UPSC Success Story : गांव में रहकर की तैयारी, चौथे प्रयास में IAS बने अंशुमन, जानिए क्या है सक्सेस मंत्र

अंशुमन राज का मानना है कि सीमित संसाधन के बावजूद सही रणनीति से आईएएस बना जा सकता है.

अंशुमन राज का मानना है कि सीमित संसाधन के बावजूद सही रणनीति से आईएएस बना जा सकता है.

UPSC Success Story : यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा-2019 में ऑल इंडिया 107वीं रैंक हासिल करके आईएएस बने अंशुमन राज की कहानी प्रेरणा देने के साथ कई मिथ को भी तोड़ती है. अंशुमन ने यूपीएससी की तैयारी बिहार के एक छोटे से गांव में रहकर की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 12:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आईएएस बनने के सपने लेकर लाखों युवा यूपीएससी की कोचिंग के केंद्र माने जाने वाले दिल्ली जैसे महानगरों में पहुंचते हैं. कई ऐसे भी होते हैं जो आर्थिक स्थिति अच्छी न हो पाने के चलते नहीं जा पाते. ऐसे युवाओं के लिए प्रेरक एक और सफलता की कहानी है. ये कहानी है बिहार के एक छोटे से गांव के आईएएस अधिकारी अंशुमन राज की. वह यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2019 क्रैक करके आईएएस बने हैं. अंशुमन बिहार के बक्सर जिले के एक गांव के रहने वाले हैं.

अंशुमन राज ने इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई अपने होम टाउन से की. उसके बाद कोलकाता से ग्रेजुएशन किया और फिर सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू की. खास बात है कि उन्होंने आईएएस बनने की तैयारी अपने गांव में रहकर की.

तीन बार मिली असफलता

अंशुमन राज ने गांव में रहकर सेल्फ स्टडी के दम पर यूपीएससी क्रैक करने की ठानी. हालांकि उन्हें एक के बाद एक तीन प्रयास में असफलता हाथ लगी. लेकिन वह निराश नहीं हुए. हर बार की असफलता से सीख लेते हुए अपनी कमजोरियों को दूर करते गए और आखिर में चौथे प्रयास में मंजिल मिल ही गई. यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा 2019 में उन्होंने ऑल इंडिया रैंक 107 हासिल की.
यूपीएससी की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए अंशुमन राज के टिप्स

- सही स्टडी मैटेरियल के साथ तैयारी करें

- पढ़ाई के दौरान छोटे-छोटे नोट्स बनाते चलें, रिवीजन में आसानी होगी



- उत्तर लिखने का खूब अभ्यास करें

- नियमित तौर पर अखबार पढ़ें

- आत्मविश्वास बनाए रखें

- स्टैंडर्ड किताबें पढ़िए

- फैक्ट्स के पीछे बहुत ज्यादा भागने की बजाए स्टोरी की तरह पढ़ें

गांव में रहकर कर सकते हैं तैयारी

अंशुमन यूट्यूब चैनल दिल्ली नॉलेज ट्रैक को दिए गए इंटरव्यू में बताते हैं कि अब गांव में रहकर भी यूपीएससी की तैयारी संभव है. बस आपके पास अच्छा इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए. वह कहते हैं कि जरूरत सही रणनीति और सतत प्रयास की है. आप शहर या गांव, कहीं भी रहकर तैयारी कर सकते हैं. उनका मानना है कि सीमित संसाधनों के साथ भी अगर सही तरीके से तैयारी की जाए तो यूपीएससी क्रैक करके आईएएस बना जा सकता है.

ये भी पढ़ें- 

KVS Admission-2021: केंद्रीय विद्यालय ने कोरोना के चलते स्थगित की एडमिशन प्रक्रिया

RRB Group D Exam : कब होगी ग्रुप डी भर्ती परीक्षा ? एक करोड़ से अधिक अभ्यर्थियों को इंतजार, ये है लेटेस्ट अपडेट

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज