वीडियो एडिटिंग का करें कोर्स, चमक जाएगा करियर

जिस तेजी से आज के दौर में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में ग्रोथ हो रही है, उस लिहाज से वीडियो एडिटिंग करियर के लिए एक बढ़िया विकल्प साबित हो रहा है।

News18India.com
Updated: March 4, 2016, 7:44 AM IST
वीडियो एडिटिंग का करें कोर्स, चमक जाएगा करियर
AFP Photo editor Emily Irving-Swift records a voice over for the video department on March 10, 2014 at the Middle-East and North Africa headquarters of the global news agency Agence France-Presse (AFP) in the Cypriot capital Nicosia. AFP PHOTO / FLORIAN CHOBLET (Photo credit should read FLORIAN CHOBLET/AFP/Getty Images)
News18india.com
News18India.com
Updated: March 4, 2016, 7:44 AM IST
नई दिल्ली। जिस तेजी से आज के दौर में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में ग्रोथ हो रही है, उस लिहाज से वीडियो एडिटिंग करियर के लिए एक बढ़िया विकल्प साबित हो रहा है। लगातार बढ़ते टीवी चैनलों और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के चलते आज वीडियो एडिटर की बेहद तेजी से मांग बढ़ रही है। इसमें न सिर्फ अच्छे पैकेज पर युवाओं को जॉब ऑफर हो रहे हैं, बल्कि करियर में तेजी से नई ऊंचाई पर भी पहुंचा जा सकता है।

दरअसल अलग-अलग कई वीडियो को एक वीडियो में मिलाना, खराब विजुअल्स को अच्छा बनाना जैसा काम ही वीडियो एडिटिंग है। वीडियो एडिटिंग के बिना आज न तो बढ़िया टीवी शो बन सकता है और ना ही कोई विज्ञापन फिल्म। वीडियो एडिटर का प्रमुख काम है साउंडट्रैक और वीडियो की एडिटिंग कर फिल्म या शो को फाइनल करना। शूटिंग, रिकॉर्डिंग आदि के दौरान जो रफ वीडियो तैयार होता है, वह एडिटिंग के दौरान ही फिनिश्ड प्रोडक्ट का रूप लेता है। एक वीडियो एडिटर का ही कमाल होता है कि वह कैसे खराब वीडियो को भी इस कदर देखने लायक बनाता है कि लोग वाह-वाह कह उठें।

वीडियो एडिटिंग लीनियर और नॉन-लीनियर दो तरह की होती है। लीनियर एडिटिंग में एक टेप से दूसरे टेप पर जरूरी हिस्सों को कॉपी किया जाता है। वहीं नॉन-लीनियर या डिजिटल एडिटिंग में कंप्यूटर टेक्नोलॉजी की मदद से ऑन-स्क्रीन एडिटिंग होती है। डिजिटल एडिटिंग अधिक आसान व लचीली होती है। इसमें समय के साथ-साथ पैसे की भी बचत होती है। आज के दौर में वीडियो एडिटिंग की इसी विधा का प्रयोग होता है।

वीडियो एडिटिंग के कोर्स में 12वीं के बाद ही प्रवेश लिया जा सकता है। इस फील्ड में डिग्री, डिप्लोमा तथा शॉर्ट-टर्म कोर्स उपलब्ध हैं। अगर आप किसी टीवी चैनल में जॉब चाहते हैं, तो ग्रेजुएशन अनिवार्य है। वीडियो एडिटिंग का कोर्स आज कई निजी संस्थान करा रहे हैं। अच्छे संस्थान से कोर्स करने पर कैंपस प्लेसमेंट में ही नौकरी मिल सकती है। इस कोर्स की फीस अलग-अलग संस्थानों में अलग-अलग है।

वीडियो एडिटिंग का कोर्स करने के लिए कुछ अच्छे संस्थान हैं जिनमें फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया पुणे, सत्यजीत रे फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट कोलकाता, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जर्नलिज्म एंड न्यू मीडिया बैंगलोर, व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल मुंबई है।
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर