अपना शहर चुनें

States

UP board result 2019: कहीं 1992 की याद न दिला दे इस बार का रिजल्ट, जानिए क्या हुआ था उस साल

यूपी बोर्ड
यूपी बोर्ड

UP Board Result 2019 Date and Time (यूपी बोर्ड रिजल्ट २०१९ डेट): यूपी बोर्ड के नतीजे 27 अप्रैल को जारी हो रहे हैं . छात्र अपनी तैयारी रखें.

  • Share this:
साल 2019 के सभी राज्यों के बोर्ड रिजल्ट आने शुरू हो गए हैं. बिहार, तेलंगाना, तमिलनाडू और आंध्र प्रदेश बोर्ड के रिजल्ट आ चुके हैं. यूपी, सीबीएसई, राज्सथान, एमपी, हिमाचल प्रदेश इत्यादि बोर्ड के रिजल्ट आने बाकी हैं.

यूपी बोर्ड 2019 का रिजल्ट 27 अप्रैल के बीच आने की संभावना है. रिजल्ट घोषित होने के साथ ही पिछले सालों के रिजल्ट से तुलना भी की जाती है. इसी के तहत आइए जानते हैं साल 1992 के रिजल्ट का हाल.

कल्याण सिंह सरकार के कार्यकाल में हुई थी वो परीक्षा
यूपी बोर्ड की 2018 और 2019 की 10वीं और 12वीं की परीक्षा में हुई कड़ाई ने कल्याण सिंह सरकार के कार्यकाल में 1992 में हुई परीक्षा की यादें ताजा कर दी थी. 1992 में कल्याण सिंह मुख्यमंत्री थे. उन्होंने नकल विहीन परीक्षा कराने के आदेश जारी किए थे.
ये भी पढ़ें- UP Board Result 2019: इस दिन पता चलेगा कब होगी रिजल्‍ट की घोषणा



मोहल्ले में एक-दो छात्र पास
इसी आदेश की वजह से हाईस्कूल में केवल 14.70 फीसदी, जबकि इंटर में 30.30 प्रतिशत छात्र-छात्राएं पास हुए थे. साल 1992 में हाईस्कूल के रिजल्ट के बाद आलम यह था कि पूरे मोहल्ले में खोजने से मुश्किल से कोई एक-दो छात्र पास मिलते थे. जिनके एक भी छात्र 10वीं पास नहीं कर पाये थे, ऐसे स्कूलों की संख्या 1992 में बहुत अधिक थी.

ये भी पढ़ें- एजुकेशन लोन लेने जा रहे हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर, आएगी बेहद काम

पहले थे काफी सख्त नियम
राहत की बात यह है कि पिछले 25 सालों में बोर्ड के नियमों में बहुत अधिक बदलाव होने के कारण 1992 जैसे 20 प्रतिशत से कम रिजल्ट आने के आसार नहीं हैं. 1992 में नियम इतना सख्त था कि हाईस्कूल के छह विषयों में से किसी एक विषय में फेल होने पर परीक्षार्थी फेल कर दिया जाता था, लेकिन इस समय यूपी बोर्ड का नियम यह है कि 6 में से 5 विषय में पास होने पर ही विद्यार्थी को पास कर दिया जाता है.

इस नियम से बड़ी संख्या में विद्यार्थियों को राहत मिलने के आसार हैं. इसके अलावा 1992 में कुल 5 नंबर का ग्रेस मार्क्स सिर्फ दो विषयों में मिलता था. अब इंटर में 20 और हाईस्कूल में 18 नंबर का ग्रेस मार्क्स सभी विषयों में मिलाकर मिलता है. इन नियमों के कारण चार-पांच नंबर से फेल हो रहे विद्यार्थी आसानी से पास हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें- UP Board Result 2019: पास होने के लिए जरूरी होंगे इतने % नंबर

12th में नंबर कम आने पर DU में एडमिशन न मिले तो इन यूनिवर्सिटी में करें ट्राई

अपना स्‍कोर आसानी से चेक करने और सबसे पहले रिजल्‍ट देखने के लिए hindi.news18.com पर जाएं.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज