अपना शहर चुनें

States

UP Board Result 2019: खराब रिजल्ट के बाद जिंदगी को अलविदा कहने की जरूरत नहीं क्योंकि पास होने के कई रास्ते हैं

प्रतीकात्मक फोटो.
प्रतीकात्मक फोटो.

अर्चना शुक्ला कहती हैं कि अवसाद के शिकार हुए छात्र अपनी जीवन लीला तक समाप्त कर लेते हैं. रिजल्ट के बाद असफल छात्र डिप्रेशन में तले जाते हैं. ऐसे हालात में अच्छी काउंसलिंग की जरूरत होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2019, 9:30 AM IST
  • Share this:
यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं का रिजल्ट शनिवार यानी 27 अप्रैल 2019 को दोपहर साढ़े 12 बजे घोषित करेगा. वहीं आने वाले वक्त में कुछ छात्रों के चेहरे खिले होंगे और कुछ निराश. लेकिन नतीजे घोषित होने के बाद कुछ असफल छात्र आत्महत्या और इसका प्रयास कर लेते हैं. पहले भी इस तरह की तमाम घटनाएं सामने आ चुकी है. इस मामले में न्यूज18 से खास बातचीत में लखनऊ की मनोचिकित्सक डॉ अर्चना शुक्ला ने बताया कि रिजल्‍ट आने के बाद छात्र काफी डिप्रेशन में चला जाता हैं. अर्चना शुक्ला कहती हैं कि अवसाद के शिकार हुए छात्र अपनी जीवन लीला तक समाप्त कर लेते हैं. रिजल्ट के बाद असफल छात्र डिप्रेशन में तले जाते हैं. ऐसे हालात में अच्छी काउंसलिंग की जरूरत होती है.

5 साल में हमने खोए 40 हजार युवा

देश में युवाओं की आत्महत्या के आंकड़े इतने भयावह है, जो एक गंभीर चिंता का विषय है. बीते 5 साल में देश में 39,775 छात्रों ने आत्महत्या कर चुके हैं. 2012 की लैन्सेट रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में 15 से 29 साल आयु वर्ग में सबसे ज्यादा आत्महत्या की दर भारत में है. रिपोर्ट के मुताबिक इस समस्या का समाधान करना बेहद जरूरी है. (यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें).



क्यों उठा रहे हैं खौफनाक कदम
साल 2015 में हुई आत्महत्या के कारणों पर नजर डालें तो परीक्षाओं में फेल होने के कारण 2646 लोगों ने आत्महत्या की थी. इसके अलावा प्रेम प्रसंग के कारण भी 4476 लोगों ने अपनी जिंदगी को खत्म कर लिया. बेरोजगारी के कारण देश में करीब 2723 और प्रोफेशनल जिंदगी में हताशा के चलते 1590 लोगों ने अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया था. ये सभी मुद्दे वो हैं, जो प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से सीधे युवा और छात्रों से संबंधित हैं.

ये भी पढ़ें:

UP Board Result 2019: इंटर के बाद देश- विदेश में कैसे मिल सकता है पढ़ाई का मौका

UP Board Result 2019: देश के सबसे बड़े हिन्‍दीभाषी प्रदेश में 11 लाख से ज्यादा छात्र हुए थे हिन्‍दी में फेल

UP Board Result 2019: जॉब करते हुए कैसे कर सकते है आगे की पढ़ाई

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज