शिक्षकों के तबादले को आसान बनाने के लिए बंगाल सरकार ने शुरू किया पोर्टल 

इससे पोर्टल से आपसी सहमति से होने वाले तबादलों में आसानी होगी.
इससे पोर्टल से आपसी सहमति से होने वाले तबादलों में आसानी होगी.

इस पोर्टल से प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को अपने गृह जिले या पड़ोस के जिले में तबादला पाने में आसानी होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2020, 1:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल सरकार ने सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में परस्पर सहमति से शिक्षकों के तबादले को आसान बनाने के लिए बुधवार को ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है. इसमें शिक्षकों को तबादले का अनुरोध करने के लिए अपने वर्तमान स्कूल से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेने की आवश्यकता नहीं होगी.

तबादले की अर्जी के लिए अपने स्कूल से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेने की जरुरत 
वर्तमान व्यवस्था में शिक्षकों को तबादले की अर्जी देने के लिए अपने स्कूल से अनापत्ति प्रमाणपत्र ( no objection certificate) लेने की जरुरत होती है. पोर्टल शुरू करते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि इससे आपसी सहमति से होने वाले तबादलों में आसानी होगी.

आपसी सहमति से तबादला
चटर्जी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘शिक्षक को इस पोर्टल के माध्यम से आपसी सहमति से तबादले की अर्जी देने से पहले अपने स्कूल से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेने की जरूरत नहीं होगी.’’



ये भी पढ़ें-
JEE एडवांस टॉपर चिराग फालोर ने क्यों चुना IIT की बजाय MIT, जानिए उनका जवाब
UGC ने 24 विश्वविद्यालयों को बताया फर्जी, यूपी और दिल्ली में है सबसे ज्यादा

गृह जिले या पड़ोस के जिले में तबादला पाने में आसानी
उन्होंने कहा कि सभी आवेदनों पर केन्द्रीयकृत तरीके से विचार किया जाएगा और इससे प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को अपने गृह जिले या पड़ोस के जिले में तबादला पाने में आसानी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज