लाइव टीवी

IAS Preparation Tips: मैराथन दौड़ है सिविल सेवा परीक्षा, 10वीं के बाद ही शुरू कर दें तैयारी

News18Hindi
Updated: January 28, 2020, 4:05 AM IST
IAS Preparation Tips: मैराथन दौड़ है सिविल सेवा परीक्षा, 10वीं के बाद ही शुरू कर दें तैयारी
UPSC स‍िव‍िल सेवा परीक्षा की तैयारी के ल‍िये एकरूपता जरूरी है.

IAS Preparation Tips: यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा की तैयारी एक द‍िन में खत्‍म नहीं की जा सकती. इसके ल‍िये लगातार तैयारी करनी पड़ती है. यह मैराथन रेस की तरह है, ना क‍ि 100 म‍ीटर की दौड़ की तरह.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2020, 4:05 AM IST
  • Share this:
IAS Preparation Tips:  पहली बात तो यह कि यदि आप हड़बड़ी में हैं और सफलता जल्दी से जल्दी पाना चाहते हैं, तो मुझे यह कहने की इजाजत दीजिए कि यह क्षेत्र आपके लिए उचित नहीं है. दरअसल, आई.ए.एस. की तैयारी, जिसे मैं ‘जेन्युन प्रिपरेशन‘ कहना चाहूंंगा, एक मैराथन दौड़ की तरह है. न कि सौ मीटर की फर्राटे वाली दौड़. यहांं बादल फटने वाली बारिश काम नहीं करती है. फिर चाहे पानी की मात्रा कितनी ही अधिक क्यों न गिर जाए. यहां वह रिमझिम बारिश काम करती है, जिसका एक-एक कतरा धरती की नसों में समाकर उसका अभिन्‍न हिस्सा बन जाता है.

यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा की तैयारी में ज्ञान के इसी रूप की जरूरत पड़ती है, जो विद्यार्थी की चेतना में समाकर कुछ इस तरह रच-बस जाता है कि उसका अलग से कोई अस्तित्व नहीं रह जाता. जो उम्‍मीदवार इस स्वरूप को जिस स्तर तक हासिल कर लेता हैं, उसे उस स्तर की सफलता मिल जाती है. इसलिए पहली बात यह कि यहां जल्दबाजी करने वालों का काम नहीं है.

ना करें बड़ी-बड़ी बातें 
बहुत से उम्‍मीदवार जोश में आकर इस बात की सार्वजनिक घोषणा कर देते हैं कि मैं पहले ही अटेम्प्ट में टॉप टेन में आकर दिखाऊंंगा. मैं उनकी इस घोषणा पर आश्‍चर्यचकित होकर उनके चेहरे को संदेह की दृष्टि से देखता हूं, तो वे मेरे संदेह का मूक मखौल उड़ाते हुए इस तर्क से अपने को सही सिद्ध करने में देरी नहीं लगाते कि फलांं ने भी तो पहले ही अटेम्‍प में क्‍वालिफाई किया था. वे गलत नहीं कहते. वे सच बोलते हैं. लेकिन वे भूल जाते हैं कि उनका यह सच पूरा सच नहीं है. वे इस सच के पीछे छिपे हुए अन्य तथ्यों के सच को समझ नहीं पा रहे हैं.

इसका सम्पूर्ण सच और छिपा हुआ सच यह है कि भले ‘उसने' पहले अटेम्प्ट में ही इतनी बेहतरीन सफलता हासिल कर ली थी, लेकिन वह इसकी तैयारी बहुत लम्बे समय से कर रहा था, तब से ही, जब वह अपने ग्रेजुएशन के पहले ही साल में था या कि उससे भी पहले से. अटेम्प्ट उसका पहला था, यह सच है. लेकिन तैयारी भी एक या दो साल की थी, जैसा कि इस तरह की बातें करने वाले विद्यार्थियों के दिमाग में बैठ जाता है, सच नहीं है.

अटेम्‍प से नहीं तैयारी से फर्क पड़ता है 
वस्तुतः सवाल अटेम्प्ट का होता ही नहीं है. सवाल तो तैयारी का होता है, जिसे आप या तो पहले ही अटेम्प्ट में प्रूव कर सकते हैं, या फिर जिसे आप अंतिम अटेम्प्ट तक प्रूव नहीं कर पाते. योजना बनाते समय सिविल सेवा परीक्षा के इस सम्पूर्ण सत्य को जानना बहुत जरूरी है. यह ज़रूरत उसी तरह की ज़रूरत है कि क्रिकेट मैच बिना सही रणनीति के जीता नहीं जा सकता.10वीं के बाद ही तय करें 
कितना अच्छा होता यदि आप दसवीं के बाद ही यह फैसला कर चुके होते कि मुझे सिविल सर्विस में जाना है. तब आपके लिए इस लक्ष्य को पाना बहुत आसान हो गया होता. बारहवीं के बाद भी इस तरह का फैसला करना बहुत देरी की बात नहीं होती, क्योंकि तब आप ग्रेजुएशन में उस एक विषय को ले सकते थे, जिसे आप सिविल सर्विस में लेना चाह रहे हैं. केवल विषय को ही नहीं ले सकते थे, बल्कि उसकी पढ़ाई भी अन्य विषयों की अपेक्षा बेहतर तरीके से कर सकते थे.

इतना ही नहीं, बल्कि यदि इतने पहले आपने अपना लक्ष्य निर्धारित कर लिया होता, तो उस सामान्य ज्ञान की तैयारी आपके लिए बाएंं हाथ का खेल हो जाती, जिसकी तैयारी के लिए अब आपके दोनों हाथ कम और कमज़ोर पड़ने लगे हैं. लेकिन यदि आप ग्रेजुएशन कर रहे हैं, तो भी कोई बात नहीं - देर आए दुरुस्त आए. मेहनत थोड़ी अधिक करनी पड़ेगी, और वैसे भी आई.ए.एस. की तैयारी का क्षेत्र उन लोगों के लिए है ही नहीं, जो मेहनत से डरते हैं. लेकिन यदि आप ग्रेजुएशन के बाद इसके लिए सोच रहे हैं, तो थोड़ी-सी देरी तो जरूर हो गई है, पर अंधेर अभी भी नहीं हुआ.

यह मनोवैज्ञानिक सत्य आपका साथ देगा कि ‘अब आपका मस्तिष्क मैच्योर हो चुका है और जिस तथ्य को समझने में पहले आपको पांंच घंटे लगते, उसे अब आप पचास मिनट में समझ सकते हैं. इसलिए निराश होने की बात यहांं भी नहीं है.

ये भी पढ़ें- IAS Interview 2020: आईएएस इंटरव्‍यू में पूछे जाते हैं ऐसे टेढ़े-मेढ़े सवाल, क्‍या आप दे पाएंगे जवाब

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 4:05 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर