लाइव टीवी

UP Board Exam 2020: नकल पर नकेल के लिए अब सीरियल नंबर के साथ 4 रंगों में Answer Sheet

Prashant Pandey | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 8, 2020, 4:13 PM IST
UP Board Exam 2020: नकल पर नकेल के लिए अब सीरियल नंबर के साथ 4 रंगों में Answer Sheet
यूपी बोर्ड ने इस बार बड़ा बदलाव करते हुए चार रंग की आंसर शीट छात्रों को देने का फैसला किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इस बार उत्तर पुस्तिकाएं में क्रमांक (Serial Number) दर्ज होगा, यही नहीं उत्तर पुस्तिकाएं चार रंगों में रहेंगीं. बोर्ड परीक्षा की कॉपियां गुलाबी, पीले, हरे व नीले रंग की होंगी.

  • Share this:
UP Board Exam 2020:  उत्तर प्रदेश में बोर्ड परीक्षाओं (UP Board Examination 2020) को लेकर लगातार बड़े बदलावों का दौर जारी है. इसी क्रम में अब नकल पर नकेल कसने और उत्तर पुस्तिका (Answer Sheet) बदलने के खेल पर नियंत्रण लगाने के लिए बड़ा फैसला किया गया है. उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इस बार उत्तर पुस्तिकाएं में क्रमांक (Serial Number) दर्ज होगा, यही नहीं उत्तर पुस्तिकाएं चार रंगों में रहेंगीं. बोर्ड परीक्षा की कॉपियां गुलाबी, पीले, हरे व नीले रंग की होंगी.

18 फरवरी से 7784 परीक्षा केन्द्रों पर शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षा के लिए राज्य स्तरीय कंट्रोल एवं मॉनिटरिंग सेंटर (Control and Monitoring Center) का शुभारंभ डॉ. दिनेश शर्मा (Dr. Dinesh Sharma) ने शुक्रवार को माध्यमिक शिक्षा के शिविर निदेशालय (Directorate of Secondary Education) में किया. बता दें कि इस बार हाई-स्कूल (high-school) की परीक्षाएं कुल 12 कार्य दिवसों में पूरी होकर दिनांक 3 मार्च और इंटरमीडिएट (Intermediate) की परीक्षाएं कुल 15 कार्य दिवसों में संपादित होकर दिनांक 6 मार्च को समाप्त होंगी.

आधार नंबर के कारण घट गए परीक्षार्थी!
आंकड़ों के मुताबिक वर्ष 2020 में बोर्ड परीक्षा में हाई स्कूल में कुल 30 लाख 22,607 एवं इंटरमीडिएट में कुल 25 लाख 84,511 छात्र सम्मिलित होंगे. सम्मिलित हो रहे कुल 56 लाख 7,118 परीक्षार्थियों में से 55 लाख 16,787 संस्थागत और 90,331 व्यक्तिगत परीक्षार्थी शामिल हैं. आधार नंबर के साथ ऑनलाइन अग्रिम पंजीकरण कराने से व्यक्तिगत परीक्षार्थियों की संख्या काफी घटी है. इस वर्ष यह मात्र 90,331 रह गई जबकि 2017 में यह संख्या 3 लाख 53 हजार 106 थी. बाहरी प्रदेशों से 2017 में पंजीकरण कराने वाले एक लाख 50,209 परीक्षार्थियों के स्थान पर वर्ष 2020 में परीक्षार्थियों की संख्या मात्र 5946 रह गई है.



मूल्यांकन की अवधि भी कम की गई
आंकड़ों के अनुसार नकल रोकने के लिए किए गए प्रयासों के कारण वर्ष 2018 में नकल के 3223 प्रकरण प्रकाश में आए थे, जबकि वर्ष 2019 में मात्र 1182 प्रकरण ही सामने आए. 2018 में 12.25 लाख वर्ष 2019 में 6.69 लाख परीक्षार्थियों द्वारा परीक्षा छोड़ी गई थी. इसी प्रकार पूर्व में सूबे में 12 हजार से भी अधिक केंद्र बनते थे. किंतु ऑनलाइन केंद्र बनाने से वर्ष 2020 की परीक्षा में 7784 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं. मूल्यांकन की अवधि भी कम की गई है ताकि परीक्षा परिणाम शीघ्र घोषित किए जा सके इससे परीक्षार्थियों को प्रदेश के बाहर प्रवेश/ प्रतियोगिता में सम्मिलित होने के अवसर मिलेंगे. वर्ष 2019 में परीक्षा परिणाम 27 अप्रैल 2019 को घोषित किया गया था तथा 2020 की बोर्ड की परीक्षा का परिणाम 24 अप्रैल को घोषित किया जाना प्रस्तावित है.

डॉ. दिनेश शर्मा ने कंट्रोल रूम का किया उद्घाटन
2020 की बोर्ड परीक्षा को शुचिता पूर्ण नकल विहीन कराने के लिए. राज्य स्तर पर प्रत्येक जनपद पर कंट्रोल रूम एवं मॉनिटरिंग सेंटर की स्थापना की गई है जिसमें 60 कार्मिक एवं 7 कंप्यूटर स्थापित किए गए हैं. इसकी लाइव मॉनिटरिंग की जा सकेगी. सेंटर पर किसी भी प्रकार की समस्याओं के लिए दो हेल्पलाइन नंबर 1800180 6607 व 052222 39198 भी स्थापित किए गए हैं. इन नंबर पर प्रातः 7:00 बजे से सायं 7:00 बजे की अवधि में शिकायतें दर्ज कराई जा सकती हैं. boardexam2020up@gmail.com ई-मेल पर भी शिकायत की जा सकती है. इसका 24 घंटे के अंदर कार्रवाई करके संबंधित उत्तर प्रेषित किया जाना अनिवार्य होगा.

प्रश्न पत्रों को खोलने का काम सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में किया जाएगा. संकलन केंद्रों पर स्ट्रांग रूम पर 24 घंटे निगरानी के लिए सशस्त्र बल और सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था की गई है. परीक्षा केंद्रों के आसपास 100 मीटर की परिधि में व आवश्यकता पड़ने पर उसके बाहर भी समाज विरोधी तत्वों को एकत्र न होने देने व धारा 144 लागू करने सहित अन्य सभी एहतियाती उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं.

18 संवेदनशील जिलों में सिली हुई उत्तर पुस्तिकाएं दी जाएंगीं
2020 की बोर्ड परीक्षा में उत्तर पुस्तिकाओं का कवर पृष्ठ को बदलने अथवा उत्तर पुस्तिकाओं को बाहर लिखी हुई अन्य उत्तर पुस्तिकाएं बदलने की संभावनाओं आदि पर प्रभावी नियंत्रण लिए संपूर्ण प्रदेश में क्रमांक (Serial Number) के साथ  उत्तर पुस्तिकाओं की व्यवस्था की गई है. इस वर्ष पहली बार 4 रंगों की उत्तर पत्रिका का प्रयोग भी किया जाएगा. लगभग 18 संवेदनशील जिलों में सिली हुई उत्तर पुस्तिकाएं भी उपयोग की जाएंगी.

ये भी पढ़ें:
18 फरवरी से शुरू हो जाएंगे UP Board Examination, तैयारियां पूरी...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इलाहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 8, 2020, 11:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर