लाइव टीवी

IAS Success Story: लाखों का पैकेज छोड़ शुरू की तैयारी, ऐसे बना IAS

News18Hindi
Updated: September 27, 2019, 7:19 PM IST
IAS Success Story: लाखों का पैकेज छोड़ शुरू की तैयारी, ऐसे बना IAS
हिमाचल प्रदेश से ताल्‍लुक रखने वाले अभिषेक वर्मा ने एक मल्‍टीनेशनल कंपनी में करीब 24 लाख का पैकेज छोड़कर यूपीएससी (UPSC) की ओर से आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने की ठानी. जानिए फिर कैसे मिली सफलता.Upsc topper 2019 Abhishek verma score rank 32 in civil service exam 2017

हिमाचल प्रदेश से ताल्‍लुक रखने वाले अभिषेक वर्मा ने एक मल्‍टीनेशनल कंपनी में करीब 24 लाख का पैकेज छोड़कर यूपीएससी (UPSC) की ओर से आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने की ठानी. जानिए फिर कैसे मिली सफलता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2019, 7:19 PM IST
  • Share this:
IAS Success Story: अगर आपको लाखों का पैकेज मिले तो शायद ही आप उस नौकरी को छोड़ने के बारे में सोचेंगे. वहीं नौकरी छोड़कर दोबारा पढ़ाई करने के बारे में सोचना तो और मुश्‍किल हो जाएगा लेकिन इन सबके बीच में एक ऐसे शख्‍स हैं, जिन्‍होंने न इस बारे में सोचा बल्‍कि कर भी दिखाया. जी हां हिमाचल प्रदेश से ताल्‍लुक रखने वाले अभिषेक वर्मा ने एक मल्‍टीनेशनल कंपनी में करीब 24 लाख का पैकेज छोड़कर यूपीएससी (UPSC) की ओर से आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करने की ठानी. उन्‍होंने इस परीक्षा को करने के बारे में न केवल सोचा बल्‍कि बिना किसी कोचिंग के इस परीक्षा में सफलता किया. उन्‍होंने परीक्षा में 32वीं रैंक हासिल की है.

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के रहने वाले अभिषेक की पढ़ाई शिमला के एडवर्ड स्‍कूल से हुई है. इसके बाद वे दिल्‍ली आ गए. यहां से उन्‍होंने रोहिनी दिल्‍ली से 12वीं की पढ़ाई की थी. यहीं से साल 2016 में कंप्‍यूटर साइंस ऐंड इंजीनियरिंग में बीटेक किया है. अभिषेक के पिता मनोहर लाल वर्मा सीपी डब्‍यलूडी शिमला में अधिशासी अभियंता के पद पर हैं, जबकि मां होममेकर हैं. वहीं बहन अंकिता वर्मा ने साल 2014 में ही सिविल सर्विस परीक्षा पास कर ली है. उनकी शादी कर्नाटक बैच के IAS से रोशन से हुई है.



लाखों पैकेज का छोड़ दिया

इंजीनियरिंग करने के बाद अभिषेक का प्‍लेसमेंट एक मल्‍टीनेशनल कंपनी में हुआ. यहां उन्‍हें 24 लाख का सालाना पैकेज मिला था. कुछ दिनों तक जॉब करने के बाद अभिषेक को ये अहसास हुआ  कि ये उनकी मनपसंद जॉब नहीं है. बस यहीं से उन्‍होंने कुछ और करने की ठानी. तभी उन्‍होंने सिविल सर्विस परीक्षा को क्रैक करने की ठानी.

सेल्‍फ स्‍टडी से पाई सफलता

सिविल सर्विस की परीक्षा की तैयारी के लिए ज्यादातर लोग कोचिंग का सहारा लेते हैं. युवाओं को लगता है कि बिना कोचिंग के इस परीक्षा को पास करना मुश्किल है लेकिन अभिषेक की राय इस बारे में अलग थी. वे ऐसा नहीं मानते थे. उन्‍होंने सेल्‍फ स्‍टडी के दम पर तैयारी शुरू की. पहले प्रयास में हार का सामना करना पड़ा लेकिन वे डटे रहे और उन्‍हें सफलता मिली.ये भी पढ़ें: 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरकारी नौकरी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 27, 2019, 7:12 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर