प. बंगाल की सहकारी समिति स्कूली बच्चों के लिए देगी डेढ़ करोड़ मास्क

अनलॉक 5.0 में स्कूल और कॉलेजों को खोलने के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है.
अनलॉक 5.0 में स्कूल और कॉलेजों को खोलने के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है.

बंगाल में स्कूल खुलने की किसी भी सम्भावना से बंगाल की मुख्यमंत्री ने इनकार कर दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 12:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. प. बंगाल राज्य हथकरघा बुनकर सहकारी समिति लि. प्रदेश के सरकारी स्कूलों के बच्चों को डेढ़ करोड़ मास्क की आपूर्ति करेगी. एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. इस समिति को ‘तन्तुजा’ के नाम से भी जाना चाजता है.

बच्चों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य
राज्य के शिक्षा विभाग ने इससे पहले कहा था कि स्कूलों में मध्याह्न भोजन राशन के लिए जाने वाले बच्चों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा. एक अधिकारी ने बताया कि एक करोड़ मास्क पहले ही भेज दिए गए हैं. शेष की आपूर्ति जल्द की जाएगी.

कोविड-19 से रक्षा के सामान और मास्क बनाए
अधिकारी ने बताया कि स्वयं सहायता समूह (एचएचजी) और परिधान निर्माताओं ने समिति के लिए कोविड-19 से रक्षा के सामान और मास्क बनाए हैं. इससे उन्हें ऐसे समय रोजगार उपलब्ध हुआ है जबकि कारोबारी गतिविधियां ठहरी हुई हैं. अधिकारी ने बताया कि महामारी की वजह से तन्तुजा के 83 स्टोरों में बिक्री सुस्त है. अगस्त में शोरूम के कर्मचारियों के वेतन भुगतान में भी विलंब हुआ था.



स्कूल खुलने पर काली पूजा के बाद निर्णय
इसके अलावा स्कूलों के खुलने की बात करें तो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले ही यह साफ़ कर दिया था कि मिड-नवम्बर से पहले स्कूल नहीं खोले जाएंगे. अनलॉक 5.0 से पहले ही बंगाल में स्कूल खुलने की किसी भी सम्भावना से बंगाल की मुख्यमंत्री ने इनकार कर दिया था. ममता बनर्जी ने इस पर निर्णय काली पूजा के बाद लेने की बात कही है.

ये भी पढ़ें-
असम में रद्द की गई पुलिस सब-इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा 22 नवंबर को, पढ़ें डिटेल
IBPS PO Exam 2020 3 oct से शुरू, कैंडीडेट्स को करना होगा इन निर्देशों का

9 से 12 के लिए ही स्कूल खोलने का प्रावधान
बता दें कि केन्द्रीय गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs, MHA) ने अनलॉक 5.0 लागू करने के साथ ही स्कूल और कॉलेजों को खोलने के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है. हालांकि, इस मामले में फैसला राज्यों को लेना है. अनलॉक 5.0 की गाइडलाइन में स्कूलों को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसेस के तहत खोलने के लिए कहा गया है. कक्षा 9 से 12 के लिए ही स्कूल खोलने का प्रावधान है और इसमें भी छात्रों को अनिवार्य रूप से स्कूल जाने की जरूरत नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज