लाइव टीवी

IAS Preparation Tips: UPSC की ऑनलाइन कोचिंग करने जा रहे हैं तो इन बातों का रखें ध्‍यान

News18Hindi
Updated: October 22, 2019, 6:04 PM IST
IAS Preparation Tips: UPSC की ऑनलाइन कोचिंग करने जा रहे हैं तो इन बातों का रखें ध्‍यान
ऑनलाइन कोचिंग की हैं अपनी चुनौतियां, रखें ध्‍यान

IAS Preparation Tips: जब कभी भी आईएएस की कोचिंग के बारे में बात होती है तो उसकी शुरूआत और उसकी समाप्ति, दोनों हमेशा किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट पर ही खत्‍म होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2019, 6:04 PM IST
  • Share this:
IAS Preparation Tips: जब कभी भी मेरी किसी से आईएएस की कोचिंग के बारे में बात होती है, तो उसकी शुरूआत और उसकी समाप्ति, दोनों हमेशा किसी कोचिंग इंस्टीट्यूट पर ही होती है. आज महानगरों से लेकर छोटे-छोटे शहरों तक में आईएएस की कोचिंग के बोर्ड लगे हुए बड़ी आसानी से देखे जा सकते हैं. राष्ट्रीय स्तर से लेकर जिला स्तर तक के अखबारों में इन कोचिंग्स के विज्ञापन मौजूद रहते है. इन सबकी भरमार ने लोगों के दिमाग में इस भ्रम को सच की तरह बैठाने में सफलता हासिल कर ली है कि ‘दरअसल, हम ही कोचिंग के पर्याय हैं.

कोचिंग के ढेरो  विकल्‍प उपलब्‍ध

मेरे कहने का मतलब यह कतई नहींं है कि यदि वे अपने बारे में ऐसा कह रहे हैं, तो वे पूरी तरह गलत ही कह रहे हैं. मैं यहांं बताना केवल यह चाह रहा हूंं कि वे पूरी तरह सही भी नहीं कह रहे हैं. हमारी आमने-सामने बैठकर पढ़ने-पढ़ाने की अब तक की जो परम्परागत शिक्षा पद्धति रही है, वह निश्चित तौर पर इन कोचिंग इंस्टीट्यूट के अधिक अनुकूल बैठती है. इसलिए भी परीक्षार्थी न तो इससे हटकर कुछ सोच पाते हैं और न ही उन्हें अपना पाते हैं, जो उनके सामने मौजूद हैं जबकि आजकल इसके समानान्तर कई विकल्प उपलब्ध हो गये हैं, और महत्वपूर्ण बात यह है कि ये उपलब्ध विकल्प इन संस्थाओं से अपेक्षाकृत अधिक सुविधाजनक हैं. साथ ही सस्ते भी. और यदि आप अपनी मानसिकता को इसके अनुकूल बैठा पायें, तो यह कहना भी गलत नहीं होगा कि अधिक उपयोगी भी.

ऑनलाइन कोचिंग क्‍लासेस है विकल्‍प

आज मैं अपने लेख में इसी तरह के एक ऐसे विकल्प की चर्चा करने जा रहा हूँ, जो आपके लिए बहुत अनुकूल हो सकता है. और सच तो यह है कि इसे आप भविष्य की कोचिंग भी कह सकते हैं. यह है- ऑनलाइन कोचिंग क्लासेस. मुझे नहीं मालूम कि आपके पास इसके बारे में जानकारी और अनुभव है या नहीं. इसलिए मैं थोड़ी प्रारम्भिक जानकारी देना चाहूंंगा. वस्तुतः ये भी कक्षाओं की तरह ही होती हैं. इनमें भी आप टीचर्स के लेक्चर सुनते हैं और उन्ही टीचर्स से लेक्चर सुनते हैं, जिनके लेक्चर्स आप कक्षाओं में सुनते हैं. इनमें भी टीचर्स कक्षाओं की तरह ही ब्लैक बोर्ड का उपयोग करके आपको उस विषय को समझाने की कोशिश करते हैं.


ऑनलाइन और ऑफलाइन में फर्क समझें
Loading...

सवाल यह उठता है कि फिर फर्क क्या है? मूल फर्क केवल इतना है कि जब आप कक्षा में होते हैं, तो लेक्चर देने वाले शिक्षक को छू सकते हैं. चूंंकि वह क्लास में सशरीर मौजूद रहता है, इसलिए आप उससे तत्काल बातचीत भी कर सकते हैं. वहांं एक क्लास होती है जिसमें आप बहुत सारे अपने अन्य साथियों के साथ बैठकर लैक्चर सुन रहे होते हैं.

यहांं वह नहीं होता. यहांं शिक्षक तो होता है. उसे आप बोलते हुए देखते भी हैं. लेकिन आप उसे छू नहीं सकते. उससे रूबरू होकर बातचीत नहीं कर सकते. उसे आप केवल महसूस कर सकते हैं. यहांं एक टीचर किसी क्लास में नहीं होता, बल्कि वह आपके कम्प्यूटर या लैपटाॅप या आपके स्मार्ट फोन की स्क्रीन पर होता है. इसे ही हम कहते हैं-आभासी दुनिया. यानी की वर्चुअल वर्ल्‍ड. यह दुनिया होती तो है, लेकिन भौतिक रूप में नहीं. केवल दृश्य रूप में. यहाँ आप क्लास में नहीं बैठते, बल्कि आपको अपने घर के कमरे को ही अपनी क्लास में तब्दील करना पड़ता है. यहाँ तब तक आपका साथ देने वाला कोई दूसरा विद्यार्थी मौजूद नहीं होता, तब तक कि आप खुद इसके लिए उसे आमंत्रित नही करें.

मैंने इतनी छोटी-छोटी बातें आपके सामने इसलिए रखीं है ताकि यदि आप इसके बारे में नहीं जानते हैं, तो इसके बारे में अच्छे से जान सकें. और यदि जानते हैं, तो इस तरह की कक्षाओं से जुड़ी हुई जो मनोवैज्ञानिक चुनौतियांं होती हैं, उन्हें आप अच्छी तरह से समझ सकें. यदि आप इससे जुड़ी मनोवैज्ञानिक चुनौतियों का सामना करने में असफल रहेंगे, तो ये कक्षाएं आपके लिए व्यर्थ सिद्ध हो जाएंगी. यदि आप इन कक्षाओं में दाखिला लेने के बारे में सोच रहे हैं या आगे चलकर सोचेंगे, तो आपके लिए बहुत जरूरी है कि इससे जुड़ी चुनौतियों पर अभी से अच्छी तरह विचार करके सही निर्णय लें, जहांं तक आईएएस की कोचिंग क्लासेस का संबंध है, अब बहुत से संस्थानों ने इस तरह की कोचिंग की शुरूआत कर दी है.

ये भी पढ़ें: 



IAS Preparation Tips: जानिए आईएएस बनने के लिए कितना समय चाहिए?

IAS Preparation Tips: टाइम मैनेजमेंट सीख लिया तो UPSC क्रैक करना हो जाएगा आसान

डाॅ०विजय अग्रवाल


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 1:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...