रहे हैं. दरअसल, इसके जरिये उन छात्रों को परीक्षा देने के लिये प्रोत्‍साहित किया जाएगा, जो तैयारी पूरी ना होने के कारण या फेल होने के डर से परीक्षा (UP Board inter exams) में नहीं बैठते हैं.

    बता दें कि साल 2019 में बोर्ड परीक्षा के लिये रजिस्‍ट्रेशन कराने वाले छात्रों में से 6,69,860 स्‍टूडेंट्स ने बोर्ड परीक्षा नहीं दी थी. साल 2018 में 11 लाख उम्‍मीदवारों ने परीक्षा नहीं दी.

    सुरक्षा के कड़े इंतजाम:
    चीटिंग रोकने के लिये और सुरक्षा की दृष्‍ट‍ि से इस साल बोर्ड परीक्षाओं में, UPMSP परीक्षा केंद्रों की निगरानी के लिए वेबकास्टिंग या लाइव की व्‍यवस्‍था की गई है. इसके तहत हर जिले में एक रिसोर्स सेंटर होगा, जहां से परीक्षा की निगरानी की जाएगी और किसी भी संदेहात्‍मक गतिविधि पर अलर्ट जारी किया जाएगा.

    इसके अलावा बोर्ड एक राज्‍य स्‍तरीय मोनिटरिंग सेंटर के बारे में भी योजना बना रहा है. हालांकि इसे लेकर अभी तक कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है. चीटिंग रोकने के लिये और सुरक्षा सुनिश्‍च‍ित करने के लिये, बोर्ड पहले ही CCTV कैमरा, वॉइस रिकॉर्डर और स्‍पेशन टास्‍क फोर्स (STF) की व्‍यवस्‍था करता रहा है.

    बता दें कि पिछले साल के मुकाबले इस बार री-वैल्‍यूएशन फीस में पांच गुना की बढ़ोतरी की गई है. यानी अगर छात्र एक विषय के पेपर को री-वैल्‍यूएशन के लिये देता है तो उसे 100 रुपये की बजाय 500 रुपये देना होगा. इस साल कुल 56,11,689 छात्रों ने परीक्षा (UP Board exams) के लिये आवेदन किया है. इसमें से 30,25,442 छात्र, 10वीं की परीक्षा देंगे और 25,86,246 छात्र 12वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल होंगे.

    यह भी पढ़ें:

    UP Board exam 2019: बनारस के इन केंद्रो पर हुई गड़बड़ी, छात्राओं के लिए अलॉट करना था सेंटर, कर दिया छात्रों को

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज