UPSC IAS Interview Question: इतने आईआईटीयन सिविल सेवा में क्यों आ रहे हैं?

UPSC IAS Interview Question: यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2018 में 53वीं रैंक हासिल करने वाले सुमित कुमार ने इस सवाल का जवाब देकर क्रैक किया इंटरव्‍यू.

News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 3:39 PM IST
UPSC IAS Interview Question: इतने आईआईटीयन सिविल सेवा में क्यों आ रहे हैं?
यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन
News18Hindi
Updated: September 5, 2019, 3:39 PM IST
UPSC IAS Interview Question: यूपीएससी (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा (civil service examinations) में इंटरव्‍यू एक ऐसा पड़ाव होता है, जहां-जहां अच्‍छे-अच्‍छे उम्‍मीदवार मुश्‍किल में पड़ जाते हैं. उम्‍मीदवारों के व्‍यक्‍तित्‍व को परखने के लिए कई बार साक्षात्‍कारकर्ता ऐसे ट्रिकी और दिलचस्‍प सवाल पूछते हैं कि उम्‍मीदवार भी सोच में पड़ जाते हैं. ऐसे ही कुछ अजीबो-गरीब यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2018 में 53वीं रैंक हासिल करने वाले सुमित कुमार से इंटरव्यू के दौरान पूछा गया है. सुमित ये उनके एकेडमिक बैकग्राउंड और मौजूदा ढर्रे से जुड़ा एक दिलचस्प सवाल पूछ लिया गया है.

दरअसल इंटरव्यू के दौरान सुमित से पूछा गया- इतने आईआईटीयन सिविल सेवा में क्यों आ रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सुमित ने इसका जवाब दिया- 'सिविल सेवा में सबको समान मौका मिलता है. यूपीएससी सभी बैकग्राउंड के लोगों को मौका देती है.अब क्यों इंजीनियर लोग यहां ज्यादा आ रहे हैं, ये तो मुझे नहीं पता. हो सकता है कि इंजीनियर ज्यादा हो गए हों, तो उस हिसाब से यहां पर भी ज्यादा लोग आ रहे हों. वैसे सिविल सर्विसेज सबसे बराबर चांस देती है और विविधता को प्रमोट करती है.

मुझसे कंपीटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग) के बारे में पूछा गया. मैंने बताया कि यह भारतीय बाजार में प्रतिस्पर्धा के माहौल की देख-रेख करती है. ये संस्था देखती है कि किसी का एकाधिकार न हो, फिर मुझसे पूछा गया कि क्या कंपीटीशन मैनटेन करने के लिए इससे जुड़ा कोई एक्ट भी है? मैंने कहा कि मुझे इस बारे में नहीं पता.

ये भी पढ़ें:  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 3:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...