दिल्ली के स्कूलों पर बड़ी अपडेट, शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने अब कही ये बात

दिल्ली के स्कूलों पर बड़ी अपडेट, शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने अब कही ये बात
कोरोना वायरस के चलते देशभर में सभी स्कूल कॉलेज 16 मार्च से बंद हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) से उपजे हालात को देखते हुए केंद्र सरकार ने 31 जुलाई तक स्कूल और कॉलेज (Schools and Colleges) बंद रखने का निर्देश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 21, 2020, 10:39 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने देश की राजधानी के स्कूलों को लेकर बड़ी बात कही है. सिसोदिया ने साफ कर दिया है कि वे दिल्ली के सरकारी स्कूलों को विकेंद्रीकृत स्वायत्त संस्थान बनाना चाहते हैं. सिसोदिया ने 2020-21 बैच के लिए आयोजित हुए प्रिंसिपल ट्रेनिंग प्रोग्राम (Principal Training Programme)  के पहले सत्र को संबोधित करते हुए ये बात कही. बता दें कि कोरोना वायरस के चलते देशभर के स्कूल और कॉलेज पिछले करीब 4 महीने से बंद हैं.

प्लानिंग से डिसीजन मेकिंग तक...
टाइम्सनाउ की रिपोर्ट के अनुसार मनीष सिसोदिया ने इस प्रोग्राम के सेशन में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हिस्सा लिया. इस दौरान सिसोदिया ने कहा, एकेडमिक से एडमिनिस्ट्रेशन, प्लानिंग से डिसीजन मेकिंग तक... मैं चाहता हूं कि स्कूल विकेंद्रीकृत स्वायत्त संस्थान बनें और शिक्षा क्षेत्र की अगुआई करें. मनीष सिसोदिया ने स्कूलों के कर्ताधर्ताओं को अधिक जिम्मेदारी लेने के लिए कहा. सिसोदिया ने कहा, स्कूलों को चलाने का जिम्मा उनके हेड पर है. उन्हें अपने-अपने स्कूल में आगे बढ़कर ​जिम्मेदारी लेनी होगी.

प्रिंसिपल ट्रेनिंग प्रोग्राम
इस बीच, आईआईएक अहमदाबाद लीडरशिप एंड एंपावरमेंट प्रोग्राम के तहत दिल्ली के 50 सरकारी स्कूलों के प्रिंसिपल को ट्रेनिंग देगा. इस बारे में सिसोदिया ने कहा, प्रिंसिपल ट्रेनिंग प्रोग्राम के पहते टर्म में हमने अपने स्कूल प्रिंसिपल्स को स्कूल स्तर पर फैसले लेने के लिए सशक्त किया. हमने उन्हें एमएमसी फंड का इंचार्ज बनाया और उनकी स्थानीय जिम्मेदारी तय की.





ये भी पढ़ेंः
KVS Admission: केंद्रीय विद्यालय में पहली कक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन आज से शुरू
सीबीएसई 10वीं मार्क्स वैरिफिकेशन शुरू, 12वीं के लिए आज आखिरी दिन


मनीष सिसोदिया ने इस दौरान आनलाइन लर्निंग की अहमियत के बारे में भी बात की. दिल्ली के शिक्षा मंत्री ने कहा, आनलाइन लर्निंग सभी समस्याओं का समाधान नहीं हो सकती, लेकिन ये वक्त की जरूरत है. इसलिए मैं सभी स्कूलों के प्रिंसिपल्स से अपील करता हूं कि इसे लेकर पूरे समर्पण के साथ आगे बढ़ें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज