UP Board Result 2019: रिजल्ट से पहले क्या है छात्रों को Experts की राय

up board results 2019: काउंसलर एक्सपर्ट अजीत बनर्जी ने बताया कि बच्चों को जानने अथवा उन्हें भली-भांति समझने के लिए भी कई तरह की काउंसलिंग की जरूरत पड़ती है.

News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 12:36 PM IST
UP Board Result 2019: रिजल्ट से पहले क्या है छात्रों को Experts की राय
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: April 27, 2019, 12:36 PM IST
UP Board Result 2019: उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं का रिज़ल्ट आज 27 अप्रैल यानी शनिवार को 1 बजे और 10वीं का रिज़ल्ट 1.30 बजे घोष‍ित करेगा. लेकिन रिजल्ट से पहले किसी आशंका के डर की वजह से छात्रों को अपना मनोबल नहीं खोना चाहिए. ऐसा कहना हैं लखनऊ के जाने-माने काउंसलर एक्सपर्ट अजीत बनर्जी का. अजीत बनर्जी कहते हैं कि हम लोग छात्र-छात्राओं के एकेडमिक, एग्जाम तथा करियर से जुड़ी समस्याओं का समाधान करते हैं. न्यूज18 से खास बातचीत में बताया कि नतीजे आते जाते रहते है, आपको हमेशा प्रयास करते रहना चाहिए. असफल छात्रों को टिप्स देते हुए हुए उन्होंने कहा कि मेहनत करते रहिए, हिम्मत मत छोड़िए, एक दिन आपको सफलता जरूर मिलेगी.

(यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के नतीजे सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें) 


यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019

यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019



बनर्जी ने कहा कि असफल छात्र परेशान मत हो क्योकि बहुत से रास्ते है जीवन में आगे बढने के. इसके अलावा भी कई ऐसी परेशानियां हैं, जो बच्चों को अंदर ही अंदर खाए जा रही है और उनका जिक्र लोग घर में या अभिभावकों से नहीं करना चाहते. ऐसे में आप एक्सपर्ट से राय जरूर ले. काउंसलर एक्सपर्ट अजीत बनर्जी ने बताया कि बच्चों को जानने अथवा उन्हें भली भांति समझने के लिए भी कई तरह की काउंसलिंग की जरूरत पड़ती है. चाइल्ड काउंसलर बच्चों की हरकतों को परख कर उनके बारे में सहज ही अंदाजा लगा लेते हैं कि उनकी आगे चलकर किसमें रुचि होगी.

गौरतलब है कि उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड ने Class 10 का एग्जाम 7 फरवरी से 28 फरवरी के बीच आयोजित कराया था, जबकि Class 12 का एग्जाम 7 फरवरी से 2 मार्च, 2019 के बीच कंडक्ट कराया गया था. साथ ही रिपोर्ट्स में ये भी कहा गया है कि इस साल का रिजल्ट पिछले साल से भी बेहतर होगा और इसके लिए बेहतर रिजल्ट के लिए बोर्ड द्वारा कई कदम भी उठाए गए हैं.

खराब रिज़ल्ट आने की वजह से छात्र हताश हो जाते हैं. कुछ छात्र बिना किसी नतीजे की परवाह किए हुए गलत कदम उठा लेते हैं जिसके बोझ से मां-बाप जीते जी मर जाते हैं. तेलंगाना में बोर्ड के नतीजे आने के बाद करीब 17 छात्रों ने कथित तौर पर खुदकुशी कर ली. ये घटनाएं चौंकाने के लिए काफी हैं. फेल होने या रिज़ल्ट बिगड़ने की वजह से इस तरह के कदम उठाने की कतई जरूरत नहीं होती है. पैरेंट्स को चाहिए वो रिज़ल्ट को वजह बनाते हुए बच्चों पर ऐसा अतिरिक्त दबाव न बनाएं जिसके परिणाम दुखद हों. बच्चा अगर नहीं पढ़ रहा है तो काउंसल से बात करें और अगर अच्छी पढ़ाई के बावजूद उसका रिज़ल्ट खराब आया है तो भी उसकी काउंसलिंग करवाएं ताकि वो खुदकुशी जैसा कोई गलत कदम नहीं उठाए. साल 2015 में सिर्फ फेल होने की वजह से 2646 लोगों ने आत्महत्या की थी. ऐसे में छात्रों को ये समझाया जाए कि सितारों के आगे जहां और भी है. फेल होने से ज़िंदगी रुक नहीं जाती. इस दुनिया में ऐसे हजारों कामयाब लोगों की फेहरिस्त है जो अपने करियर में फेल भी हुऐ या फिर उन्हें बीच में किसी वजह से पढ़ाई भी छोड़नी पड़ी. इसलिए बेहतर ये है कि पैरेंट्स और बच्चों के बीच कम्यूनिकेशन गैप न हो और उन्हें मां-बाप समझने में कोई कसर न छोड़ें.

ये भी पढ़ें:

UP Board Result 2019: पिछले साल के टॉपर्स ने साझा किए Success मंत्र
Loading...

UP Board Result 2019: देश के सबसे बड़े हिन्‍दीभाषी प्रदेश में 11 लाख से ज्यादा छात्र हुए थे हिन्‍दी में फेल

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
First published: April 27, 2019, 11:54 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर