UP Board Results 2020: पिछले पांच सालों में कुछ यूं रहा यूपी बोर्ड का रिजल्ट, जानिए कैसा रहा उतार-चढ़ाल

UP Board Results 2020: पिछले पांच सालों में कुछ यूं रहा यूपी बोर्ड का रिजल्ट, जानिए कैसा रहा उतार-चढ़ाल
यहां आप पिछले पांच सालों का ट्रेंड जान सकते हैं.

UP Board Results 2020: पिछले पांच सालों (Last Five Years UP Result Trends) का यूपी बोर्ड के रिजल्ट का ट्रेंड कैसा रहा.

  • Share this:
UP Board Results 2020. यूपी बोर्ड का रिजल्ट (UP Board Result 2020) आने वाला है और ऐसे में सभी की निगाहें इस बात पर लगी हुई हैं कि इस बार का रिजल्ट कैसा होगा. अलग अलग समय में रिजल्ट या कहें पास प्रतिशत अलग अलग रहा है. साल 2007 से लेकर 2012 तक रिजल्ट कम ही देखने को मिला. साल 2008 में तुलनात्मक रूप से रिजल्ट कम अच्छा रहा था, वहीं साल 2013 में रिजल्ट 92.68 फीसदी था जो कि पिछले सालों में सर्वाधिक था. हम आपको बताते हैं कि पिछले पांच सालों (Last Five Years UP Result Trends) का यूपी बोर्ड के रिजल्ट का ट्रेंड कैसा रहा.

यूपी बोर्ड रिजल्ट से संबंधित जानकारी सबसे पहले पाने के लिए यहां रजिस्टर करें-


साल 2016 का पास प्रतिशत काफी अच्छा था
साल 2015 में कुल दसवीं कक्षा में कुल 83.74 फीसदी जबकि इंटरमीडिएट में 88.83 फीसदी छात्र पास हुए थे. इस साल कुल करीब 35 लाख छात्रों ने परीक्षा दी थी. कुल मिलाकर साल 2015 का पास प्रतिशत 83.5 था. वहीं 2016 में दसवीं और 12वीं कक्षा छात्रों का पास प्रतिशत बढ़कर 87.74 हो गया जो कि उस समय तक पिछले पांच सालों में सर्वाधिक था. इस साल कुल 27.25 लाख छात्रों ने परीक्षा दी थी.



साल 2017 में घट गया रिजल्ट
इसके बाद साल 2017 में फिर से रिजल्ट कम हो गया. इस साल दसवीं में लगभग 81 फीसदी जबकि 12वीं में 82 फीसदी छात्र पास हुए थे. इस साल कुल करीब 34 लाख छात्रों ने परीक्षा दी थी. इसके बाद साल 2018 में छात्रों का पास प्रतिशत और भी ज्यादा गिर गया. इस साल दसवीं कक्षा का पास प्रतिशत 75.16 था जबकि इंटरमीडिएट का पास प्रतिशत 72.43 था. इस साल कुल 66 लाख से ज्यादा छात्रों ने परीक्षा के लिए रजिस्टर किया था. हालांकि केवल 56 लाख छात्र ही इसमें शामिल हो पाए थे.

ये भी पढ़ेंः
ड़ी खबर: 5 हजार रुपए में UP Board Exam पास कराने का दावा, प्रशासन ने कहा- रहें सावधान
UP Board Result 2020 : डेट हुई कंफर्म, 27 को आएगा 10वीं, 12वीं परीक्षा का रिजल्ट

इंटर का पास प्रतिशत पिछले साल बढ़ा
बात करें तो पिछले साल यानी कि साल 2019 कि तो इस साल दसवीं कक्षा का रिजल्ट 80.07 फीसदी रहा जबकि 12वीं कक्षा का रिजल्ट 70.06 फीसदी था. पिछले साल कुल 58 लाख छात्रों ने का रजिस्ट्रेशन हुआ था. अब सभी की निगाहें इस साल के रिजल्ट पर लगी हुई हैं. कोरोना वायरस की वजह से इस साल के रिजल्ट आनें में देरी हुई लेकिन अभी तक की खबरों के मुताबिक 27 जून नतीजे घोषित किए जा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज