• Home
  • »
  • News
  • »
  • career
  • »
  • UPSC Preparation Tips: सिविल सेवा परीक्षा में किस रणनीति से हल करें पेपर, जानिए यहां

UPSC Preparation Tips: सिविल सेवा परीक्षा में किस रणनीति से हल करें पेपर, जानिए यहां

UPSC Preparation: सी-सेट के कुल 80 प्रश्‍नों के लिए 120 मिनट होते हैं. यानी कि एक प्रश्‍न के लिए डेढ़ मिनट, जिसे किसी भी स्थिति में पर्याप्‍त नहीं कहा जा सकता.

UPSC Preparation: सी-सेट के कुल 80 प्रश्‍नों के लिए 120 मिनट होते हैं. यानी कि एक प्रश्‍न के लिए डेढ़ मिनट, जिसे किसी भी स्थिति में पर्याप्‍त नहीं कहा जा सकता.

UPSC Preparation Tips:सी-सेट के कुल 80 प्रश्‍नों के लिए 120 मिनट होते हैं. यानी कि एक प्रश्‍न के लिए डेढ़ मिनट, जिसे किसी भी स्थिति में पर्याप्‍त नहीं कहा जा सकता. इसलिए आपको परिच्‍छेद को अपेक्षाकृत तेजी के साथ पढ़ना होता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नई दिल्ली. UPSC Preparation Tips: बोधगम्‍यता की जानकारी आईएएस (IAS) बनने के लिए ही नहीं, बल्कि आईएएस बनने के बाद एक सफल अधिकारी बनने के लिए भी उतनी ही जरूरी है. इसलिए मैं आपसे विशेष रूप से अनुरोध करूंगा कि भले ही आप सी-सेट के अन्‍य प्रश्‍नों को हल करके इस पेपर में क्‍वालिफाई कर लें, फिर भी आपको बोधगम्‍यता में महारत हासिल करनी ही चाहिए.

जहाँ तक परीक्षा हॉल में बोधगम्‍यता के अंतर्गत पूछे जाने वाले प्रश्‍नों के उत्तर देने का सवाल है, इसके लिए मैं आपको इससे जुड़ी तीन सबसे प्रमुख चुनौतियों के बारे में बताना चाहूंगा. जाहिर है कि यदि आप स्‍वयं को इन चुनौतियों का सामना करने लायक नहीं बनायेंगे, तब प्रश्‍नों के सही उत्तर तक पहुंचना आपके लिए संभव नहीं होगा.

इसकी सबसे बड़ी चुनौती, जो मुझे अपने अनुभव से जान पड़ी है, वह सामान्‍य ज्ञान के हस्‍तक्षेप की है. आपको एक अंश दे दिया जाता है और उस अंश पर आधारित कुछ प्रश्‍न पूछे जाते हैं. कभी आप उन प्रश्‍नों को तथा उनके उत्तर के रूप में दिये गये विकल्‍पों को ध्‍यान से पढ़ें. पढ़ते ही आपको लगेगा कि अरे, इसका उत्तर तो यह होगा और इस उत्तर के बारे में आप शत-प्रतिशत निश्चित भी होंगे. लेकिन जब आप अपने उत्तर की जांच करेंगे, तो पता लगेगा कि वह गलत था. ऐसा होता क्‍यों है?

इसका बहुत सीधा-सा उत्तर है और वह है सामान्‍य ज्ञान का हस्‍तक्षेप. यानी कि यहाँ आपने जो उत्तर दिया है, वह सामान्‍य ज्ञान के आधार पर दिया है और उसके आधार पर यह उत्तर पूरी तरह सही भी है. लेकिन मुश्किल यह है कि जिस उत्तर का आपने चयन किया है, वह दिये गये परिच्‍छेद में शामिल नहीं है. तो सीधी-सी बात है कि आपकी समझ यहाँ भटककर कहीं और चली गई है. इसलिए आपको उत्तर देते समय इस बात का बहुत ध्‍यान रखना होगा कि ‘’कहीं मेरा उत्तर सामान्‍य ज्ञान से प्रभावित तो नहीं है.

इसकी दूसरी चुनौ‍ती कंसंट्रेशन की है. यदि परिच्‍छेद को पढ़ते समय आपका ध्‍यान क्षण भर के लिए भी इधर-उधर हुआ, तो मानकर चलें कि उत्तर देने में गलती हो जाएगी. यह एक प्रकार से खेतों की बहुत पतली मेड़ पर साइकिल चलाने जैसा मामला है. होता यह है कि जैसे ही हमारा ध्‍यान भंग होता है, वैसे ही उस गैप में कोई दूसरी जानकारी घुसपैठ करके उसके सत्‍य-स्‍वरूप को प्रदूषित कर देती है और बाद में हम इसी प्रदूषण के शिकार हो जाते हैं.

तीसरी चुनौती निश्चित रूप से गति को लेकर है. सी-सेट के कुल 80 प्रश्‍नों के लिए 120 मिनट होते हैं. यानी कि एक प्रश्‍न के लिए डेढ़ मिनट, जिसे किसी भी स्थिति में पर्याप्‍त नहीं कहा जा सकता. इसलिए आपको परिच्‍छेद को अपेक्षाकृत तेजी के साथ पढ़ना होता है. लेकिन मुश्किल यह है कि यदि आप ऐसा करेंगें तो उस परिच्‍छेद के भावार्थ को पकड़ने में चूक होने का खतरा उत्‍पन्‍न हो जाएगा.

साथ ही कुछ परिच्‍छेदों के वाक्‍य लम्‍बे और जटिल होते हैं. जानबूझकर कुछ कठिन शब्‍दों का प्रयोग कर दिया जाता है. यदि आप स्‍पीड से पढ़ेंगे, तो स्‍पष्‍ट है कि ये स्‍पीड ब्रेकर आपको उछाल देंगे. इसलिए जरूरी यह हो जाता है कि न तो आप इतने तेजी से पढ़ें कि भावार्थ पकड़ में ही न आये और न ही इतनी इत्‍मीनान के साथ पढ़ें कि प्रश्‍नों को हल ही न कर पाएं.

लेकिन यहाँ एक बात आपके पक्ष में है, जिसकी ओर मैं विशेष रूप से आपका ध्‍यान दिलाना चाहूंगा। यदि आप अपने लिये सुविधाजनक केवल 35 प्रश्‍नों को हल करने का लक्ष्‍य बनाते हैं, जिनमें से कम से कम 30 प्रतिशत प्रश्‍न निश्चित रूप से सही होंगे और पाँच के गलत होने की संभावना होगी। तब आपके हाथ में पर्याप्‍त समय आ जायेगा। मुझे लगता है कि आपको कुछ इसी तरह की रणनीति बनानी चाहिए।

ये भी पढ़ें-
NIRF Ranking 2021: देश का नंबर 1 मेडिकल कॉलेज बना AIIMS दिल्ली, इन्हें मिली टॉप 10 में जगह
NIRF Ranking 2021: देश के टॉप 10 विश्वविद्यालयों की सूची जारी, इस यूनिवर्सिटी को मिला पहला स्थान

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज