अपना शहर चुनें

States

UP Board Result Date: नकल की सख्ती के चलते साढ़े छह लाख स्टूडेंट्स ने छोड़ दिया था एग्जाम

UP Board Result 2019
UP Board Result 2019

UP Board Result 2019 Date and Time (यूपी बोर्ड रिजल्ट २०१९ डेट): पिछले साल जितने बच्चों ने यूपी बोर्ड एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था, उसमें से लगभग 15% ने एग्जाम नहीं दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2019, 5:06 PM IST
  • Share this:
UP Board 10th, 12th Result 2019: उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP) की तरफ से 10वीं और 12वीं के नतीजे 27 अप्रैल को जारी होंगे. ये जानकारी यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने गुरुवार, 25 अप्रैल को दी. इस साल यूपी बोर्ड से 12वीं क्लास के लिए 30 लाख से ज्‍यादा छात्रों ने रजिस्‍ट्रेशन किया था, एग्जाम में 29 लाख से ज्यादा छात्र शामिल हुए.

बिजनेस टुडे वेबसाइट के मुताबिक, यूपी बोर्ड से 10वीं और 12वीं दोनों क्लास के लिए कुल 58,06,922 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन कराया था. जिनमें से छह लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी थी. स्टूडेंट्स ने ये एग्जाम नकल की सख्ती के चलते छोड़ा. इस साल यूपी बोर्ड के एग्जाम यूपी के 8,354 स्कूलों में कराए गए थे.

इन चार वेबसाइट्स पर देखें रिजल्ट
upmspresults.up.nic.in
results.nic.in


upmsp.edu.in
upresults.nic.in

SMS के जरि ऐसे पता करें रिजल्ट
UP10ROLLNUMBER को 56263 पर भेजें.
UP12ROLLNUMBER को 56263 पर भेजें.

पिछले साल कितने बच्चों ने छोड़ा था पेपर-
हिन्दुस्तान टाइम्स के मुताबकि, पिछले साल जितने बच्चों ने यूपी बोर्ड एग्जाम के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था, उसमें से लगभग 15% ने एग्जाम नहीं दिया था. इन 15% बच्चों की तादाद 10,44,619 बताई गई थी. बाद में उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि एग्जाम न देने बच्चों में से 75% दूसरे राज्यों के थे.

पिछले साल यूपी बोर्ड का रिजल्ट 29 अप्रैल को जारी हुआ था. पिछले साल 10वीं में 75.16% और 12वीं में 72.43% स्टू़डेंट्स पास हुए थे. पिछले साल 12वीं की परीक्षा के लिए 29,81,327 और 10वीं के 36,55,691 छात्र रजिस्टर्ड थे. 2018 में यूपी में हाई स्कूल में अंजलि वर्मा ने 96.33% पर, इंटर में रजनीश शुक्ला ने टॉप किया था. हाईस्कूल और इंटर दोनों क्लास में में लड़कियों ने बाजी मारी थी.

बोर्ड के नियमों में बदलाव
-पिछले ढाई दशक में बोर्ड के नियमों में व्यापक बदलाव का भी असर हुआ है.
-1992 में जब सबसे खराब रिजल्ट आया था, उस समय हाईस्कूल के 6 विषयों में से किसी एक विषय में फेल होने पर परीक्षार्थी फेल हो जाता था. लेकिन अब छह में से पांच विषय में पास होने पर भी पास कर दिया जाता है.
-इस नियम से बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों को राहत मिलने के आसार हैं. इसी प्रकार पहले कुल पांच नंबर का ग्रेस मार्क्स सिर्फ दो विषयों में मिलता था. अब इंटर में 20 और हाईस्कूल में 18 नंबर का ग्रेस मार्क्स सभी विषयों में मिलाकर मिलता है. इसके चलते चार-पांच नंबर से फेल हो रहे छात्र आसानी से पास हो जाते हैं. सिर्फ दो विषयों में ग्रेस मार्क्स मिलने की बाध्यता नहीं होने के कारण भी बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों को राहत मिलने की संभावना है.
-प्रश्नपत्र का प्रारूप भी बदला है. जिसका लाभ सीधे तौर पर छात्र-छात्राओं को मिलता है.

यूपी बोर्ड की परीक्षाओं का रिजल्ट उप-मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री दिनेश शर्मा द्वारा घोषित किया जाता है. रिजल्‍ट के दौरान आधिकारिक वेबसाइट्स का सर्वर डाउन हो जाता है. ऐसे में स्‍टूडेंट्स को परिणाम चेक करने में परेशानी होती है. ऐसे में आप बिना किसी परेशानी और जल्‍दी से हमारी वेबसाइट hindi.news18.com पर भी रिजल्ट चेक कर सकते हैं. रिजल्ट का लिंक नीचे दिया गया है.

यूपी बोर्ड का रिजल्ट न्यूज18 हिंदी पर देखने के लिए यहां क्लिक करें

ये भी पढ़ें:
UP Board Result 2019: देश के सबसे बड़े हिन्‍दीभाषी प्रदेश में 11 लाख से ज्यादा छात्र हुए थे हिन्‍दी में फेल
UP Board Results 2019: जानिए क्या कर रहे हैं पिछले साल के टॉपर आकाश मौर्या

करियर और जॉब्स से संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज