UPSC Success Tips: ऐसे करें IAS की तैयारी, पहले प्रयास में टॉपर बने दिव्यांशु ने बताई रणनीति

दिव्यांशु ने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2019 में 60वीं रैंक हासिल की थी.

दिव्यांशु ने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2019 में 60वीं रैंक हासिल की थी.

UPSC Success Tips : यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2019 में पहले प्रयास में टॉप करने वाले दिव्याशु अपनी सफलता का श्रेय सही रणनीति को देते हैं. उन्होंने मैथ से बीएससी और फिर एमएससी करने के बाद इसी विषय को सिविल सेवा परीक्षा में भी रखा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 9:29 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा पास करके आईएएस-आईपीएस अधिकारी बनना लाखों युवाओं का सपना होता है. लेकिन इसके लिए जरूरी है सही रणनीति के साथ तैयारी. आज हम आपको सिविल सेवा परीक्षा 2019 में 60वीं रैंक हासिल करके आईएएस बनने वाले दिव्यांशु सिंगल की सफलता की कहानी बता रहे हैं. उन्होंने यह सफलता पहले प्रयास में हासिल की. दिव्यांशु ने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा की तैयारियों को लेकर अपनी रणनीति के बारे में बताया.

दिव्यांशु मूल रूप से राजस्थान के निवासी हैं. उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई अपने होमटाउन से किया. इसके बाद दिल्ली विश्वविद्यालय के हिंदू कॉलेज से मैथमेटिक्स में बीएससी और एमएससी किया. उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में भी मैथमेटिक्स पर ही भरोसा जताया. इसलिए उन्होंने इसमें मैथ को ऑप्सशनल सब्जेक्ट के तौर पर रखा. वह बताते हैं कि मैथमेटिक्स ग्रेजुएशन और एमएससी में पढ़ने के कारण उन्हें यूपीएससी में काफी मदद मिली. उन्हें इस बात का भरोसा था कि मैथ के साथ यूपीएससी देने पर पहले प्रयास में ही सिविल सेवा परीक्षा क्रैक हो जाएगी.

खुद बनाएं अपनी रणनीति

दिव्यांशु का मानना है कि यूपीएससी की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को अपनी रणनीति खुद तैयार करनी चाहिए. इससे आप अपनी क्षमता के अनुरूप तैयारी कर पाएंगे. ज्यादातर लोग हतोत्साहित करने वाले मिलते हैं. ऐसे में जरूरी है कि खुद को सकारात्मक रखते हुए लगतार तैयारी जारी रखी जाए. असफलता मिलने पर घबराने और निराश होने की बजाए अपनी रणनीति की समीक्षा करें और फिर जरूरत अनुसार उसमें बदलाव भी करने को तैयार रहें.
सीमित रखें किताबें

दिव्यांशु का मानना है कि यूपीएससी की तैयारी के लिए बहुत अधिक किताबें जुटाने की जरूत नहीं है. खास किताबें ही पढ़ें. अधिकतर चीजें इंटरनेट से भी पढ़ सकते हैं. इसके अलावा लिखने का अभ्यास खूब करें. असफल होन पर निराश होने की जरूरत नहीं है. सतत प्रयास करने पर सफलता जरूर मिलेगी.

ये भी पढ़ें-



Success Story: 4th क्लास पद पर काम कर रहे पिता का बेटा बना असिस्टेंट कमिश्नर

Sarkari Naukri : जानिए कैसे बनते हैं IAS अधिकारी, ये सेलेक्शन प्रोसेस और सैलरी, ऐसे शुरू करें तैयारी

पहले पूरा कर लें मुख्य परीक्षा का सिलेबस

दिव्यांशु के मुताबिक प्रारंभिक परीक्षा से पहले मुख्य परीक्षा का सिलेबस पूरा कर लें. इसके बाद जब दो से तीन महीने पहले प्रारंभिक परीक्षा पर फोकस करना चाहिए. इस दौरान लगतार कई सारे टेस्ट दें. वह अभ्यर्थियों को मॉक टेस्ट देने की भी सलाह देते हैं. ताकि अपनी तैयारी के स्तर का पता चल सके. वह कहते हैं कि इंटरव्यू से पहले भी मॉक टेस्ट जरूरी है.

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज