अपना शहर चुनें

States

UP Board Result 2019 Date and Time:रिजल्‍ट आने के बाद तेलंगाना में 20 छात्रों ने की आत्‍महत्‍या,यूपी बोर्ड का भी आ रहा है रिजल्‍ट -बच्‍चों का ऐसे रखें ध्‍यान

UP Board result
UP Board result

UP Board 10th, 12th Result 2019: नागेंद्र के माता-पिता ने बताया कि वह पढ़ाई में बहुत अच्‍छा था. रिजल्‍ट खराब होने के कारण वह अकेला और कटा-कटा रहता था. उसे लगा कि रिजल्‍ट खराब होने के बाद अब उसका करियर खत्‍म हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2019, 5:57 PM IST
  • Share this:
UP Board Result 2019 Date and Time: गुरुवार की सुबह एक दुखद खबर के साथ हुई. दरअसल तेलंगाना में एक सप्‍ताह पहले जारी हुए इंटरमीडिएट के रिजल्‍ट के बाद से अब तक 20 छात्रों ने सुसाइड कर ली है. परिणाम खराब होने का तनाव नहीं झेल पाने की वजह से छात्रों ने ये रास्‍ता चुना. परीक्षा में भाग लेने वाले 9 लाख से ज्‍यादा छात्रों में करीब सवा तीन लाख छात्र फेल हो गए हैं. फेल हुए इन छात्रों में कई ऐसे भी हैं, जिनका प्रदर्शन हमेशा अव्‍वल रहा है.

आत्‍महत्‍या करने वाले छात्र जी नागेंद्र के माता-पिता ने बताया कि वह पढ़ाई में बहुत अच्‍छा था. रिजल्‍ट खराब होने के कारण वह अकेला और कटा-कटा रहता था. उसे लगा कि रिजल्‍ट खराब होने के बाद अब उसका करियर खत्‍म हो गया है. उन स्‍थितियों से लड़ने के बजाए ये अपनी जिंदगी खत्‍म कर ली.

UP Board result




UP Board result

आने वाले हैं यूपी बोर्ड के नतीजे


तेलंगाना बोर्ड के नतीजे 18 अप्रैल को जारी किए गए थे.इसके बाद 20 छात्रों ने आत्‍महत्‍या कर ली.अब 27 अप्रैल को यूपी बोर्ड के नतीजे आने वाले हैं. ऐसे में अगर आपके बच्‍चे ने भी बोर्ड परीक्षा दी है तो उन गतिवधियों पर नजर रखें. लगातार काउंसिलिंग करते रहें. साथ ही उन्‍हें समझाएं ये जरूरी बातें.

करियर की शुरुआत- सबसे पहले तो पैरेंट्स बच्‍चों को समझाएं कि ये करियर की शुरुआत है. बोर्ड रिजल्ट आपकी करियर की दिशा तय नहीं करेंगा. वह सिर्फ एक जरिया हो सकता है. कुछ वक्‍त बाद कोई ध्‍यान नहीं रखेगा कि आपके बोर्ड में कितने मार्क्‍स आए थे. कोई याद रखेगा तो सिर्फ मौजूदा स्‍थिति में आप क्‍या हैं?

आगे की सोचें- आपके सामने जो रिजल्‍ट आ चुका है. उसको लेकर अब सोचते न रहें.आगे के बारे में सोचें. इस पर विचार करें कि अब आने वाले दिनों में आपको कैसे और क्‍या करना है? कैसे आगे बढना है?

तुलना न करें-पैरेंट्स को जो बात ध्‍यान देनी है, वो ये है कि बच्‍चे की तुलना बिल्‍कुल भी न करें. परीक्षा में अच्छा करने वाले बच्चों की मिसाल देकर अपने बच्चे को और हतोत्साहित और निराश करना गलत है.

आत्‍मविश्‍वास बढ़ाएं- बच्‍चे को नीचा न दिखाएं. इससे आपके बच्चे का आत्मविश्वास का स्तर और घटेगा. ऐसी स्थिति में उन्हें समझाएं कि एक असफलता उनका करियर का फैसला नहीं कर सकती. भविष्य की ओर देखें, बीते हुए की ओर नहीं.

हर किसी में एक हुनर- सबसे अंत में लेकिन बेहद जरूरी बात कि हर बच्‍चे में कोई न कोई हुनर जरूर होता है. अगर वो पढ़ाई में बेहतर नहीं होगा तो किसी न किसी क्षेत्र में जरूर अच्‍छा प्रदर्शन करेगा.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज