लाइव टीवी

Beating Retreat 2020: जान‍िये, क्‍या है बीट‍िंग र‍िट्रीट, जो हर 29 जनवरी को मनाया जाता है

News18Hindi
Updated: January 30, 2020, 1:57 PM IST
Beating Retreat 2020: जान‍िये, क्‍या है बीट‍िंग र‍िट्रीट, जो हर 29 जनवरी को मनाया जाता है
बीट‍िंग र‍िट्रीट क्‍या है और इसका क्‍या महत्‍व है, जान‍िये.

Beating Retreat Significance 2020: गणतंत्र द‍िवस के तीन द‍िनों बाद इसका आयोजन होता है. इसका क्‍या महत्‍व है और इसे क्‍यों मनाया जाता है, जान‍िये.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2020, 1:57 PM IST
  • Share this:
Beating Retreat 2020: गणतंत्र द‍िवस का सेलीब्रेशन दरअसल एक द‍िन का नहीं, बल्‍क‍ि चार द‍िनों का होता है. गणतंत्र द‍िवस के आख‍िरी द‍िन बीट‍िंग द र‍िट्रीट का आयोजन क‍िया जाता है. इसके साथ ही आध‍िकार‍िक रूप से गणतंत्र दिवस के आयोजनों का आधिकारिक रूप से समापन होता है. हर वर्ष 29 जनवरी की शाम को बीटिंग द रिट्रीट का आयोजन किया जाता है.

Beating Retreat 2020: कैसे मनाया जाता है?
बीट‍िंग र‍िट्रीट सेरेमनी में तीनों सेवाएं शाम‍िल होती हैं. तीनों सेनाओं के बैंक एक साथ म‍िलकर मार्च धुन बजाते हैं और ड्रूमर्स कॉल का प्रदर्शन होता है. इस दौरान महात्मा गांधी की प्रिय धुन भी बजाई जाती है. इसके बाद रिट्रीट का बिगुल वादन होता है, जब बैंड मास्टर राष्ट्रपति के समीप जाते हैं और बैंड वापिस ले जाने की अनुमति मांगते हैं, तब सूचित किया जाता है की समापन समारोह पूरा हो गया है.

beating retreat, beating retreat significance, beating retreat importance, beating retreat meaning, what is beating retreat
देश में हर साल 29 जनवरी को मनाया जाता है बीट‍िंग द र‍िट्रीट


बैंड मार्च वापस जाते समय लोकप्रिय धुन सारे जहां से अच्छा बजाते है. ठीक शाम 6 बजे बगलर्स रिट्रीट की धुन बजाते है और राष्ट्रीय ध्वज को उतार लिया जाता है तथा राष्ट्रगान बजाया जाता है और इस प्रकार गणतंत्र दिवस के आयोजन का औपचारिक समापन होता है.

यह आवश्यक कार्यक्रम है क्योंकि भारतीय आर्मी का हर काम को करने का एक तरीका होता है. इसके माध्यम से सेनाएं राष्ट्रपति से आयोजन समाप्त करने की अनुमति लेती है, क्योंकि राष्ट्रपति भारत की तीनों सेनाओं का अध्यक्ष होता है. यह समारोह सैनिकों की उस पुरानी परंपरा की भी याद दिलाता है, जिसमें सैनिक दिन भर के युद्ध के बाद शाम के समय आराम करते थे, दरअसल यही वह समय होता था जब वे अपने कैंप में लौटते थे और ढलते सूरज के साथ शाम के समय जश्‍न मनाते थे इसके बाद वे फिर से युद्ध की तैयारी में जुट जाते थे.

beating retreat, beating retreat significance, beating retreat importance, beating retreat meaning, what is beating retreat
बीट‍िंंग र‍िट्रीट में तीनोंं सेनाएं शाम‍िल होती हैं.
कब और कैसे शुरू हुई ये परंपरा ?
बीटिंग रिट्रीट ब्रिटेन की बहुत पुरानी परंपरा है, इसका असली नाम ‘वॉच सेटिंग’ है और यह सूर्य डूबने के समय मनाया जाता है, भारत में बीटिंग द रिट्रीट सेरेमनी की शुरुआत सन 1950 से हुई और 1950 से अब तक भारत के गणतंत्र बनने के बाद बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम को दो बार रद्द करना पड़ा है, पहला 26 जनवरी 2001 को गुजरात में आए भूकंप के कारण और दूसरी बार ऐसा 27 जनवरी 2009 को देश के आठवें राष्ट्रपति वेंकटरमन का लंबी बीमारी के बाद निधन हो जाने पर किया गया.

यह भी पढ़ें: 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 1:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर