10वीं और 12वीं के बाद अपने लिए कैसे चुनें बेस्ट सब्जेक्ट या स्ट्रीम, जानने के लिए पढ़ें ये खबर

आइए जानते हैं कि राइट सब्जेक्ट और स्ट्रीम के चयन के लिए किन बातों का रखना चाहिए ध्यान...

News18Hindi
Updated: May 15, 2019, 9:49 AM IST
10वीं और 12वीं के बाद अपने लिए कैसे चुनें बेस्ट सब्जेक्ट या स्ट्रीम, जानने के लिए पढ़ें ये खबर
JEE Advanced Exam 2019
News18Hindi
Updated: May 15, 2019, 9:49 AM IST
छात्रों के लिए असली परीक्षा अब शुरू हुई है, क्योंकि लगभग देश के सभी बोर्ड्स 10वीं और 12वीं के नतीजे जारी कर चुके हैं. छात्रों के लिए ये समय कंफ्यूजन से भरा होता है. क्योंकि उन्हें इस टाइम पर फैसला करना होता है कि 10वीं और 12वीं के बाद आखिर कौन सा सब्जेक्ट या स्ट्रीम चुननी चाहिए. इस समय पर फैसला सोच समझकर लेना होता, क्योंकि यही फैसला छात्रों का फ्यूचर भी डिसाइड करता है. आइए जानते हैं कि राइट सब्जेक्ट और स्ट्रीम के चयन के लिए किन बातों का रखना चाहिए ध्यान...

अपनी सुनें

छात्र के बोर्ड परीक्षा पास करते ही उसके करीबी तय करने लग जाते हैं कि आखिर उसे क्या करना चाहिए. लेकिन उसके लिए बेस्ट क्या है और उसका मन किसमें लगेगा, ये बात परिवार के सदस्यों को पूरी तरह से समझ आए, इसकी कोई गारंटी नहीं. ऐसी स्थिति में छात्र को खुद से एनालाइज करना चाहिए कि वो आखिर क्या करना चाहता है. उसे अपनी स्ट्रेंड और वीकनेस को माइंड में रख कर ही फैसला लेना चाहिए. साथ ही बड़ों को भी अपनी मर्जी बच्चों पर नहीं थोपनी चाहिए.

एक्सपर्ट की राय लें

आप 10वीं और 12वीं के बाद जिस भी विषय में आगे पढ़ना चाहते हैं, उसे लेकर एक्सपर्ट्स और प्रोफेशनल्स से बात करें. आपने जो स्ट्रीम चुनी है उससे जुड़े प्रोफेशनल्स से आपको बात करनी चाहिए. जितना बेहतर आपको उस फील्ड का प्रोफेशनल समझा पाएगा शायद कोई और ही समझा पाए, क्योंकि प्रोफेशनल्स को फील्ड की वास्तिविकता का पता होता है.

कम नंबर आएं तो क्या करें

बहुत से छात्रों को चिंता होती है कि अगर बोर्ड एग्जाम में नंबर कम आए तो फिर वो क्या करेंगे. ये बात सही है कि रिजल्ट आपके सब्जेक्ट या स्ट्रीम सेलेक्शन पर असर डालता है. लेकिन इसका लॉन्ग टर्म इफेक्ट नहीं होता. ऐसी स्थिति में आपके पास एंट्रेंस एग्जाम का ऑप्शन होता है. आप एंट्रेंस एग्जाम के जरिए कोर्सेस और कॉलेजों में एडमिशन ले सकते हैं.
बहुत से ऑप्शंस की कंफ्यूजन करें दूर

अक्सर ऐसा होता है जब छात्र कंफ्यूज हो जाते हैं कि आखिर कौन सा कोर्स या सब्जेक्ट चुना जाए. इस स्थिति में छात्रों को बेशक लोगों से बातकर इन्फॉर्मेशन जुटानी चाहिए. लेकिन ये कंफ्यूजन सिर्फ इतने से ही दूर नहीं होगा. इसके लिए छात्रों को उन सब्जेक्ट्स के बारे में विस्तार से पढ़ना चाहिए, जिन्हें उन्होंने शॉर्टलिस्ट किया है. ऐसा करने से छात्रों को काफी मदद मिलेगी और साथ ही उनके लिए क्या बेस्ट है ये चुनने में आसानी भी होगी.

यह भी पढ़ें:  RBSE Class 12th Result 2019 Date: जानिये कब जारी होगा राजस्‍थान बोर्ड साइंस, कॉमर्स और आर्ट्स स्‍ट्रीम का रिजल्‍ट


Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...