UPSC prelims exam 2019: जानिए IAS परीक्षा का पैटर्न & चयन प्रक्रिया

यूपीएससी द्वारा संचालित 2 जून को होने जा रही आईएएस प्रारम्भिक परीक्षा के दो पेपर होंगे, जो पूरे देश में कुल 896 सेंटर पर आयोजित होगी.

News18Hindi
Updated: May 4, 2019, 4:44 PM IST
UPSC prelims exam 2019: जानिए IAS परीक्षा का पैटर्न & चयन प्रक्रिया
FILE PHOTO
News18Hindi
Updated: May 4, 2019, 4:44 PM IST
संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित आईएएस प्रारम्भिक परीक्षा की डेट कंफर्म हो गई है. आईएएस प्रारम्भिक परीक्षा 2019, 2 जून को आयोजित होने जा रही है. जिसको लेकर आयोग ने परीक्षा के एडमिट कार्ट एक अप्रैल को जारी कर दिए हैं. इस परीक्षा में शामिल होने जा रहे अभ्यर्थी यूपीएसी के ऑफिशियल वेबसाइट upsconline.nic.in में जाकर एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं.  2जून को होने वाली यूपीएससी की प्रारम्भिक परीक्षा वास्तव में भारतीय सिविल सेवा में चयन की प्रक्रिया का एक हिस्सा है. भारतीय सिविल सेवा में चयन की के लिए यूपीएससी की त्री-स्तरीय चयन प्रक्रिया है.

यूपीएससी प्रारम्भिक परीक्षा का पैटर्न


यूपीएससी द्वारा संचालित 2 जून को होने जा रही आईएएस प्रारम्भिक परीक्षा के दो पेपर होंगे, जो पूरे में कुल 896 सेंटर पर आयोजित होगी. पहला पेपर सामान्य अध्ययन को होगा. जिसमें कुल 100 प्रश्न होंगे और कुल 200 अंकों का होगा. जबकि दूसरा पेपर सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट का होगा, जो 80 प्रश्नों के साथ 200 अंकों का होगा. इस परीक्षा क्वालीफाइंग मार्क्स 33 प्रतिशत है. हालांकि परीक्षार्थियों को संख्या, पदों की संख्या और प्रश्नों के स्तर के आधार पर हर साल की परीक्षा में कट-ऑफ मार्क्स बदलते रहते हैं.

यह भी पढ़ें : जानिए कैसे बन सकते हैं IAS ऑफिसर

यूपीएससी मुख्य परीक्षा का पैटर्न
दरअसल प्रारम्भिक परीक्षा छात्रों की छटनी करनी वाली परीक्षा होती है. प्रारम्भिक परीक्षा में सफल होने वाले परीक्षार्थी मेन्स परीक्षा में बैठने के योग्य होते हैं. मेन्स परीक्षा में दो पेपर क्वालीफाइंग होते हैं- पेपर-A भारतीय भाषाओं होता है. परीक्षार्थी अपने इच्छा से किसी भी भारतीय भाषा को चुन सकता है. पेपर-B अंग्रेजी भाषा को होता है. प्रतेक पेपर 300 से अंकों का होता है. लेकिन इसमें प्राप्त किए गए अंक टोटल मेरिट टिस्ट में काउंट नहीं होते हैं. परीक्षार्थियों को केवल इसमें पास होना होता है.

यूपीएससी जीएस मुख्य परीक्षा का पैटर्न
Loading...

क्लीफाइंग पेपर के बाद मेरिट लिस्ट में काउंट होने वाले पेपरों की परीक्षा होती है. निबंध की परीक्षा 250 नंबर का होता है. अगला पेपर सामान्य अध्ययन का होता है, जो चार हिस्सों में विभक्त होता है. जीएस पहले पेपर में भारतीय संस्कृत, विश्व इतिहास, भूगोल और समाज को लेकर प्रश्न बनते हैं. जीएस के दूसरे पेपर में संविज्ञान, प्रशासन, अंतर्राष्ट्रीय संबंध, नीतियां और सामाजिक न्याय से संबंधित प्रश्न पुंछे जाते हैं. जीएस के तीसरे पेपर में जैव-विविधता, आपदा प्रबंधन, आर्थिक विकास, पर्यावरण, सुरक्षा और टेक्नोलोजी के प्रश्न आते हैं. जीएस के चौथे पेपर में योग्यता, अखंडता और नीति शास्त्र से संबंधित प्रश्न आते हैं. जीएस के प्रतेक पेपर 250 अंकों का होता है.

आईएएस मेन्स परीक्षा में ऑप्शनल पेपर
आईएएस मेन्स परीक्षा में ऑप्शनल विषय का पेपर होता है, जिसको अभ्यर्थी अपनी मर्जी से चुनता है. आईएएस मेन्स परीक्षा में ऑप्शनल विषय के दो पेपर होते हैं और दोनों ही पेपर 250-250 नंबर के होते हैं. आईएएस मेन्स लिखित परीक्षा कुल 1750 अंकों की होती है. इसके बाद इंटरव्यू होता है. जिसको व्यतित्व टेस्ट कहते हैं. इंटरव्यू का कुल 275 अंको का होता है. इस तरह से देखें तो आईएएस की परीक्षा कुल 2025 अंकों की होती है.

चयन प्रक्रिया
भारतीय सिविल सेवा में अभ्यर्थियों का चयन त्री-स्तरीय चयन प्रक्रिया के द्वारा होता है. पहला प्रारम्भिक परीक्षा का होता है, जो आब्जेक्टिव प्रकार का पेपर होता है. इसमें सफलता के बाद अभ्यर्थी मेन्स परीक्षा में बैठते हैं. इन परीक्षाओं में सफलता के बाद परीक्षार्थी का इंटरव्यू होता है. इंटरव्यू में सफलता के बाद अभ्यर्थी के चयन की प्रक्रिया पूरी होती है और वह अंतिम रूप से भारतीय सिविल सेवा का हिस्सा हो जाता है.

यह भी पढ़ें: UPSC CSE प्रीलिम्‍स के लिए जारी हुआ एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड

यह भी पढ़ें : जानिए कैसे बन सकते हैं IAS ऑफिसर

यह भी पढ़ें : CBSE 12th result 2019: सीबीएसई सेकंड टॉपर गौरांगी का ये है फ्यूचर प्लान
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...