UPSC Topper Story : चार बार असफल होने के बाद भी विक्रम ने नहीं मानी हार, बने आईएएस

आईएएस अधिकारी विक्रम सिंह ऑप्शनल सब्जेक्ट की तैयारी के लिए ग्रुप स्टडी की सलाह देते हैं.

आईएएस अधिकारी विक्रम सिंह ऑप्शनल सब्जेक्ट की तैयारी के लिए ग्रुप स्टडी की सलाह देते हैं.

Success Story, UPSC Topper Success Tips : यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा-2019 में 354वीं रैंक के साथ टॉपर रहे विक्रम सिंह की कहानी काफी प्रेरक है. लगातार चार असफलताओं के बावजूद धैर्य और सतत प्रयास से उन्हें मंजिल मिली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2021, 6:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए अच्छी तैयारी के साथ सतत प्रयास और धैर्य भी बेहद जरूरी है. जो अभ्यर्थी असफलताओं से सीखते हुए लगातार प्रयास करते रहते हैं उन्हें एक दिन सफलता जरूर मिलती है. सतत प्रयास और धैर्य की ऐसी ही एक कहानी है 2019 में आईएएस बनने वाले विक्रम सिंह की. उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा में चार बार असफल होने के बाद भी हार नहीं मानी और आखिर में पांचवें प्रयास में 354वीं रैंक हासिल करके अपना सपना पूरा किया. विक्रम सिंह की कहानी ऐसे युवाओं को प्रेरित कर सकती है जो असफलताओं से हतोत्साहित हो चुके होंगे.

आईएएस अधिकारी विक्रम सिंह ने दिल्ली नॉलेज ट्रैक नाम के एक यूट्यूब चैनल पर दिए इंटरव्यू में बताते हैं कि उन्होंने इंटरमीडिएट की पढ़ाई करने के बार इंजीनियरिंग में एडमिशन लिया. इसी दौरान ही उन्होंने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा क्रैक करके आईएएस बनने का ख्वाब बुना और उसे साकार करने में जुट गए.

आईएएस अधिकारी विक्रम सिंह की सफलता के टिप्स

-तैयारी के लिए एनसीईआरटी की किताबें अच्छी तरह पढ़ें, नोट्स बनाने की जरूरत कम पड़ती है
- विक्रम ने साइकोलॉजी को ऑप्शन सब्जेक्ट के रूप में रखा था, इसके लिए नोट्स बनाना जरूरी बताते हैं

-ऑप्शनल सब्जेक्ट की तैयारी के लिए ग्रुप स्टडी काफी मदद करती है

-उत्तर में वजन डालने के लिए उदाहरण का काफी महत्व है. उदाहरण आसपास की जिंदगी के होने चाहिए.



- परीक्षा में सफल होने के लिए अनुशासन जरूरी है, कितनी भी असफलता मिले पर प्रयास करते रहें

- उत्तर लिखने का जमकर अभ्यास करें

अपने आप पर था भरोसा

विक्रम सिंह बताते हैं कि उन्हें सिविल सेवा परीक्षा में चार बार असफलता का सामना करना पड़ा. इसमें से दो बार तो इंटरव्यू राउंड से बाहर होना पड़ा. आमतौर पर लगातार असफल होने पर हताश हो जाते हैं. लोगों के मन में कई तरह के निगेटिव विचार आने लगते हैं. लेकिन विक्रम को अपने आप पर भरोसा था. वह लगातार अपने कमजोर पक्षों को मजबूत करते गए और आखिर में उन्हें पांचवें प्रयास में मंजिल मिल गई.

ये भी पढ़ें- 

Sarkari Naukri Result : यूपी पीसीएस-2020 का फाइनल रिजल्ट जारी, यहां चेक करें

Sarkari naukri Result : बिहार पुलिस कांस्टेबल भर्ती का फाइनल रिजल्ट जारी, देखें किसकी कहां हुई नियुक्ति

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज