लाइव टीवी

UP Board Result 2019: 12वीं में इस वजह से फेल हुए 30% छात्र

News18Hindi
Updated: April 28, 2019, 3:29 PM IST
UP Board Result 2019: 12वीं में इस वजह से फेल हुए 30% छात्र
UP board 12th result 2019 में 30 प्रतिशत छात्र फेल हुए हैं. आइए जानते हैं आखिर क्यों इतनी बड़ी संख्या में फेल हुए छात्र...

UP board 12th result 2019 में 30 प्रतिशत छात्र फेल हुए हैं. आइए जानते हैं आखिर क्यों इतनी बड़ी संख्या में फेल हुए छात्र...

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2019, 3:29 PM IST
  • Share this:
UP board result 2019: यूपी बोर्ड ने शनिवार को के 10वीं और 12वीं के रिजल्ट घोषित किए. नतीजे जारी होते ही कई छात्रों के हाथ सफलता लगी, तो कुछ इस बार कामयाब नहीं हो पाए. UP board 12th result 2019 में 30 प्रतिशत छात्र फेल हुए हैं. आइए जानते हैं आखिर क्यों इतनी बड़ी संख्या में फेल हुए छात्र...

यूपी बोर्ड ने पहली बार इंटरमीडिएट के मुख्य विषयों की परीक्षा में दो की जगह एक पेपर की परीक्षा का प्रयोग किया. लेकिन बोर्ड के इस प्रयोग से 12वीं के नतीजों में कमी आ गई. खुद यूपी बोर्ड ने ये माना कि दो की जगह एक पेपर के प्रयोग से नतीजों पर असर पड़ा है. दरअसल, बोर्ड ने ऐसा इसलिए किया ताकि परीक्षा में लगने वाले छात्र के अत्यधिक समय और दबाव को कम किया जा सके. लेकिन पहली बार किए गए 1 पेपर के प्रयोग का परिणाम पर असर पड़ा है.

UP Board Result 2019: हाईस्कूल टॉपर ने कहा- मंजिल को पाने के लिए उसकी भूख भी जरूरी

यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में हिन्दी, अंग्रेजी, गणित, भौतिक, रसायन और जीव विज्ञान समेत अन्य महत्वपूर्ण विषयों के इससे पहले तक दो पेपर हुआ करते थे. लेकिन यूपी बोर्ड ने पहली बार पाठ्यक्रम को दो से एक पेपर में समाहित कर दिया जिससे कि छात्र-छात्राओं की सफलता पर असर पड़ा. साल 2018 के 308 प्रश्नपत्रों के मुकाबले इस बार साल 2019 में 269 प्रश्नपत्रों में परीक्षा हुई. यानी इस साल 39 प्रश्नपत्र कम हो गए.

12th में नंबर कम आने पर DU में एडमिशन न मिले तो इन यूनिवर्सिटी में करें ट्राई

यूपी बोर्ड 12वीं में कुल 106 विषयों में से 105 विषयों की लिखित परीक्षा लेता है. इन विषयों के कुल 308 प्रश्नपत्र होते थे. जबकि एक विषय खेल एवं शारीरिक शिक्षा की परीक्षा स्कूल अपने स्तर पर लेते हैं. इन 105 विषयों में से व्यावसायिक शिक्षा के कुल 41 ट्रेड्स विषय भी शामिल हैं. 2019 की इंटरमीडिएट परीक्षा में व्यावसायिक वर्ग के कुल 41 ट्रेड्स विषयों और कृषि वर्ग को छोड़कर बाकी के सभी वर्गों एवं सभी विषयों में दो प्रश्नपत्र के स्थान पर एक प्रश्नपत्र से परीक्षा आयोजित कराई गई.

UP Board Result 2019: जब यूपी के 150 स्कूलों में सभी छात्र हुए थे फेल
Loading...

एक ही पेपर में पूरे कोर्स से सवाल पूछने की वजह से उन छात्र-छात्राओं को झटका लगा जिनकी तैयारी में कमी थी. अगर यूपी बोर्ड ऐसा कदम नहीं उठाता तो हाईस्कूल के सफलता के परिणामों में वृद्धि की ही तरह 12वीं के भी नतीजे होते. अब बोर्ड को उम्मीद है कि अगले साल से परीक्षार्थी नई व्यवस्था से परिचित हो जाएंगे जिससे रिजल्ट में सुधार आएगा.

करियर और जॉब्स से संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 28, 2019, 3:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर