IAS Preparation Tips: प्रारंभ‍िक परीक्षा के ल‍िये क‍ितना जरूरी है जनरल स्‍टडीज, कैसे करें तैयार-जान‍िये

IAS Preparation Tips: प्रारंभ‍िक परीक्षा के ल‍िये क‍ितना जरूरी है जनरल स्‍टडीज, कैसे करें तैयार-जान‍िये
यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा परीक्षा की तैयारी में जनरल नॉलेज की अहम भूमि‍का है.

IAS Preparation Tips: यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा प्रारंभ‍िक परीक्षा के ल‍िये जनरल स्‍टडीज सेक्‍शन की तैयारी कैसे करें. यहां जान‍िये.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 18, 2020, 2:43 PM IST
  • Share this:
IAS Preparation Tips: सामान्य अध्ययन यानी जनरल स्‍टडीज के नाम पर स्‍टूडेंट बहुत अधिक घबरा जाते हैं.जबकि ऐसा कुछ है नहीं. यूपीएससी ने प्रारंभ‍िक परीक्षा के सामान्य अध्ययन का पाठ्यक्रम निर्धारित किया हुआ है. हांं, यह अवश्‍य है कि उसकी बहुत डिटेलिंग्स नहीं मिलती, लेकिन जहांं तक मैं समझता हूंं, अधिक डिटेलिंग्स तो किसी भी पाठ्यक्रम की नहीं मिलती. मूलभूत बातें बता दी जाती हैं और वही अपने-आप में पर्याप्त होती है.

वस्तुतः सामान्य अध्ययन को लेकर घबड़ाहट की जो स्थिति बनी है, वह मुख्यतः राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय महत्व की सामयिक घटनाओं के कारण है. इसकी तैयारी अखबारों से होती है. मुझे नहीं लगता कि इसमें कोई बहुत अधिक भ्रमित होने की बात है. लेकिन मुश्‍कि‍ल यह है कि ऐसा हो रहा है. यदि कोई समस्या है, तो उसका कुछ न कुछ तो निदान बताना ही पड़ेगा और यहां मैं यही करने जा रहा हूं.

IAS Preparation Tips, आईएएस परीक्षा की तैयारी, यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कैसे करें,  upsc, upsc civil services exam tips, upsc cse exam 2020, UPSC, UPSC notification 2020
जनरल नॉलेज की तैयारी में अखबार सबसे ज्‍यादा मददगार होते हैं.




प्रारम्भिक परीक्षा के पाठ्यक्रम के सात महत्वपूर्ण ब‍िन्‍दु हैं:



1. राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय महत्व की घटनाएं. इनका पूरा संबंध समाचार, अखबार और पत्रिकाओं से है.
2. दूसरा विषय है - भारत का इतिहास एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन.
3. तीसरा विषय भूगोल का है, जिसमें भारत एवं विश्‍व के भूगोल की जानकारी चाही गई है.
4. चौथे विषय को आप या तो राजनीति विज्ञान कह सकते हैं या फिर संविधान.
5. पांचवें बिन्दु का संबंध अर्थशास्त्र से है और इस अर्थशास्त्र का संबंध व्यावहारिक अर्थशास्त्र से है, सैद्धान्तिक अर्थशास्त्र से नहीं.
6. छठवें विषय के मूल में पर्यावरण है. निश्‍च‍ित रूप से इसके अंतर्गत पर्यावरण प्रदूषण, जैव विविधता तथा जलवायु परिवर्तन जैसी बातें अपने-आप ही समाहित हो जाती हैं.
7. सातवांं एवं अंतिम बिन्दु सामान्य विज्ञान का है. इसके अंतर्गत सामयिक विज्ञान की बातें पूछी जाती है. यहांं मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि इसके अन्तर्गत जितने भी विषय रखे गए हैं, वे सामान्य अध्ययन के विषय हैं, व‍िशेष अध्ययन के नहीं. इस तथ्य को आप कभी न भूलें.

अब मेरा आपसे एक प्रश्‍न है- यदि हम राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय महत्व की घटनाओें वाले प्रथम बिन्दु को हटा दें, तो क्या शेष छह विषयों में से कोई भी विषय ऐसा है, जिसे आपने दसवीं कक्षा तक की अपनी पढ़ाई के दौरान पढ़ा नहीं है? आपने इनमें से सब कुछ पढ़ा है. इसका अर्थ यह हुआ कि आमतौर पर यह अपेक्षा की जाती है कि इससे पहले कि आप अपने लिए विशेषज्ञता वाली पढ़ाई का रास्ता चुनें, आपको इन मूलभूत विषयों की जानकारी होना चाहिए. चाहे आप डाॅक्टर बनने जाएंं या इंजीनियर, इन विषयों का आधारभूत अध्ययन आपके पास होना ही चाहिए. यानी कि इनमें से नया कुछ भी नहीं है.

IAS Preparation Tips, आईएएस परीक्षा की तैयारी, यूपीएससी परीक्षा की तैयारी कैसे करें, upsc, upsc civil services exam tips, upsc cse exam 2020, UPSC, UPSC notification 2020
यूपीएससी स‍िव‍िल सेवा प्रारंभ‍िक परीक्षा की तैयारी के ल‍िये 10वीं कक्षा तक पढ़ी गई क‍िताबें भी काम आती हैं.


लेकिन आपको ये नए लग रहे हैं. यह समस्या आपकी अपनी है. यह समस्या न तो श‍िक्षा प्रणाली की है और न ही यूपीएससी की. आपकी मुख्य समस्या यह है कि आपने यह सब सात-आठ साल पहले पढ़ा था और अब आप उसे भूल चूके हैं. थोड़ा-थोड़ा तो ध्यान है, लेकिन पूरी तरह नहीं. भूल भी इसलिए गये हैं, क्योंकि उस समय आपने इसे समझने के लिए नहीं पढ़ा था, परीक्षा पास करने के लिए पढ़ा था. परीक्षा हुई, बात गई. सोचकर देखिए कि अचानक कुछ ऐसा जादू हो जाए कि दसवीं तक का सब कुछ पढ़ा-लिखा आपके दिमाग में आ जाए, तो क्या होगा? क्या ऐसा नहीं होगा कि आप अपने-आपको आई.ए.एस. बनने के लायक पाने लगेंगे? ऐसा ही होगा.

यह भी पढ़ें: 
UPSC Civil Services Preliminary exam 2020: सिविल सर्विसेज प्री के लिए आवेदन शुरू, ऐसा होगा सिलेबस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading